ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशप्राण प्रतिष्ठा से पहले कांची पीठ के शंकराचार्य स्वामी विजयेंद्र सरस्वती पहुंचे अयोध्या

प्राण प्रतिष्ठा से पहले कांची पीठ के शंकराचार्य स्वामी विजयेंद्र सरस्वती पहुंचे अयोध्या

राम मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा का कतिपय आधार पर कुछ शंकराचार्य के विरोध के बीच कांची पीठ के शंकराचार्य स्वामी विजयेंद्र सरस्वती रविवार को अयोध्या पहुंचे और राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा के यज्ञशाला तक गए।

प्राण प्रतिष्ठा से पहले कांची पीठ के शंकराचार्य स्वामी विजयेंद्र सरस्वती पहुंचे अयोध्या
Ritesh Vermaलाइव हिन्दुस्तान,अयोध्याMon, 22 Jan 2024 08:19 AM
ऐप पर पढ़ें

राम मंदिर में रामलला की प्राण प्रतिष्ठा से पहले रविवार को कांची कामकोटि पीठ के शंकराचार्य जगदगुरु स्वामी विजयेंद्र सरस्वती अयोध्या पहुंचे। कांची शंकराचार्य प्राण प्रतिष्ठा के लिए मंदिर परिसर में चल रहे अनुष्ठान की यज्ञशाला में गए और प्राण प्रतिष्ठा महोत्सव के लिए अपनी शुभकामनाएं दी। जोशीमठ ज्योर्तिपीठ शंकराचार्य स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद सरस्वती और पुरी गोवर्धन पीठ शंकराचार्य स्वामी निश्चलानंद स्वामी ने प्राण प्रतिष्ठा को लेकर कुछ सवाल उठाए थे। अविमुक्तेश्वरानंद ने तो यहां तक दावा किया था कि कोई शंकराचार्य प्राण प्रतिष्ठा में नहीं जाएंगे क्योंकि धर्म और शास्त्र के हिसाब से चीजें नहीं हो रही हैं।

ऐसे में कांची शंकराचार्य स्वामी विजयेंद्र सरस्वती का राम मंदिर पहुंचना और यज्ञशाला में जाकर प्राण प्रतिष्ठा के अनुष्ठान के लिए शुभकामनाएं देना महत्वपूर्ण है। हालांकि स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद ने भी अपने बयान में नरमी लाई है और रविवार को उन्होंने कहा कि वो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के विरोधी नहीं हैं बल्कि उनके काम के प्रशंसक रहे हैं। जोशीमठ शंकराचार्य ने कहा है कि मोदी के पीएम बनने से हिन्दुओं का स्वाभिमान जागा है। मोदी जितना हिम्मती और हिन्दुओं के पक्ष में दृढ़ता के साथ खड़ा होने वाला प्रधानमंत्री देश में नहीं हुआ है। इससे पहले तक अविमुक्तेश्वरानंद राम मंदिर को अधूरा बताकर प्राण प्रतिष्ठा पर सवाल उठा रहे थे।

Ayodhya Ram Mandir Live: अयोध्या के एंट्री प्वाइंट पर जबरदस्त पहरा, बगैर पास प्रवेश नहीं

इसी तरह पुरी के शंकराचार्य स्वामी निश्चलानंद सरस्वती ने पीएम मोदी के हाथों प्राण प्रतिष्ठा पर सवाल उठाते हुए कहा था कि शास्त्र सम्मत तरीके से प्राण प्रतिष्ठा होना चाहिए। खुद के ना जाने के सवाल पर निश्चलानंद ने कहा था कि उन्हें न्योता में एक आदमी के साथ आने कहा गया है। उन्होंने यह भी कहा था कि वहां मोदी वहां प्राण प्रतिष्ठा करेंगे तो शंकराचार्य क्या ताली बजाएंगे।

Ram Temple Inauguration: रामलला की प्राण प्रतिष्ठा का यहां होगा लाइव प्रसारण, एक भी पल नहीं करेंगे मिस

चार में दो शंकराचार्य के विरोध या आलोचना के बीच द्वारका शारदा पीठ के शंकराचार्य स्वामी सदानंद सरस्वती और श्रृंगेरी पीठ के शंकराचार्य स्वामी भारती तीर्थ ने प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम के विरोध से दूरी बनाते हुए इस ऐतिहासिक पल के लिए शुभकामनाएं दी हैं। सदानंद सरस्वती ने कहा है कि चारों शंकराचार्य प्राण प्रतिष्ठा के बाद रामलला के दर्शन करने जाएंगे। अभी नहीं जा रहे हैं क्योंकि वहां बहुत भीड़ होने वाली है और सारे शंकराचार्यों के साथ काफी संख्या में भक्त चलते हैं। वहां शंकराचार्य के जाने से व्यवस्था में व्यवधान हो सकता था।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें