ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशकाशी विश्वनाथ मंदिर के सीईओ सुनील वर्मा हटाए गए, बाबा को चढ़ाया बेलपत्र बेचना पड़ गया भारी?

काशी विश्वनाथ मंदिर के सीईओ सुनील वर्मा हटाए गए, बाबा को चढ़ाया बेलपत्र बेचना पड़ गया भारी?

वाराणसी में काशी विश्वनाथ मंदिर के सीईओ सुनीव वर्मा को हटा दिया गया है। उन्हें वाराणसी में ही अपर आयुक्त प्रशासन के पद पर भेजा गया है। उनको अचानक हटाने को बेलपत्र बिक्री से जोड़ा जा रहा है।

काशी विश्वनाथ मंदिर के सीईओ सुनील वर्मा हटाए गए, बाबा को चढ़ाया बेलपत्र बेचना पड़ गया भारी?
Yogesh Yadavलाइव हिन्दुस्तान,वाराणसीWed, 31 Jan 2024 05:55 PM
ऐप पर पढ़ें

श्रीकाशी विश्वनाथ मंदिर और विशिष्ट क्षेत्र विकास परिषद के मुख्य कार्यपालक अधिकारी (सीईओ) डॉ. सुनील कुमार वर्मा को हटा दिया गया है। उन्हें वाराणसी में ही अपर आयुक्त प्रशासन के पद पर भेजा गया है। सुनील वर्मा के स्थान पर अपर आयुक्त प्रशासन विश्व भूषण मिश्र को काशी विश्वनाथ मंदिर के सीईओ की जिम्मेदारी दी गई है। सुनील वर्मा को अचानक हटाने का कोई कारण तो सामने नहीं आया है लेकिन बाबा का चढ़ाया गया बेलपत्र बेचने के मामले को इससे जोड़ा जा रहा है।

कुछ दिनों पहले काशी विश्वनाथ मंदिर के अंदर ही बाबा को चढ़ाया गया बेलपत्र पांच-पांच रुपए में बेचने का मामला पकड़ा गया था। इस बारे में काशी विश्वनाथ न्यास के अध्यक्ष तक को जानकारी नहीं थी। उन्होंने इसके लिए मंदिर प्रबंधन के अधिकारियों पर निशाना साधा और नाराजगी जताई थी। यहां तक कहा था कि मंदिर के अधिकारियों ने इस बारे में उन्हें कोई जानकारी नहीं दी। बाबा विश्वनाथ के भक्तों में भी इसे लेकर आक्रोश देखा गया था। 

मंदिर के अंदर स्थित दुकानों के साथ ही हेल्प डेस्क के पास भी बेलपत्र बेचा जा रहा था। इसे लेकर बकायदा लिफाफा भी छपवाया गया था। मंदिर के अंदर भी जगह-जगह इसे लेकर स्टैंडी और होर्डिंग लगाई गई थी। जब इसे लेकर विरोध बढ़ा तो सीईओ सुनील वर्मा भी बैकफुट पर आ गए थे।

मीडिया के सवालों पर पहले इसे सही साबित करने की कोशिश की लेकिन दो दिन बाद ही बिक्री बंद करवा दी गई। बेलपत्र बेचने पर काशी विश्वनाथ मंदिर न्यास के अध्यक्ष प्रोफेसर नागेंद्र पांडेय ने गहरी नाराजगी जताई थी। कहा कि मंदिर की आय बढ़ाने या कोई चीज बेचने पर उनसे सलाह तक नहीं ली गई। माना जा रहा है कि उनकी यह नाराजगी लखनऊ तक पहुंची थी। 

सीईओ से पहले सिटी मजिस्ट्रेट के पद पर रहे तैनात
वर्ष 2011 बैच के पीसीएस अधिकारी सुनील वर्मा की काशी विश्वनाथ मंदिर में सीईओ के पद पर तैनाती तीन सितंबर 2020 को हुई थी। सुनील वर्मा इससे पहले भी वाराणसी में सिटी मजिस्ट्रेट के पद पर तैनात रहे हैं। विश्वनाथ मंदिर के सीईओ के पद पर आने से पहले मुख्य राजस्व अधिकारी के पद पर जौनपुर में तैनात थे।

वाराणसी से उनका तबादला पहले गाजीपुर में सीआरओ पद पर हुआ था लेकिन वहां ज्वाइन करने से पहले ही आदेश को निरस्त कर जौनपुर का सीआरओ व उप जिलाधिकारी भू-राजस्व बनाया गया था। डा. सुनील ने इतिहास से शोध किया और डाक्टरेट की डिग्री प्राप्त की।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें