class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अच्छी खबरः बुन्देलखण्ड की बदलेगी सूरत, अरबों के निवेश से मिलेगा रोजगार

प्रतीक फोटो।

बुन्देलखण्ड के विकास को पंख लगने लगे हैं। शुरुआत झांसी और ललितपुर से हो गई है। दोनों जिलों में दिग्गज कंपनियां पांच अरब का निवेश करने जा रही है। नई औद्योगिक नीति और रोजगार प्रोत्साहन योजना के अंतर्गत 4 बड़ी कंपनियों ने जमीन लेकर काम शुरू कर दिया है। सरकार के इस प्रयास बुन्देलखण्ड में रोजगार के असवर पैदा होंगे और युवाओं का पलायन रुकेगा। 
बुन्देलखण्ड में लंबे समय से उद्योगों के स्थापना की मांग उठती रही है, ताकि यहां के लोगों को यहीं पर रोजगार मिल सके। यहां उद्योगों की कमी से अधिकांश लोग गुजरात, दिल्ली और पंजाब चले जाते हैं। नई औद्योगिक निवेश एवं रोजगार प्रोत्साहन योजना के जरिए अब युवाओं को बुन्देलखण्ड में ही रोजगार मिलेगा। प्रथम चरण में झांसी और ललितपुर बीयर, डिटर्जेंट पाउडर, सोलर प्लांट, एक्सप्लोसिव, प्लास्टिक बोरी आदि का निर्माण शुरू होगा। उपायुक्त उद्योग विभाग सुधीर श्रीवास्तव ने बताया कि इन उद्योगों के लगने से यहां के सैकड़ों लोगों को रोजगार मिल सकेगा। कंपनियों के आने से रोजगार की अपार संभावनाएं हो गई है। यहां के लोग यहीं पर अच्छा रोजगार प्राप्त कर सकेंगे। 
सोलर प्लांट लगेगा से पैदा होगी बिजली 
झांसी के बड़ागांव ब्लॉक के अंर्तगत बचावली बुजुर्ग में एक कंपनी ने सोलर प्लांट लगाने के लिए 250 एकड़ भूमि ली है। यहां पर 3.50 अरब का निवेश किया जा रहा है। कंपनी यहां पर सोलर बिजली का निर्माण करेगी और 50 मेगावाट बिजली का उत्पादन करेगी। अभी पारीछा थर्मल पावर में बिजली का निर्माण 1140 मेगावाट होता है। यहां पर 6 इकाई स्थापित है। हालांकि एक इकाई 110 मेगावाट की मेंटीनेंस के चलते बंद पड़ी है। ऐसे में 50 मेगावाट के सोलर प्लांट से बिजली उत्पादन में वृद्धि होगी।      
फूड प्रोसेसिंग प्लांट लगेगा
ललितपुर के पाली के अंर्तगत ग्राम साजा में 55.51 करोड़ की लागत से फूड प्रोसेसिंग प्लांट लगाया जा रहा है। यहां पर एक कंपनी बीयर बनाएगी। इसके लिए 25 एकड़ भूमि ले ली है। कंपनी कार्य भी सितंबर 2018 तक पूरा कर लेगी। 
डिटर्जेंट पाउडर बनेगा
गरौठा तहसील के अंर्तगत लहचूरा में 58 करोड़ का निवेश किया जा रहा है। यहां पर एक कंपनी डिटर्जेंट पाउडर बनाएगी। इसके लिए 12 एकड़ की भूमि को लिया गया है। जनवरी 2018 तक कार्य पूरा कर लिया जाएगा। 
प्लास्टिक की बोरियां बनेगी
पाल कॉलोनी झांसी में ही एक कंपनी 10 करोड़ का निवेश कर चुकी है। यहां पर प्लास्टिक की बोरी बनाने का प्लांट बनाया जाएगा। काम शुरू कर दिया गया है। 
एक्सप्लोसिव बनेगा
झांसी के बबीना अंर्तगत ग्राम नया खेड़ा में एक कंपनी ने 60 करोड़ का निवेश कर रही है। 750 एकड़ की भूमि में बनने वाले इस प्लांट में एक्सप्लोसिव और डेटोनेटर आदि बनेंगे। डेटोनेटर माइंस और सेना के गोला-बारूद बनाने में प्रयोग होते हैं। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: Jhansi-Lalitpur will invest in Arabs
सिकंदरा विधानसभा उपचुनाव : पवन का पर्चा वापस, 11 प्रत्याशी मैदान मेंयूनेस्को की लिस्ट में ताजमहल दूसरा सर्वश्रेष्ठ विश्व धरोहर स्थल, VIDEO