DA Image
30 जुलाई, 2020|11:48|IST

अगली स्टोरी

कानपुर शूटआउट : विकास दुबे गिरफ्तार, पुलिस एनकाउंटर में पांच साथी ढेर, जाने अब तक कौन-कौन मारा गया

उत्तर प्रदेश के कानपुर में तीन जुलाई को मारे गए 8 पुलिसवालों का मुख्य हत्यारोपी विकास दुबे का साम्राज्य एक-एक कर ढहता जा रहा है। गुरुवार विकास दुबे के दो और करीबी साथी प्रभात मिश्रा व प्रवीण उर्फ बउवा दुबे गुरुवार सुबह पुलिस मुठभेड़ में मारे गए। वहीं, पुलिस ने विकास दुबे को मध्य प्रदेश के उज्जैन से गिरफ्तार कर लिया है।

फरीदाबाद में गिरफ्तार हुए विकास दुबे के करीबी प्रभात को पुलिस कानपुर ला रही थी तभी बीच रास्ते में प्रभात ने पुलिस की पिस्टल छीनकर भागने की कोशिश की। पुलिस ने भी गोली चलाई तो प्रभात घायल हो गया, अस्पताल में डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। वहीं, विकास का दूसरा साथी प्रवीण उर्फ बउवा इटावा में मारा गया। अबतक विकास दुबे के पांच करीबी साथी पुलिस मुठभेड़ में मारे जा चुके हैं जबकि दो अन्य साथी दयाशंकर कल्लू और श्यामू वाजपेयी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस मुठभेड़ में मारे गए साथियों के नाम हैं- प्रेम प्रकाश (विकास दुबे का मामा), अतुल दुबे (विकास दुबे का भतीजा), अमर दुबे (विकास दुबे का राइड हैंड), प्रभात और प्रवीण उर्फ बउवा।

विकास दुबे का मामा प्रेम प्रकाश पांडेय और अतुल दुबे कानपुर एनकाउंटर के कुछ देर बाद मारे गए
कानपुर एनकाउंटर के बाद घटनास्थल पर पहुंची पुलिस की बिकरू गांव जंगलों में विकास दुबे के गैंग से मुठभेड़ हो गई। मुठभेड़ में पुलिस ने विकास दुबे के मामा प्रेम प्रकाश पांडेय और साथ अतुल दुबे को मार गिराया था। इस मुठभेड़ में तीन पुलिसकर्मी भी घायल हुए थे। कानपुर के आईजी मोहित अग्रवाल ने बताया था कि मुठभेड में ढेर हुए बदमाशों के पास से पुलिस से लूटी गई पिस्टल बरामद की गई, जिससे साफ होता है कि ये बदमाश कानपुर एनकाउंटर के दौरान उपस्थित थे।

हमीरपुर में मारा गया विकास दुबे का खास आदमी अमर दुबे
बुधवार की तड़के सुबह यूपी के हमीरपुर में यूपी एसटीएफ व हमीरपुर पुलिस ने मुठभेड़ में विकाश दुबे का राइड हैंड कहे जाने वाला व सबसे खास आदमी अमर दुबे को मार गिराया गया। इस मुठभेड़ में मौदहा इंस्पेक्टर मनोजशुक्ल व एसटीएफ सिपाही घायल हुए है जिन्हें सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। अमर विकास के शूटरों में सबसे भरोसेमंद माना जाता था। हमेशा राइफल लेकर विकास के साथ रहता था। बता दें कि अमर दुबे की नौ दिन पहले ही शादी हुई थी।

पुलिस कस्टडी से भाग रहा था प्रभात मिश्रा
कानपुर पुलिस टीम फरीदाबाद में गिरफ्तार विकास दुबे के खास प्रभात मिश्रा को ट्रांजिट रिमांड पर लेकर कानपुर आ रही थी तभी बीच रास्ते में प्रभात ने पुलिस की पिस्टल छीनकर भागने की कोशिश की, इसी दौरान उसने पुलिस पर फायरिंग भी कर दी। पुलिस ने भी गोली चलाई तो प्रभात घायल हो गया, अस्पताल में डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

इटावा में मारा गया प्रवीण उर्फ बउवा
विकास दुबे का एक और करीबी प्रवीण उर्फ बउवा भी इटावा में पुलिस मुठभेड़ के दौरान मारा गया। 
पुलिस अफसरों के मुताबिक बिकरू गांव निवासी प्रवीण उर्फ बउवा ने देर रात महेवा के पास हाईवे पर स्विफ्ट डिजायर कार को लूटा था। उसके साथ तीन और बदमाश थे। पुलिस को लूट की जैसे ही खबर मिली चारों को सिविल लाइन थाने के काचुरा रोड पर घेर लिया। पुलिस और बउवा के बीच फायरिंग शुरू हो गई। इस फायरिंग के दौरान बउवा को ढेर कर दिया गया। हालांकि उसके तीन साथी भागने में कामयाब रहे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Kanpur Shootout : five gang member of Vikas Dubey killed in police encounter so far Prabhat Mishra Bouwa Dubey Prem Prakash Pandey Atul Dubey Amar Dubey dead