ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेशकानपुर पुलिस की करतूत, अर्सलान का एक पैर कटा, दूसरा बचाने को जूझ रहा लखनऊ पीजीआई video

कानपुर पुलिस की करतूत, अर्सलान का एक पैर कटा, दूसरा बचाने को जूझ रहा लखनऊ पीजीआई video

पुलिस की दबंगई से अपने पैर गंवाने वाले सब्जी दुकानदार अर्सलान का ऑपरेशन पीजीआई लखनऊ में किया गया। डाक्टरों को एक पैर काटना पड़ा। ट्रेन की चपेट में आकर क्षतिग्रस्त दूसरा पैर बचाने के प्रयास जारी है।

कानपुर पुलिस की करतूत, अर्सलान का एक पैर कटा, दूसरा बचाने को जूझ रहा लखनऊ पीजीआई video
Rishiकानपुर। संवाददाताSun, 04 Dec 2022 02:18 AM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

पुलिस की दबंगई से अपने पैर गंवाने वाले सब्जी दुकानदार अर्सलान का आपरेशन पीजीआई लखनऊ में किया गया। डाक्टरों को उसका एक पैर काटना पड़ा। ट्रेन की चपेट में आकर क्षतिग्रस्त दूसरा पैर बचाने में प्रयास में डॉक्टर जुटे हैं। पीजीआई के अपेक्स ट्रॉमा सेंटर के चिकित्सा अधीक्षक डॉ. राजेश हर्षवर्धन ने बताया कि आईसीयू में भर्ती अर्सलान की तबियत स्थिर है।  

एक तरफ सब्जी बेचकर छह सदस्यों वाले परिवार का पेट पालने वाला 17 साल का अर्सलान जिंदगी की जंग लड़ रहा है तो दूसरी तरफ पुलिस पूरे मामले की लीपापोती में जुटी है। हादसे के चौबीस घंटे बाद भी पुलिस ने रिपोर्ट तक दर्ज नहीं की है। बहाना बनाया जा रहा है कि बेहाल अर्सलान के परिवार वाले जब तहरीर देंगे, तब कार्यवाही की जाएगी।
   व्यापारियों का आक्रोश शांत करने के लिए एक सिपाही को सस्पेंड कर खानापूरी कर दी गई है। शुक्रवार शाम को लाठियां पटककर ठेला हटवा रहे पुलिस वालों ने अर्सलान की तराजू रेलवे ट्रैक पर फेंक दी थी। अपनी रोजी रोटी का ये हाल देख अर्सलान ट्रैक की तरफ भागा और ट्रेन की चपेट में आ गया। इस हादसे में उसके पैर कट गए थे। 

पुलिस की सफाई कमिश्नर के गले नहीं उतरी
अपनी दबंगई को छुपाने के लिए खाकी की तरफ से हास्यास्पद तर्क दिए जा रहे हैं। पुलिस अफसरों ने अर्सलान की तराजू फेंकने की घटना को तोड़ मरोड़कर पुलिस कमिश्नर के सामने पेश किया। पुलिस कमिश्नर को जानकारी दी गई कि पुलिस ने सिर्फ ठेले पर डंडा मारा था जो तराजू पर लगा। जिसकी वजह से तराजू तीन फीट उछलकर दीवार फांदकर ट्रैक पर जा गिरा। पुलिस की ये सफाई खुद पुलिस कमिश्नर के गले नहीं उतरी। 

सीपी बोले- जांच के आदेश दिए गए हैं
पुलिस कमिश्नर बीपी जोगदंड ने बताया कि परिवार वालों की तरफ से कोई तहरीर नहीं दी गई है। इस कारण एफआईआर नहीं दर्ज की गई। इंस्पेक्टर कल्याणपुर और एसआई मिलकर अर्सलान का इलाज करा रहे हैं। उसे पीजीआई ले जाया गया है। ठीक होने के बाद पुलिस ही दोबारा सब्जी की दुकान कराकर देगी। इस मामले में हेड कांस्टेबल के खिलाफ एसीपी कल्याणपुर को विभागीय जांच के आदेश दिए गए हैं। रिपोर्ट के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी। 

पढ़े UP News in Hindi उत्तर प्रदेश की ब्रेकिंग न्यूज के अलावा Prayagraj News, Meerut News और Agra News.