DA Image
3 अप्रैल, 2020|12:32|IST

अगली स्टोरी

कानपुर लॉकडाउनः सुबह दूध, ब्रेड, सब्जी लेकर घरों में कैद हो गए लोग

lockdown in kanpur

कानपुर में लॉकडाउन के पहले दिन लोग घरों में कैद रहे। जनता कर्फ्यू की अपेक्षा सोमवार को सुबह चहल पहल रही। लोग दूध, ब्रेड, सब्जी लेने निकले और कुछ देर बाद लौट गए। कहीं कोई भीड़ जैसी स्थिति नहीं दिखी। जरूरी सेवाओं की आपूर्ति जारी रही।

हमेशा गुलगाजर रहने वाले मोहल्ले खामोश हैं। कोई घर से बाहर नहीं निकल रहा है। बच्चे भी घरों में ही कैद से हो गए हैं। कालोनियों में फेरी वालों की आवाज भी नहीं सुनाई दे रही। ऐसा लोगों ने पहली बार देखा। मुस्लिम बहुल इलाकों में भी सन्नाटा है। सभी बाजारें बंद हैं और चौराहे शांत हैं।

आटो-टेंपों का शोर थमा
शहर में टैक्सी, आटो, टेंपों का शोर थम गया है। हमेश जाम रहने वाली बाजारें, सड़कें एकदम खामोश हैं। ई रिक्शा की आवाजाही भी रोक दी गई है। इक्का दुक्का रिक्शा चल रहे हैं लेकिन उन्हीं लोगों को ले जा रहे हैं को जो अस्पताल जा रहे हैं या फिर कहीं फंसे थे।

हाईवे और जीटी रोड पर सन्नाटा
लॉक डाउन का असर दिल्ली हाईवे और कानपुर-अलीगढ़ जीटी रोड पर साफ दिखाई दे रहा है। वाहनों की आवाजाही बिलकुल ठप है। सड़क पर इक्का दुक्का बाइक सवार ही दिख रहे हैं। कारों का संचालन भी एकदम ठप है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Kanpur Lockdown: People imprisoned in homes after taking milk bread and vegetables on Monday early morning