DA Image
24 मई, 2020|8:00|IST

अगली स्टोरी

अहमदाबाद से कुशीनगर पहुंचने के लिए 20 दिन से पैदल चल रहे मजदूर की गोरखपुर में मौत

अहमदाबाद से पैदल कुशीनगर आ रहे युवक की गोरखपुर के सदर अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गयी। परिवार के लोगों को यह सूचना मिली तो फूट-फूटकर रोने लगे।

कुशीनगर के जटहा बाजार थाना क्षेत्र के  कंठीछपरा गांव का रहने वाला रामेश्वर राजभर 20 दिन पहले अहमदाबाद से घर के लिए पैदल ही चला था। शुक्रवार की शाम वह गोरखपुर बाईपास पहुंचा था कि उसकी तबीयत बिगड़ गई। परिवारीजनों के अनुसार तबीयत बिगड़ने के बाद गोरखपुर पुलिस ने उसे सदर अस्पताल ले जाकर भर्ती कराया। जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। 

चेन्नई से आई ट्रेन में यात्री की मौत, कोच में पांच घंटे तक पड़ रहा शव
चेन्नई से चलकर शनिवार को गोरखपुर पहुंची श्रमिक स्पेशल में एक यात्री की मौत का मामला प्रकाश में आने के बाद हड़कंप मच गया। हैरानी की बात तो यह है कि शव पांच घंटे तक कोच में पड़ा रहा। सूचना पर पहुंची एनडीआरएफ की टीम ने कोच को सैनीटाइज कराया तब जाकर शव उतारा गया। यात्री की पहचान नहीं हो सकी। जीआरपी ने रात साढ़े आठ बजे शव को उतरवाकर मेडिकल कॉलेज भेज दिया गया, वहां नमूना लेकर कोरोना की जांच कराई जाएगी। जिस कोच में यात्री की मौत हुई उसमें 42 यात्री और सवार थे, सभी को क्वारंटीन सेंटर भेज दिया गया है।  

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:labor coming from ahmedabad to kushinagar travelling on feet from last 20 days died in gorakhpur