Thursday, January 27, 2022
हमें फॉलो करें :

मल्टीमीडिया

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेशकानपुर : धर्मांतरण के नाम पर युवक को पीटा, गिड़गिड़ाती रही मासूम बेटी

कानपुर : धर्मांतरण के नाम पर युवक को पीटा, गिड़गिड़ाती रही मासूम बेटी

वरिष्ठ संवाददाता,कानपुरShivendra Singh
Thu, 12 Aug 2021 11:18 PM
कानपुर : धर्मांतरण के नाम पर युवक को पीटा, गिड़गिड़ाती रही मासूम बेटी

इस खबर को सुनें

उत्तर प्रदेश के कानपुर में धर्मांतरण के नाम पर गरीब ई-रिक्शा चालक को चौराहे पर लाकर पीटा गया। उसकी मासूम बेटी बिलखती रही। पिता को बचाने का प्रयास करती रही पर भीड़ नहीं पसीजी। जुलूस की शक्ल में युवक को पीटती हुई ले जा रही बजरंग दल कार्यकर्ताओं की भीड़ को पुलिस ने खदेड़ा और युवक को मुक्त कराया। बुधवार की इस घटना का वीडियो वायरल होने पर सनसनी मच गई है। पुलिस ने सफाई दी है कि युवक को बचा कर पीटने वालों पर रिपोर्ट दर्ज की गई है। आरोपित अजय उर्फ राजेश बैंडवाला, अमन गुप्ता, राहुल कुमार गिरफ्तार कर लिए गए हैं।  'हिन्दुस्तान' वायरल वीडियो की पुष्टि नहीं करता है।

मामले की शुरुआत 9 जुलाई को हुई, जब बर्रा-8 निवासी एक परिवार की नाबालिग बेटी से कुछ युवकों ने छेड़छाड़ की थी। परिवार ने विरोध किया तो वे धर्मांतरण का दबाव बनाने लगे। पीडि़त परिवार ने पुलिस से यह शिकायत की पर रिपोर्ट दर्ज नहीं हुई। 31 जुलाई को भाजपा विधायक महेश त्रिवेदी के हस्तक्षेप पर पुलिस ने बच्ची की मां की तहरीर पर तीन सगे भाइयों सद्दाम, सलमान तथा मुकुल के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया। एफआईआर सिर्फ छेड़खानी की धारा में दर्ज की गई, जबकि मां ने धर्मांतरण के दबाव का आरोप लगाया था। धर्मांतरण की धारा न लगाने के विरोध में बुधवार को बजरंग दल  कार्यकर्ता आरोपितों के घर पहुंच गए।

आरोपित परिवार नहीं मिला तो उसके पड़ोसी ई-रिक्शा चालक अफसार को दबोच लिया। उसे पीटते हुए रामगोपाल चौराहे तक ले गए। उसकी सात साल की बेटी पिता को बचाने के लिए उससे चिपक गई। बिलखते हुए अब्बा को न ले जाने, छोड़ देने की गुहार लगाती रही। इस बीच पुलिस पहुंची तो बजरंग दल कार्यकर्ता बहस करने लगे। किसी तरह पुलिस ने अफसार को मुक्त कराया। जांच में पता चला कि वह बेकसूर है तो उसे रात में छोड़ दिया गया। देर रात पुलिस ने बजरंग दल कार्यकर्ता अजय बैंडवाला, डॉन, केशू और रमेश सहित 15 लोगों के खिलाफ बलवा, मारपीट, धमकी की धारा में एफआईआर दर्ज कर ली।

बर्रा की बस्ती में दहशत, बंद रहीं दुकानें
वीडियो में पीटने वाले जयश्री राम का नारा लगाते दिख रहे हैं। पिटाई के बीच में कुछ लोग न पीटने की बात भी कह रहे हैं। पिटाई का यह वीडियो वायरल होने के बाद तनाव बढ़ा। इलाके में पीएसी तैनात कर दी गई। गुरुवार को बस्ती में दहशत दिखी। अधिसंख्य दुकानें बंद रहीं। घटना को लेकर कोई कुछ बोलने तक को तैयार नहीं था। दोनों पक्षों की सुरक्षा के लिहाज से हर 50 मीटर पर पीएसी के जवान थे। पुलिस ने अब तक किसी की गिरफ्तारी नहीं की है। पुलिस का कहना है कि दोनों मुकदमों के आरोपितों की गिरफ्तारी का प्रयास किया जा रहा है। वीडियो के आधार पर पहचान की जा रही है। डीसीपी साउथ रवीना त्यागी अफसार के घर पहुंचीं और सुरक्षा का आश्वासन दिया।

सख्त कार्रवाई होगी
बर्रा-8 की घटना में सख्त कार्रवाई होगी। ई-रिक्शा चालक की पिटाई के आरोपित तीन लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। बाकी की पहचान की जा रही है। कानून हाथ में लेने वालों को  बख्शा नहीं जाएगा। - असीम अरुण, पुलिस कमिश्नर

epaper

संबंधित खबरें