ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेश'कमचोर लापता तहसीलदार' ऑफिस के बाहर किसान ने लगाया पोस्टर, चौंकाने वाली है वजह

'कमचोर लापता तहसीलदार' ऑफिस के बाहर किसान ने लगाया पोस्टर, चौंकाने वाली है वजह

यूपी के अमेठी में अफसरों की कार्यशौली से नाराज किसान का एक मामला सामने आया है। किसान ने नाराजगी जाहिर करते हुए तहसीलदार ऑफिस के बाहर एक पोस्टर चिपका दिया है।

'कमचोर लापता तहसीलदार' ऑफिस के बाहर किसान ने लगाया पोस्टर, चौंकाने वाली है वजह
kaamchor lapata tehsildar poster put up by farmer outside office reason shocking amethi
Dinesh Rathourहिन्दुस्तान,अमेठीThu, 09 May 2024 05:31 PM
ऐप पर पढ़ें

यूपी के अमेठी में अफसरों की कार्यशौली से नाराज किसान का एक मामला सामने आया है। किसान ने नाराजगी जाहिर करते हुए तहसीलदार ऑफिस के बाहर एक पोस्टर चिपका दिया है। पोस्टर में लापता तहसीलदार लिखा है। तहसीलदार ऑफिस के बाहर लगा ये पोस्टर अब सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है। जिस किसान तहसीलदार ऑफिस के बाहर पोस्टर लगाया है, उसने कई गंभीर आरोप लगाए हैं। किसान का आरोप है वह अपनी जमीन को बंधक मुक्त करने के लिए पिछले 6 महीने से तहसील का चक्कर काट रहा है लेकिन तहसीलदार नहीं मिलते हैं।

मामला तहसील के मड़ौली गांव का है। जहां के रहने वाले अजय पाण्डेय का आरोप है की उन्होंने सालों पहले अपनी जमीन पर ऋण लिया हुआ था और उस कर्ज को सालों पहले चुकता कर का है। वे अपनी जमीन को बंधक मुक्त कराकर दोबारा ऋण लेना चाह रहे हैं क्योंकि उन्हे पैसे की जरूरत है।  दोबारा बैंक से ऋण लेने के लिए गाइड लाइन के अनुसार बंधक मुक्त होना अनिवार्य है। इसी काम को लेकर अजय पाण्डेय करीब 6 महीने से तहसील का चक्कर लगा कर थक गए। तब से दो तहसीलदार आए और गए लेकिन उनकी जमीन को आज भी बंधक मुक्त नहीं किया जा रहा है। जिससे नाराज फरियादी ने तहसीलदार ऑफिस के सामने तहसीलदार कामचोर और लापता तहसीलदार का पोस्टर लगा दिया।

क्या बोला किसान

पोस्टर लगाने वाले पीड़ित अजय पांडे ने बताया की हम 6-7 महीने से आ रहे हैं। जब भी तहसीलदार से मिलने आता हूं तो उनका चैंबर हमेशा बंद ही मिलता है। मेरा छोटा सा काम है मैं लागतार चक्कर काट रहा हूं। लेकिन यहां तहसीलदार आज तक दिखे तक नहीं और मै मांग करता हूं की ऐसे अधिकारी को सुधारा जाए और ऐसे लोगो ने जनता को परेशान कर दिया है।

तहसीलदार बोले

इस संबंध में जब अमेठी तहसीलदार सूरज प्रताप से बात कही गई तो उन्होंने बताया चुनाव में व्यस्त होने के कारण ऑफिस में बैठना मुश्किल हो रहा है क्योंकि तहसील के सभी कर्मचारियों की ड्यूटी नवोदय विद्यालय गौरीगंज में लगाई गई है। चुनाव ड्यूटी खत्म होने के बाद सारे काम निपटा दिए जाएंगे।