ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेशलखीमपुरः पुलिस चौकी में किशोर की मौत के बाद बवाल, दारोगा समेत 3 निलंबित

लखीमपुरः पुलिस चौकी में किशोर की मौत के बाद बवाल, दारोगा समेत 3 निलंबित

सम्पूर्णानगर थाना क्षेत्र में एक थारू जनजाति के किशोर की मौत के मामले में परिजनों ने पुलिस पर गंभीर आरोप लगाए हैं। परिजनों का आरोप है कि मोबाइल चोरी के शक में पुलिस ने किशोर को चौकी में बांधकर...

लखीमपुरः पुलिस चौकी में किशोर की मौत के बाद बवाल, दारोगा समेत 3 निलंबित
Yogesh Yadavलखीमपुरखीरी संवाददाताSun, 23 Jan 2022 11:19 PM

सम्पूर्णानगर थाना क्षेत्र में एक थारू जनजाति के किशोर की मौत के मामले में परिजनों ने पुलिस पर गंभीर आरोप लगाए हैं। परिजनों का आरोप है कि मोबाइल चोरी के शक में पुलिस ने किशोर को चौकी में बांधकर बेदर्दी से पीटा। इससे उसकी हालत बिगड़ गई।

किशोर को पलिया के अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां उसकी मौत हो गई। परिजनों ने कार्रवाई की मांग को लेकर शव रोड पर रखकर जाम लगा दिया और दो सिपाही व चौकी इंचार्ज के खिलाफ पुलिस को तहरीर दी। एसपी ने चौकी इंचार्ज व दोनों सिपाहियों को सस्पेंड कर दिया है और पूरे मामले में जांच के आदेश दिए हैं।

संपूर्णानगर थाना क्षेत्र के कमलापुर पेड़िया फार्म के रहने वाले लच्छीराम के पुत्र 17 वर्षीय राहुल पर पड़ोस के एक रिश्तेदार ने मोबाइल चोरी का आरोप लगाया था। 19 जनवरी को उसने खजुरिया पुलिस चौकी में शिकायत की। परिजनों का आरोप है कि पुलिस वाले राहुल को पकड़ कर ले गए और वहीं उसकी पिटाई की। जब उसकी हालत खराब हो गई तो  छोड़ दिया।

हालत बिगड़ने पर उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां शनिवार रात उसकी मौत हो गई। राहुल की मौत के बाद परिजनों ने रविवार को हंगामा कर दिया। शव रखकर चक्का जाम कर दिया और पुलिस वालों पर कार्रवाई की मांग करने लगे। इस मामले में एसपी संजीव सुमन का कहना है कि एक शिकायत के बाद राहुल नाम का किशोर अपने परिजनों के साथ चौकी पर आया था।

उसी शाम दोनों पक्षों में समझौता हो गया तो राहुल को घर जाने दिया गया। गांव वापस जाकर दोनों पक्षों में दोबारा मारपीट हुई। इसमें राहुल को चोटें आईं। एसपी संजीव सुमन ने चौकी इंचार्ज विपिन कुमार सिंह और दो सिपाहियों को सस्पेंड कर दिया है। पूरे मामले में जांच के आदेश दिए हैं।

आरोपों में घिरी पुलिस, ग्रामीणों ने पांच घंटे किया चक्का जाम

खजुरिया पुलिस पर किशोर की जान लेने का आरोप लगाकर गांव वालों ने जमकर हंगामा काटा। संपूर्णानगर और खजुरिया को जाने वाला रास्ता बंद रखा। गांव वालों की मांग थी कि चौकी इंचार्ज व सिपाहियों पर मुकदमा लिखे। बाद में एएसपी के समझाने पर गांव वाले माने।

परिजनों ने बताया कि रामबहादुर ने अपने भतीजे राहुल पर मोबाइल चोरी का आरोप लगाते हुए 16 जनवरी को पुलिस चौकी खजुरिया में तहरीर दी थी। इसी को लेकर पुलिस राहुल को घर से ही पिटते हुए खजुरिया चौकी ले गई जहां बेरहमी से पिटाई की। हालत बिगड़ने पर परिजनों के हवाले किया। परिजन राहुल को उपचार के लिए पलिया ले गए जहां उसकी मौत हो गई।

रविवार की सुबह थाने के सामने रोड पर शव रखकर जाम लगा दिया और कार्रवाई की मांग करने लगे। परिजनों ने खजुरिया चौकी इंचार्ज विपिन कुमार सिंह और दो सिपाहियों के खिलाफ पुलिस को तहरीर दी।

सूचना पाकर एसपी संजीव सुमन, एएसपी अरुण कुमार सिंह और सीओ पलिया संजय नाथ तिवारी मौके पर पहुंच गए। विरोध प्रदर्शन को देखते हुए संपूर्णानगर एसओ अनिल कुमार सैनी ने अतिरिक्त पुलिस बल और पीएसी मौके पर बुला ली। पुलिस ने परिजनों को समझाया और उचित कार्रवाई का आश्वासन दिया। तब कहीं जाकर परिजन माने और पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा।  

एसपी का कहना है

एसपी संजीव सुमन ने बताया कि किशोर चौकी पर अपने परिजनों के साथ आया था। चौकी पर उसका चाचा से समझौता भी हो गया था। इसके बाद पुलिस ने उसको छोड़ दिया था। एसपी ने बताया कि परिजनों ने खुद पुलिस को बताया है कि समझौते के बाद एक रिश्तेदार  ने किशोर को पीटा था। जिससे उसको चोटें आई थी। उधर सीओ पलिया संजय नाथ तिवारी ने बताया कि रोड जाम करने से पहले परिजनों ने मृतक के चाचा समेत दो लोगों के खिलाफ पुलिस को तहरीर दी। उस तहरीर के आधार पर गैर इरादतन हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया गया है और विवेचना की जा रही है।

पुलिस पर कार्रवाई और मुआवजे पर माने परिजन

जांच कर दोषी सिपाहियों के खिलाफ कार्रवाई व मुआवजा दिलाए जाने की सहमति पर परिजनों ने शव सड़क से हटाया। सीओ संजय नाथ तिवारी ने बताया कि मृतक किशोर के पिता ने खजुरिया चौकी इंचार्ज सहित दो सिपाहियों के खिलाफ तहरीर देकर कार्रवाई की मांग की है। गरीब परिवार को पांच लाख का मुआवजा दिलाने का आश्वासन दिया गया है।

तीन बहनों और माता पिता का लाडला था राहुल

घटना में संदिग्ध परिस्थितियों में राहुल पुत्र लच्छीराम (17) की मौत से राहुल के माता पिता सहित तीनो बहनों का रो रो कर बुरा हाल है। पांच भाई बहन में राहुल लाडला है।  कुछ वर्ष पूर्व बड़े भाई की ट्रेन से कटकर मौत हो गई थी। राहुल ही एक सहारा था उसकी भी जान चली गई। मां व पिता बेसुध पड़ी हुई है, बहने दहाड़ मार कर रो रही है। तीन बहनों में दो विवाहित है एक अविवाहित है। परिजनों को रोता देख ग्रामीणों की भी आंखें नम हो गई। 

epaper