DA Image
23 अक्तूबर, 2020|5:29|IST

अगली स्टोरी

कानपुर एनकाउंटर : विकास दुबे की 10 बीघा जमीन पर हो गया कब्जा

vikas dubey

कुख्यात अपराधी विकास दुबे के एनकाउंटर के बाद उसकी 10 बीघा जमीन पर तीन लोगों ने कब्जा कर धान की रोपाई कर दी। शिकायत के बाद तहसील प्रशासन हरकत में आया। एसडीएम बिल्हौर ने नायब तहसीलदार और शिवराजपुर थाने की पुलिस को जमीन पर कब्जा लेने का आदेश दिया है।

बिल्हौर तहसील के संकरवा गांव में विकास दुबे ने 17 फरवरी 2016 को उन्नाव निवासी शशिकांत से 24 बीघा जमीन का बैनामा कराया था। खसरा खतौनी में विकास दुबे का नाम दर्ज किया गया था। उसके मुठभेड़ में मारे जाने के बाद गांव के ही तीन लोगों ने 10 बीघा जमीन पर दावा करते कब्जा कर लिया। गांव के ही एक व्यक्ति ने तहसील में शिकायत की तो एसडीएम पीएन सिंह ने जांच के आदेश दिए। लेखपाल, नायब तहसीलदार की जांच में कब्जे की पुष्टि हुई।

लेखपाल ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि कब्जा करने वालों ने एक बैनामा प्रस्तुत किया है। यह सिविल जज माती कोर्ट से खारिज हो चुका है। लेखपाल की रिपोर्ट के आधार पर जमीन खाली कराने के आदेश दिए गए हैं। तहसीलदार का कहना है कि यह जांच का विषय है कि जमीन पर फसल किसने बोई है।

विवादित जमीन खरीदता रहा विकास
विकास दुबे अपने प्रभाव का इस्तेमाल कर विवादित जमीन खरीदकर कब्जा कर लेता था। इस जमीन को लेकर विवाद सामने आ रहा है। कब्जा करने वालों का कहना है कि विकास से पहले उन्होंने बैनामा कराया था। फिलहाल तहसील के रिकॉर्ड में पूरी जमीन विकास दुबे पुत्र राम कुमार के नाम दर्ज है। इस नाते इनके दावे नहीं बनते हैं। विकास के मारे जाने के बाद उसकी पूरी संपत्ति प्रशासन की निगरानी में है। 

संकरवा गांव के श्रीकांत की शिकायत पर हल्का लेखपाल और नायब तहसीलदार से जांच कराई गई। इसमें पता चला कि करीब 1.024 हेक्टेयर जमीन पर तीन लोगों ने कब्जा कर लिया है। नायब तहसीलदार और शिवराजपुर पुलिस को जमीन अतिक्रमण मुक्त कराने के आदेश दिए गए हैं। - अवनीश कुमार, तहसीलदार 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Kanpur encounter: some other people occupied 10 bigha land of Vikas Dubey