ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशकौशांबीः पहले नाबालिग से रेप, जमानत पर बाहर आते ही किशोरी को कुल्हाड़ी से काट डाला

कौशांबीः पहले नाबालिग से रेप, जमानत पर बाहर आते ही किशोरी को कुल्हाड़ी से काट डाला

कौशांबी में एक युवक ने किशोरी से रेप किया। केस दर्ज होने पर पुलिस ने जेल भेज दिया। जमानत पर छूटे आरोपी ने अब किशोरी को कुल्हाड़ी से काटकर हत्या कर दी है। सरेआम गांव के रास्ते पर हत्या से सनसनी है।

कौशांबीः पहले नाबालिग से रेप, जमानत पर बाहर आते ही किशोरी को कुल्हाड़ी से काट डाला
Yogesh Yadavलाइव हिन्दुस्तान,मंझनपुर (कौशांबी)Tue, 21 Nov 2023 05:38 PM
ऐप पर पढ़ें

कौशांबी के महेवा घाट थाना क्षेत्र के एक गांव में सोमवार की शाम दुष्कर्म के आरोपी ने भाई और अन्य साथियों के साथ मिलकर रेप पीड़िता की कुल्हाड़ी से काटकर निर्मम हत्या कर दी। किशोरी की हत्या से गांव में सनसनी फैल गई। आरोपी कुछ दिन पूर्व ही जमानत पर रिहा हुआ था। घटना से पीड़ित परिजनों और गांव वालों में जबरदस्त आक्रोश है। घटना की सूचना पर एसपी बृजेश कुमार श्रीवास्तव गांव पहुंचे। एसपी ने बताया आरोपियों की धरपकड़ के लिए पुलिस की कई टीमें लगाई गई हैं।

महेवा घाट थाना क्षेत्र के एक गांव की किशोरी के साथ गांव के ही युवक ने रेप किया था। किशोरी की तहरीर पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर आरोपी को जेल भेज दिया था। आरोपी पक्ष मामले में सुलह-समझौते के लिए लगातार पीड़िता के परिजनों पर दबाव बना रहे थे। परिजनों को जान से मारने की धमकी देने के साथ ही अन्य तरीके से भी प्रताड़ित किया जा रहा था। पीड़ित पक्ष लगातार इसकी शिकायत पुलिस से कर रहा था।

बावजूद महेवाघाट थाना पुलिस ने प्रकरण को लेकर गंभीरता नहीं दिखाई। इसी का नतीजा रहा कि कुछ दिन पूर्व ही जमानत पर रिहा आरोपी ने सोमवार को अपने भाई व साथियों के साथ शाम करीब साढ़े पांच बजे गांव के बाहर रास्ते पर पीड़िता को घेर लिया। जिस वक्त यह घटना हुई, पीड़िता खेत से घर लौट रही थी।
बताया जा रहा है कि आरोपी ने कुल्हाड़ी लेकर उसे दौड़ाया तो वह शोर मचाते हुए भागी लेकिन साथ के लोगों ने उसको घेरकर पकड़ लिया। इसके बाद आरोपी ने कुल्हाड़ी से प्रहार कर किशोरी की हत्या कर दी।

इस खौफनाक वारदात से गांव में सनसनी फैल गई। आरोपी पक्ष खुलेआम ग्रामीणों को धमकाते हुए भाग निकले। सूचना के बाद महेवाघाट थाना पुलिस मौके पर पहुंची। इसके कुछ देर बात ही सीओ मंझनपुर अभिषेक सिंह, एसपी बृजेश कुमार श्रीवास्तव मौके पर पहुंच गए। पुलिस की कई टीमें आरोपियों की तलाश में जगह-जगह दबिश दे रही हैं। परिजनों से बातचीत के बाद शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया।

एसपी बृजेश कुमार श्रीवास्तव ने कहा कि दुष्कर्म पीड़िता की हत्या की गई है। मामले की जांच के दौरान पता चला है कि दुष्कर्म के आरोपी के भाई ने घटना को अंजाम दिया है। जमानत पर छूटे आरोपी पर भी परिजन हत्या का इल्जाम लगा रहे हैं। प्रकरण की जांच की जा रही है। पुलिस आरोपियों की तलाश कर रही है।

