DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कुम्भ मेला 2019: पहले शाही स्नान के लिए सुरक्षा का अभेद्य चक्र

Security beefed up before the first shahi snan in kumbha 2019

कुम्भ (Kumbha) के पहले स्नान पर्व के लिए सुरक्षा के सख्त इंतजाम किए गए हैं। रविवार शाम कुम्भ मेलाक्षेत्र के प्रमुख प्रवेशद्वारों पर बैरियर लगाकर गहन चेकिंग की गई और वाहनों के प्रवेश पर पाबंदी लगा दी गई। एडीजी और आईजी ने कुम्भ पुलिस को ब्रीफ कर सुरक्षा इंतजाम को लेकर गोपनीय निर्देश दिए। बैठक में पुलिस के अलावा पैरामिलिट्री व सेना के अधिकारी भी मौजूद रहे। यातायात प्रबंधन पर पुलिस व पैरामिलिट्री फोर्स को बताया गया कि श्रद्धालुओं के साथ एक गाइड की तरह पेश आना है। .

एडीजी एसएन साबत, आईजी मोहित अग्रवाल और डीआईजी कुम्भ केपी सिंह ने रविवार को कुम्भ पुलिस, बीएसएफ, आरएफ, सीआईएसएफ, एसएसबी, एनडीआरएफ, सिविल पुलिस, पीएसी और होमगार्ड के अधिकारियों के साथ बैठक की और सुरक्षा इंतजाम व यातायात प्रबंधन पर गहन चर्चा की गई। इसके बाद मेला क्षेत्र में ऑपरेशन आल आउट चलाया गया। जिसमें पुलिस, खोजी कुत्ते और बीडीएस की मदद से पूरे क्षेत्र में गहन चेकिंग की गई। संगम नोज पर रात में भी गहन चेकिंग हुई। कुम्भ क्षेत्र के बाहर, बैरहना, जीटी जवाहर चौराहा, दारागंज बक्शीबांध, झूंसी, अरैल, फाफामऊ में बैरिकेडिंग लगाकर चेकिंग की गई। रात में प्रयागराज की सीमाओं पर भी अलर्ट कर दिया गया। एडीजी जोन एसएन साबत ने बताया कि सुरक्षा के मद्देनजर रविवार को भी सेना, पैरामिलिट्री और पुलिस ने मॉक ड्रिल की। आपातकालीन प्रबंधन को लेकर भी टीम सक्रिय रही। ब्लैक कमांडों ने पूरे क्षेत्र में अपनी उपस्थिति दिखाई। आपातकालीन स्थिति के लिए पुलिस व सेना की क्यूआरटी टीमें बनाई गई हैं। 

कुंभ 2019: मकर संक्रांति पर प्रयागराज के 40 घाटों पर लगेगी डुबकी

एमडीआरएफ के डीजी ने की समीक्षा
एनडीआरएफ के डीजी रवि जोसफ लुक्कू रविवार को प्रयागराज पहुंचे। उन्होंने एनडीआरएफ की टीम से मिले और उनकी तैयारियों की समीक्षा की। पहले शाही स्नान के दौरान जिन जिन घाटों पर एनडीआरएफ की टीमें लगाई गई उनके बारे में जानकारी ली। जल मार्ग से लेकर आपातप्रबंधन में एनडीआरएफ की कुल 12 टीमें लगी है। 

एडीजी पीएसी ने संभाली कमान
कुम्भ में पीएसी की अहम भूमिका है। रविवार को पीएसी के एडीजी बीके सिंह भी पहुंचे और यातायात प्रबंधन से लेकर सुरक्षा इंतजाम को लेकर पुलिस अधिकारियों के साथ बैठक की। कुम्भ में ड्यूटी पर आए पीएसी के अधिकारियों से भी मिले। इसके बाद उन्होंने कुम्भ क्षेत्र में बने पीएसी कैंप का निरीक्षण किया और पुलिसकर्मियों के रहने व खाने पीने का इंतजाम देखा। उन्होंने ड्यूटी पर आए पीएसी के जवानों से कहा कि कुम्भ में श्रद्धालुओं से विन्रम व्यवहार करना है। इसके साथ ही संदिग्धों पर उनकी पैनी नजर होनी चाहिए। .

Kumbh mela 2019: संगम में आए हाईटेक बाबा,सोशल मीडिया पर भी हैं एक्टिव

सुरक्षा एक नजर में

पुलिसकर्मी    20 हजार.

पैरामिलिट्री    40 कंपनी.

पीएसी           20 कंपनी.

एनडीआरएफ    10 कंपनी.

एसडीआरएफ    एक कंपनी.

एसटीएफ         एक यूनिट.

एटीएस           एक यूनिट.

एनएसजी        एक स्पेशल टीम.

बीडीएस            5 टीम.

खोजी कुत्ता       15 टीम.

पहला शाही स्नान मंगलवार को है। श्रद्धालुओं की सुरक्षा व अपने दायित्वों के निर्वहन के लिए रविवार को मेला पुलिस के जवानों ने शपथ ली। मेला सकुशल कराने की प्रतिज्ञा भी की। 40 थानों के थानेदार, 58 पुलिस चौकियों के प्रभारी, पैरामिलिट्री फोर्स, जल पुलिस के जवान, क्राइम ब्रांच समेत हजारों जवान संगम की रेती पर पहुंचे। सभी ने हाथ में रेत उठाकर श्रद्धालुओं की सुरक्षा का संरक्षा की संकल्प भी लिया।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Kumbh Mela 2019 Security beefed up in pyagraj before the first shahi snan