DA Image
30 मई, 2020|8:08|IST

अगली स्टोरी

पड़ोसी से शादी करने के लिए बच्चे को मार डाला, पुलिस ने कुछ ऐसे किया खुलासा 

लखनऊ के ठाकुरगंज में बिजली मिस्त्री ने 11 साल के बच्चे को घुमाने के बहाने अगवा किया और करीब एक किमी. दूर निर्माणाधीन मकान में ले जाकर बेरहमी से मार डाला, और शव को छुपा दिया। वह बच्चे की मां के साथ पांच दिन तक उसे ढूंढने का नाटक भी करता रहा। सीसीटीवी फुटेज से उसकी करतूत खुल गई। पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी का कहना था कि वह बच्चे की मां से शादी करना चाहता था, इसीलिए उसे रास्ते से हटा दिया।

ठाकुरगंज के मुफ्तीगंज में नजमा अपने इकलौते बेटे अयान के साथ रहती थी। उसके पति मो. वकील की वर्ष 2016 में बीमारी से मौत हो गई थी। 15 मई को अयान घर से चंद कदम पर टयूशन पढ़ने के लिये निकला था। इसके बाद वह नहीं लौटा। पूरा मोहल्ला उसे ढूंढता रहा लेकिन अयान का कुछ पता नहीं चला। इसके बाद मां ने ठाकुरगंज थाने में सूचना दी। पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर अयान की तलाश शुरू कर दी। रिश्तेदारों से पूछताछ की गई। कई परिचितों की कॉल डिटेल भी निकाली गई। पर, कुछ पता नहीं चल रहा था।

सीसी फुटेज से पड़ोसी पर शक गया
एडीसीपी पश्चिमी विकास चन्द्र त्रिपाठी के मुताबिक 15 मई को ही घर के बगल में एक मकान के कैमरे की फुटेज में अयान बैग लेकर टयूशन पढ़ने जाते दिखा था। वह अकेले था। लिहाजा किसी पर शक नहीं गया। अयान की मां ने किसी से रंजिश की बात से इनकार किया था। पड़ोस में रहने वाला बिजली मिस्त्री शफीकुर्रहमान अक्सर नजमा के घर आता जाता था। वह गायब होने के समय से लगातार अयान को ढूंढने में साथ दे रहा था। इसलिये उस पर किसी का शक नहीं गया। 
20 मई की दोपहर पुलिस को नजमा के घर से करीब एक किमी. दूर एक मेडिकल स्टोर व घर पर लगे सीसी कैमरे की फुटेज में अयान और शफीकुर्रहमान उर्फ रिंकू साथ-साथ दिखे। इससे पुलिस को शक हो गया। क्योंकि उसने किसी को यह नहीं बताया था कि 15 मई की शाम को अयान उसके साथ था। पुलिस ने बुधवार रात में उसे हिरासत में लिया। उसकी निशानदेही पर गुरुवार को पुलिस ने शव भी बरामद कर लिया। 

मां से शादी करने के लिये बच्चे को मार डाला
एडीसीपी विकास चन्द्र त्रिपाठी और एसीपी चौक दुर्गा प्रसाद तिवारी ने आरोपी से कई सवाल किये। पहले तो वह गोलमोल जवाब देता रहा। जब पुलिस ने उसे फुटेज दिखायी और उसके मोबाइल की लोकेशन भी सामने रख दी तो वह टूट गया। आरोपी ने बताया कि अयान के पिता की मौत के बाद से वह अक्सर उसके घर जाने लगा था। नजमा से उसकी अच्छी मित्रता हो गई थी। मन ही मन वह उससे शादी करने के सपने देखने लगा। परंतु, कई बार नाजमा की बातों से उसे लगा कि अयान की वजह से वह शादी नहीं करेगी। इसलिये उसने सोचा कि अयान को रास्ते से हटा दूंगा तो नाजमा उससे निकाह कर लेगी। आरोपी ने पुलिस को बताया कि पहले उसने अयान का सिर दीवार से लड़ाया, उसके बाद गला दबा दिया। इसके बाद शव को छुपा दिया।

दुष्कर्म से इनकार
कई लोगों ने बच्चे से दुष्कर्म किये जाने का भी आरोप लगाया। हालांकि पुलिस इससे इंकार कर रही है। एडीसीपी विकास चन्द्र त्रिपाठी ने बताया कि बच्चे की पोस्टमार्टम रिपोर्ट की प्रतीक्षा है। अभी तक की पड़ताल में घटना में सफीकुर्रहमान के अकेले ही शामिल होने की बात सामने आयी है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Kidnapped 11-year-old child killed him for marry his mother neighbor police solve case disclosed something like this CCTV Lucknow