DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कन्नौज लोकसभा सीट बन चुकी है सपा का मजबूत किला

समाजवादी पार्टी सूबे में अपने लिए जिन सीटों को सबसे बेहतर मानती है, उसमें कन्नौज का नाम सबसे ऊपर है। यहां का सामाजिक तानाबाना ही कुछ ऐसा है कि दूसरी पार्टियां सपा के इस दुर्ग को भेद नहीं पाती हैं। पिछला लगातार सात चुनाव सपा ने जीता है। यही वजह है कि इस बार खुद यहां से चुनाव लड़ने की शुरुआती घोषणा के बाद सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने बसपा से गठबंधन होने के बाद इस सीट से फिर से पत्नी डिंपल यादव को ही मैदान में उतार दिया है। वह खुद आजमगढ़ से पिता की सीट से चुनाव लड़ेंगे। 
अखिलेश यादव के इस्तीफा के बाद 2012 के उपचुनाव में निर्विरोध जीतने वाली डिंपल यादव को यहां 2014 के लोकसभा चुनाव में भाजपा के युवा चेहरे सुब्रत पाठक से कड़ी टक्कर मिली थी। भाजपा ने एक बार फिर सुब्रत को ही मैदान में उतार कर मुकाबले को दिलचस्प बना दिया है। पिछली बार की जबरदस्त टक्कर से उत्साहित भाजपा इस बार सपा के इस गढ़ को ढहाने के लिए खाका तैयार करने में जुटी है। बेहद नजदीकी मुकाबले में पिछला मुकाबला गंवाने वाली भाजपा इस बार फूक-फूक कर कदम रख रही है। पिछले दिनों कानपुर पहुंचे भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने भी कन्नौज सीट के लिए मंथन किया है। भतीजे अखिलेश यादव से नाराज होकर अलग पार्टी बनाने वाले उनके चाचा शिवपाल यादव ने भी बहू की राह मुश्किल करने के लिए अपनी पार्टी से उम्मीदवार उतारा था, लेकिन आखिरी वक्त में उसे मैदान से हटा दिया। हालांकि कांग्रेस ने यहां से उम्मीदवार नहीं खड़ा किया है, इससे सपा खेमे को राहत मिली है। बसपा संग गठबंधन होने से भी सपा अपने लिए फायदेमंद मान रही है। डिंपल की जीत तय करने के लिए खुद अखिलेश यादव ने यहां की कमान संभाल रखी है। कन्नौज संसदीय सीट पर अब तक 15 चुनाव हो चुके हैं। इसमें दो उपचुनाव भी शामिल है। इन चुनावों में सबसे ज्यादा सात बार समाजवादी पार्टी को कामयाबी मिली है। राम लहर में कामयाबी से दूर रही भाजपा को यहां सिर्फ एक बार 1998 में जीती थी। बसपा ने इस सीट से कभी जीत का जायका नहीं चखा। 
2014 चुनाव के नतीजे
सपा, डिम्पल यादव:489164, (43.89 प्रतिशत)
भाजपा, सुब्रत पाठक:469257 ( 42.11 प्रतिशत)
बसपा, निर्मल तिवारी:127785 (11.47 प्रतिशत)
निर्दलीय, राकेश तिवारी:5724 (0.51 प्रतिशत)
संसदीय क्षेत्र के वोटर
कुल वोटर : 1855087 
पुरष वोटर : 1013505 
महिला वोटर : 840482

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Kannauj Lok Sabha seat has become the strongest fort of SP