DA Image
23 जुलाई, 2020|3:16|IST

अगली स्टोरी

कानपुर : आठ पुलिसकर्मियों की हत्या के आरोपी विकास दुबे के भाई और मामा को पुलिस ने मार गिराया 

यूपी के कानपुर में बिकरू गांव मे पुलिस और कुख्यात हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे के साथियों के साथ हुई मुठभेड़ में सीओ और शिवराजपुर एसओ सहित सहित 8 पुलिसकर्मी शहीद हाे गए। आधी रात दबिश देने गई पुलिस टीम पर छत और खिड़कियों से फायरिंग की गई। इस घटना मे कई पुलिसकर्मी गंभीर रूप से घायल भी है। शुक्रवार सुबह तक जारी मुठभेड़ में पुलिस ने विकास दुबे के दो रिश्तेदार को ढेर कर दिया है। बताया जा रहा है विकास का मामा और चचेरे भाई मुठभेड़ में मारे गए हैं। 

आसपास जिलों की सीमाएं सील : 

पुलिस ने कानपुर मंडल के कानपुर, कानपुर देहात, कन्नौज, फर्रुखाबाद, इटावा, औरैया की सभी सीमाएं सील कर दी हैं। जीटी रोड पर स्थित गांव में हुई घटना के बाद से जीटी रोड पर जगह-जगह बैरियर लगाकर हो रही है संघन तलाशी ली गई। वहीं फॉरेंसिंक टीमें भी घटनास्थल पर जांच पड़ताल के लिए पहुंची है। अपराधी विकास के घर को चारों तरफ पुलिस तैनात कर दिया गया है। 

कानपुर देहात से विकास दुबे के बहनोई को पुलिस ने हिरासत में लिया
घटना के बाद शुक्रवार सुबह शिवली पुलिस ने विकास दुबे के बहनोई दिनेश तिवारी को हिरासत में ले लिया है। उनके घर में लगे सीसीटीवी फुटेज के आधार पर दिनेश व उनके परिवार के लोगों की गतिविधियों को पुलिस ने चेक किया।

एडीजी बोले : पुलिस से हुई चूक 

घटनास्थन का दौरा करने के बाद एडीजी लॉ एंड ऑर्डर प्रशांत कुमार ने कहा कि बदमाश विकास दुबे के घर गुरुवार रात दबिश देने गई पुलिस पर बदमाश हावी हो चुके थे, पुलिस टीम बिना तैयारी गई थी। उसे अंदाजा ही नहीं था कि विकास और उसके साथी असलहों के साथ अंदर हैं। यही चूक भारी पड़ गई। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर लखनऊ से सीधे घटनास्थल पुहंचे प्रशांत कुमार ने कहा कि इस मामले में पुलिस की तरफ से चूक हुई है। वह जल्द ही सीएम को अपनी रिपोर्ट देंगे। मामले की उच्च स्तरीय जांच होगी। अब एसटीएफ के साथ कई टीमें लगी हैं।

 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Kanpur Police killed the brother and maternal uncle of Vikas Dubey accused of killing eight policemen