ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेशज्ञानवापी मस्जिद के सर्वे का आदेश देने वाले जज को सता रहा जान का डर, बनारस से बरेली आते ही सुरक्षा घटी

ज्ञानवापी मस्जिद के सर्वे का आदेश देने वाले जज को सता रहा जान का डर, बनारस से बरेली आते ही सुरक्षा घटी

वाराणसी की ज्ञानवापी मस्जिद के सर्वे का आदेश देने वाले जज रवि कुमार दिवाकर अपनी सुरक्षा को लेकर चिंतित हैं। बनारस में रहने के दौरान ही उन्हें धमकी मिली थी। इसके बाद उनकी सुरक्षा बढ़ाई गई थी।

ज्ञानवापी मस्जिद के सर्वे का आदेश देने वाले जज को सता रहा जान का डर, बनारस से बरेली आते ही सुरक्षा घटी
Yogesh Yadavहिन्दुस्तान,बरेलीThu, 22 Sep 2022 08:59 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

वाराणसी की ज्ञानवापी मस्जिद के सर्वे का आदेश देने वाले जज रवि कुमार दिवाकर अपनी सुरक्षा को लेकर चिंतित हैं। बनारस में रहने के दौरान ही उन्हें धमकी मिली थी। इसके बाद उनकी सुरक्षा बढ़ाई गई थी। बनारस से बाद में उनका ट्रांसफर बरेली हो गया था। यहां उनको बनारस जैसी सुरक्षा नहीं मिली है। इसे लेकर जज ने नाराजगी जताई है और आईजी को पत्र लिखा है। लघुवाद न्यायाधीश रवि कुमार दिवाकर ने पत्र में लिखा है कि उन्हें वाराणसी की तरह ही सुरक्षा उपलब्ध कराई जाए। 

बीते 19 सितंबर को लिखे पत्र में लघुवाद न्यायाधीश ने कहा है कि शासनादेश के अनुसार वाराणसी में उन्हें सुरक्षा प्राप्त थी। मगर बरेली में उन्हें जो आवासीय और निजी सुरक्षा उपलब्ध कराई गई है, वह अपर्याप्त है। इस संबंध में उन्होंने आरआई (रिजर्व इंस्पेक्टर) बरेली नरोत्तम सिंह को भी फोन से अवगत कराया।

ज्ञानवापी सर्वे का आदेश देने वाले सिविल जज रवि दिवाकर को मिला धमकी भरा लेटर

इसके साथ ही नरोत्तम सिंह से यह भी आग्रह किया कि अगर वह वाराणसी के आरआई से इस संबंध में बात कर लेंगे तो उचित होगा। मगर नरोत्तम सिंह ने बात करने से इनकार कर दिया। नरोत्तम सिंह ने यह कहा कि इस संबंध में शासन से उन्हें कोई पत्र प्राप्त नहीं हुआ है। 

ज्ञानवापी को लेकर बनाया जा रहा डर का माहौल, फैसले में जज ने लिखा-मेरी सुरक्षा को लेकर परिवार चिंतित

आरआई ने बताया कि उन्हें जो भी सुरक्षा दी गई है, वह उनके स्तर से ही दी गई है। इस संबंध में जब न्यायाधीश रवि कुमार दिवाकर ने वाराणसी के आरआई से बात की तो बताया गया कि उन्हें शासन के आदेशानुसार सुरक्षा और वाराणसी जनपद पुलिस की ओर से डेढ़ सेक्शन पीएसी लगाई गई है। ऐसे में लघुवाद न्यायाधीश रवि कुमार दिवाकर ने जिला न्यायाधीश के माध्यम से आईजी को भेजे पत्र में आवश्यक कार्यवाही की बात कही है।

बिना बताए दो दिन अनुपस्थित रहा गनर

लघुवाद न्यायाधीश रवि कुमार दिवाकर ने पत्र के माध्यम से यह भी कहा है कि उनकी सुरक्षा में तैनात गनर निकुंज कुमार 17 और 18 सितंबर को बगैर कोई सूचना दिए अनुपस्थित रहा। इस संबंध में आरआई नरोत्तम सिंह को अवगत कराया लेकिन उन्होंने कोई उचित कार्यवाही नहीं की। न्यायाधीश का पत्र मिलने के बाद 19 सितंबर को ही आईजी रमित शर्मा ने बरेली के एसएसपी को पत्र लिखकर मामले में संज्ञान लेने को कहा है। साथ ही प्रारंभिक जांच करवाकर नियमानुसार उचित कार्यवाही करने को भी कहा है।

epaper