DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  अयोध्या मॉडल की तर्ज पर हाईटेक होगी काशी, गांव भी होंगे शहर जैसे

उत्तर प्रदेशअयोध्या मॉडल की तर्ज पर हाईटेक होगी काशी, गांव भी होंगे शहर जैसे

हिन्दुस्तान टीम,वाराणसीPublished By: Deep Pandey
Tue, 01 Jun 2021 07:33 AM
अयोध्या मॉडल की तर्ज पर हाईटेक होगी काशी, गांव भी होंगे शहर जैसे

अयोध्या के सिटी विजन प्लान (अयोध्या मॉडल) की तर्ज पर काशी की भी तस्वीर बदलने की तैयारी शुरू हो गई है। वीडीए को राष्ट्रीय स्तर की कंसल्टेंट की मदद से सन-2051 तक की जरूरतों के हिसाब से विकास का खाका खींचने की जिम्मेदारी मिली है। 10 सेक्टरों में विकास की कार्ययोजना मुख्यत: तीन बिंदुओं पर केन्द्रित होगी-ढांचागत विकास, शहरी नियोजन और तीसरा शहर की मौलिक पहचान, परंपरा-संस्कृति का संरक्षण। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की घोषणा के अनुरूप बनारस समेत सूबे के 13 शहरों में सिटी विजन प्लान बनने जा रहा है। 

काशी में बुनियादी सुविधाओं से लेकर इंफ्रास्ट्रक्चर तक और नगरीय ट्रांसपोर्ट या आवासीय सुविधाएं सहित 10 सेक्टर के विकास के लिए सिटी डेवलपमेंट विजन प्लान तैयार होगा। मुख्यमंत्री की घोषणा के बाद सूबे के वाराणसी सहित 13 शहरों में अयोध्या मॉडल कार्ययोजना बनाने का काम शुरू होने जा रहा है। अधिकारियों ने बताया कि सिटी विजन प्लान तीन कार्यों पर आधारित होगी। पहला आधारभूत व ढांचागत विकास, दूसरा शहरी नियोजन और तीसरा शहर की मौलिक पहचान, परम्परा और संस्कृतियों को बनाए रखने के लिए होंगे। 

वाराणसी दौरे पर आए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बीती फरवरी में शहर की बुनियादी सुविधाओं, यातायात सहित अन्य आवश्यकताओं के लिए अयोध्या विकास प्राधिकरण के सिटी विजन प्लान की तर्ज पर कार्ययोजना तैयार करने का निर्देश दिया था। कोरोना की दूसरी लहर के चलते प्रोजेक्ट ठंडे बस्ते में चला गया था। अब मंडलायुक्त दीपक अग्रवाल ने पहल करते हुए वीडीए को प्लान तैयार करने के लिए कंसल्टेंट चयन का निर्देश दिया है। वीडीए कंसल्टेंट चयन के लिए जल्द ही आरएफपी जारी करेगा। 

सभी विभागों का होगा कन्वर्जेंस 
सिटी विजन प्लान के 10 सेक्टरों में सम्बंधित विभागों के फंड का कन्वर्जेंस होगा। विभागों से सम्बंधित कार्ययोजना कंस्लटेंट कम्पनी तैयारी करेगी। काम कराने की जिम्मेदारी विभाग और कम्पनी दोनों की होगी। कमिश्नर ने बताया कि नये विजन प्लान में नगर निगम में शामिल नए गांवों और अर्द्ध शहरी क्षेत्र में विकास पर ज्यादा फोकस किया जाएगा। 

ये हैं 10 सेक्टर 
पर्यटन, पेयजल आपूर्ति, सीवरेज, वाटर हार्वेस्टिंग, आपदा प्रबंधन, अर्बन मोबिलिटी व ट्रांसपोर्ट, ग्रीन फील्ड टाउनशिप, रोड इंम्प्रूवमेंट व पार्किंग, कूड़ा निस्तारण और सौर ऊर्जा उत्पादन।

इन शहरों का बनेगा विजन प्लान 
वाराणसी, लखनऊ, कानपुर, गोरखपुर, प्रयागराज, झांसी, मेरठ, सहारनपुर, आगरा, मथुरा, बरेली, मुरादाबाद और चित्रकूट। 

स्मार्ट सिटी के बचे कार्य भी होंगे 
केंद्र सरकार की महत्वाकांक्षी परियोजना ‘स्मार्ट सिटी’ के तहत 13 शहरों को हाईटेक किया जा रहा है। 2021 तक ज्यादातर शहरों में परियोजना के निर्धारित काम की अवधि पूरी हो रही है। सिटी विजन प्लान में स्मार्ट सिटी के बचे कार्य भी कराए जाएंगे।
 
सिटी डेवलपमेंट विजन प्लान में बुनियादी सुविधाएं, आधारभूत व ढांचागत विकास के साथ ही अन्य आवश्यकताओं की एक कम्प्रीहेंसिव कार्ययोजना तैयार होगी। कंसल्टेंट कम्पनी के चयन की प्रक्रिया शुरू हो गयी है।
-दीपक अग्रवाल, मंडलायुक्त 

 

संबंधित खबरें