ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशगश खाकर गिरे सिपाही का वीडियो क्यों बना रहा था दरोगा? कानपुर पुलिस ने दिया जवाब

गश खाकर गिरे सिपाही का वीडियो क्यों बना रहा था दरोगा? कानपुर पुलिस ने दिया जवाब

कानपुर में गश खाकर गिरे सिपाही का जिस दरोगा ने वीडियो बनाया था उसे अब इस मामले में क्लीन क्लीन चीट दे दी गई है। अधिकारियों ने बताया है कि दरोगा, वीडियो नहीं बल्कि सिपाही की पीएनओ की तस्वीर ले रहा था।

गश खाकर गिरे सिपाही का वीडियो क्यों बना रहा था दरोगा? कानपुर पुलिस ने दिया जवाब
Pawan Kumar Sharmaहिन्दुस्तान,कानपुरThu, 20 Jun 2024 05:16 PM
ऐप पर पढ़ें

यूपी के कानपुर में दरोगा को हेड कांस्टेबल की मौत का वीडियो बनाने का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद मामला तुल पकड़ लिया। अब इस पर आला अधिकारियों ने सफाई देते हुए खुलासा किया है। अफसरों ने बताया कि दरोगा ने हेड कांस्टेबल का वीडियो नहीं बनाया था बल्कि उनके पीएनओ (नियुक्ति के समय मिलने वाला 9 डिजिट का नंबर) की तस्वीर उसके पहचान के लिए ली थी। किसी ने दरोगा की वीडियो बनाकर गलत ढंग से सोशल मीडिया पर प्रसारित कर दिया। वहीं, अधिकारियों ने दरोगा को इस मामले में क्लीन चिट दे दी गई है। 

इस मामले में डीसीपी ईस्ट श्रवण कुमार सिंह ने खुद दरोगा जगत प्रताप सिंह से पूछताछ की। डीसीपी ने मुताबिक कि हेड कांस्टेबल तीन दिन के लिए अपने घर जाने निकले थे। घंटाघर में उनकी हालत बिगड़ी जिस पर दरोगा भी मौके पर पहुंचे। हेड कांस्टेबल यहीं के हैं या कहीं बाहर जिले के, इसके लिए दरोगा उनकी वर्दी पर लगी नेमप्लेट और पीएनओ नंबर की फोटो खींच रहे थे। यहां तक कि हेड कांस्टेबल को बचाने के लिए दरोगा ने उनकी छाती पर भी मारा ताकी सांस आ जाए।

मौके पर नहीं पहुंची एंबुलेंस

दरोगा ने हेड कांस्टेबल को अस्पताल पहुंचाने के लिए 108 एम्बुलेंस को फोन किया लेकिन  एम्बुलेंस समय पर नहीं आई। जिसके बाद दरोगा खुद टेंपो में बैठाकर सिपाही को अस्पताल ले गए और लेकिन ड्रिप चढ़ाने के कुछ ही देर बाद उनकी मौत हो गई। डीसीपी ईस्ट ने बताया कि किसी ने दरोगा का वीडियो बनाकर उसे गलत तरह से प्रसारित कर दिया। फिलहाल उसकी तलाश की जा रही है।