DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मेरठ-दिल्ली रैपिड रेल के लिए 300 अफसरों को ट्रेनिंग देगा जापान

Meerut-Delhi Rapid Rail (Symbolic Image)

भारत में हाईस्पीड ट्रेनों के संचालन के लिए जापान हर साल 300 अफसरों को विशेष ट्रेनिंग देगा। इसमें मेरठ-दिल्ली रैपिड रेल को चलाने वाले अफसर भी शामिल हो सकेंगे। दिल्ली में बुधवार 'रेल संरक्षा में क्षमता विकास' पर भारत-जापान परियोजना के लिए बनी पहली संयुक्त समन्वय समिति की मीटिंग में यह संकेत दिए गए।

रेल मंत्रालय, भारत सरकार और जापान के भूमि, आधारभूत ढांचे, परिवहन और पर्यटन मंत्रालय के बीच प्रारम्भिक चर्चा जनवरी, 2017 में शुरू हुई थी और फरवरी, 2017 में दोनों देशों के बीच रेल संरक्षा पर सहयोग के ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए । इसका उद्देश्य रेल संरक्षा विशेष रूप से ट्रैक (वैल्डिंग रेल इंस्पेक्शन, ट्रैक सर्किट इत्यादि) तथा ट्रैक और चल स्टॉक निरीक्षण की तकनीक के निरीक्षण से जुड़ी नवीनतम टैक्नोलोजी में सहयोग करना था। इस संयुक्त कार्यक्रम के अंतर्गत उत्तर रेलवे एक प्रमुख सहयोगी होगा। जापानी अध्ययन दल दो वर्षों की अवधि तक उत्तर रेलवे के साथ काम करेगा। इस परियोजना के अंतर्गत पहले चरण में भारतीय रेलवे के 60 अधिकारियों को जापान के चुनिंदा क्षेत्रों में प्रशिक्षण दिया जाएगा।

जापान और भारतीय रेल के प्रतिनिधियों वाली यह समन्वय समिति इस परियोजना की शीर्ष स्तरीय समिति है। बैठक के दौरान जापान की ओर से चलाई जाने वाली गतिविधियों और उनके नतीजों पर विस्तृत चर्चा की गई। पहली संयुक्त समन्वय समिति ने इस परियोजना को औपचारिक रूप से शुरू किया जो कि भारतीय रेलवे पर संरक्षा प्रणाली और उसके उपायों को बेहतर बनाने की दिशा में एक अति महत्वपूर्ण कदम है। बीते दिनों जापान के विशेषज्ञों का एक दल मेरठ भी आया था। इस दल ने यहां ट्रैक की स्थिति एवं यहां मौजूद बट वैल्डिंग प्लांट को भी देखा था। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Japan will give training to 300 officers of Rapid rail