पूरी प्लानिंग के साथ हत्या, जेल से आरोपी के आने का इंतजार कर था भाई

किशोरी की हत्या पूरी प्लानिग के तहत की गई। दुष्कर्म केस के आरोपी और उसके भाई ने सुनियोजित तरीके से बदला लिया। साथ ही खुलेआम धमकी दी की शिकायत पर अंजाम इससे भी भयानक होगा। किशोरी के साथ गांव के युवक ने रेप किया था। रेप पीड़िता ने केस दर्ज कराया। जांच के बाद महेवाघाट थाना पुलिस ने आरोपी को जेल भेज दिया था। आरोपी के जेल जाने से उसका भाई बहुत नाराज था। पहले तो भाई ने आरोपी को बचाने के लिए पीड़ित परिजनों पर समझौता करने के लिए दबाव बनाना शुरू किया। बात नही बनी तो परिजनों को धमकी देना शुरू कर दिया। 

इससे अजीज परिजनों ने महेवाघाट थाना पुलिस से शिकायत भी की थी। इसके बाद भी पुलिस ने आरोपी के भाई व अन्य मददगार पर शिकंजा नही कसा। जिसका परिणाम रहा कि आरोपी के भाई का मनोबल बढ़ गया था। यही कारण है की आरोपी के भाई ने हत्या करने की रणनीति तय कर ली। उसे सिर्फ इंतजार था कि भाई के जेल से आने का। भाई जैसे ही जेल से बाहर आया। वह पीड़िता के पीछे पड़ गया।

सोमवार को मौका मिला तो भाई के साथ व अन्य लोगों की मदद से रेप केस पीड़िता की कुल्हाड़ी से ताबड़तोड़ प्रहार कर हत्या कर दी। वह भी सरेआम और सबके सामने। गांव के रास्ते में लाश बिछाकर आरोपी धमकी देते हुए भाग गए। ये हत्या नही बल्कि पुलिस के मुंह पर तमाचा था। जानकारी पर पुलिस पहुंची।

लाश को पोस्टमार्टम के भेजा। घटना से परिजनों में हाहाकार मचा हुआ है। पीड़ित परिजन आरोपी और उसके भाई समेत अन्य लोगों पर गंभीर आरोप लगाए हैं। एसपी बृजेश कुमार श्रीवास्तव मौके पर पहुंचे। जांच के बाद प्रभारी एसओ रजनीकांत राजपूत से पूछताछ की। एसपी के निर्देश पर आरोपियों की धरपकड़ के लिए दबिश देना शुरू कर दिया है।

शिकायत के बाद भी पुलिस ने नहीं दी सुरक्षा
किशोरी की हत्या से पुलिस महकमे के बुनियाद हिल गई है। इसकी सबसे बड़ी वजह ये थी की मृतका रेप केस का शिकार थी। जिसकी सुरक्षा एवं सुरक्षा की जिम्मेदारी पुलिस के हिस्से में थी। जिसको बचाने की जिम्मेदारी थी उसी की हत्या आरोपी पक्ष ने कर दी और लोग तमाशा देखते रह गए। ये पुलिस के लिए शर्मनाक स्थिति है।

गर्दन बचाने के लिए बना दी नई कहानी
महेवाघाट थाना पुलिस दुष्कर्म केस पीड़िता की हत्या होने के बाद सिर्फ अपनी गर्दन बचाती दिखी। घटना होने के तुरंत बाद एसपी को बता दिया की दोनो पक्ष में कहासुनी हुई। इसके बाद मारपीट हुई। सवाल ये है की यदि मारपीट ही हुई थी तो किशोरी की ही लाश वहां अकेले कैसे थी, घायल वहा से कैसे गायब थे। किशोरी की खून से सराबोर लाश को आखिर क्यों लोग छोड़कर भाग गए थे। इन सब सवाल का जवाब एसओ के पास नहीं है।