DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कानपुरःकांशीराम अस्पताल में तोड़फोड़ पर डॉक्टरों ने की हड़ताल

कांशीराम अस्पताल में धरने पर बैठे डॉक्टर और कर्मचारी

कांशीराम अस्पताल में बुधवार को मेडिकल कराने पहुंचे कुछ लोगों की डॉक्टरों से मारपीट हो गई। लोगों ने अस्पताल परिसर में हंगामा कर तोड़फोड़ करना शुरू कर दिया, जिससे आक्रोशित डॉक्टरों व कर्मचारियों ने हड़ताल कर इमरजेंसी सेवा बंद कर दी। इससे मरीज बेहाल हो गए हैं। डॉक्टरों ने कार्रवाई नहीं होने तक हड़ताल की चेतावनी दी है।
कांशीराम अस्पताल में बुधवार दोपहर कुछ लोग मेडिकल कराने आए थे। वह एक्सरे कराने के लिए सीएमएस डॉ. एसके पांडेय से मिलने पहुंचे। सीएमएस ने रेडियोलॉजिस्ट के छुट्टी पर होने की बात कहकर उर्सला अस्पताल जाने की बात कही। इसके बाद स्टाफ के कुलदीप व राजेंद्र से लोगों की बहस होने लगी। सीएमएस का आरोप है कि उन लोगों ने हाथापाई करते हुए स्ट्रेचर व फर्नीचर पलटकर तोड़फोड़ शुरू कर दी। इससे गुस्साएं डॉक्टरों व कर्मचारियों ने इमरजेंसी सेवा ठप कर धरने पर बैठ गए। इस दौरान इमरजेंसी में आए मरीजों को भी लौटा दिया गया। फार्मासिस्ट एसोसिएशन के महामंत्री डॉ. राजेंद्र व डॉ. दिनेश ने बताया कि जब तक कार्रवाई नहीं होगी हड़ताल जारी रहेगी। हंगामा-बवाल की सूचना पर एसीएम द्वितीय मीनू राणा, सीओ कैंट अजीत चौहान चकेरी पुलिस फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे। सीओ कैंट अजीत चौहान ने बताया कि मामले की जांच कर कार्रवाई की जाएगी। सीएमएस डॉ. एसके पांडेय ने बताया कि सीएमओ व लखनऊ में उच्चाधिकारियों को मामले की जानकारी दे दी गई है।
अस्पताल में भर्ती मरीजों का बुरा हाल
डॉक्टरों की हड़ताल के बाद अस्पताल में भर्ती मरीजों का बुरा हाल है। इसके चलते कुछ तीमारदार तो अपने मरीजों को अस्पताल से किसी अन्य नर्सिंग होम लेकर चले गए। साथ ही इमरजेंसी में भी आये मरीजों को वापस लौटना पड़ रहा था। वार्डों में मरीज के इलाज के लिए तीमारदार देर रात तक परेशान रहे। वहीं डॉक्टर भी अपनी जिद पर अड़े

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Kanpur Doctors strike on sabotage at Kanshiram hospital