ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशएसीपी तोप हैं क्‍या, कल ही ट्रांसफर करा दूंगा...,बीजेपी एमएलसी का वीडियो वायरल

एसीपी तोप हैं क्‍या, कल ही ट्रांसफर करा दूंगा...,बीजेपी एमएलसी का वीडियो वायरल

भाजपा महिला मोर्चा की कार्यकर्ताओं से पी रोड पर पुलिस से झड़प हो गई। महिला कार्यकर्ताओं ने ACP सीसामऊ पर दुर्व्यवहार का आरोप लगाते हुए नारेबाजी शुरू कर दी और पी रोड चौराहा जाम कर दिया।

Ajay Singhप्रमुख संवाददाता,कानपुरSat, 11 May 2024 07:15 PM
ऐप पर पढ़ें

Kanpur News: राहुल गांधी की रैली के विरोध में प्रदर्शन करने जा रहीं भाजपा महिला मोर्चा की कार्यकर्ताओं की पुलिस से झड़प हो गई। महिला कार्यकर्ताओं ने एसीपी सीसामऊ पर दुर्व्यवहार का आरोप लगाते हुए नारेबाजी शुरू कर दी और पी रोड चौराहा जाम कर दिया। बीच सड़क धरने पर बैठ गईं। सूचना पर पहुंचे एमएलसी सलिल विश्नोई ने मौके पर मिले दरोगा से यह कह दिया कि ‘तुम्हारी एसीपी कोई तोप हैं कल ट्रांसफर करा दूंगा।’ इसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। 'लाइव हिन्दुस्तान ’वायरल वीडियो की पुष्टि नहीं करता है।

कानपुर में कांग्रेस सांसद राहुल गांधी की जनसभा के पहले भाजपा महिला मोर्चा की जिलाध्यक्ष सरोज सिंह की अगुवाई में महिला कार्यकर्ता हाथों में तख्तियां लेकर प्रदर्शन को निकली थीं। तभी वनखंडेश्वर मंदिर के पास महिलाओं का एसीपी सीसामऊ श्वेता कुमारी से विवाद हो गया। एसीपी ने उन्हें बजरिया की तरफ नहीं बढ़ने दिया। महिलाएं एसीपी पर अभद्रता का आरोप लगा धरने में बैठ गईं। आरोप था एसीपी ने एक महिला कार्यकर्ता का हाथ मरोड़ दिया है। एक घंटे तक एसीपी के खिलाफ नारेबाजी होती रही। महिला कार्यकर्ता इस बात पर अड़ीं थी कि एसीपी के खिलाफ कार्रवाई की जाए। मौके पर पहुंचे एमएलसी सलिल विश्नोई ने कहा प्रदर्शन करने का सभी को अधिकार है। शनिवार को सीएम के सामने पूरा प्रकरण रखेंगे।

यह भी पढ़ें: UP Weather: शाहजहांपुर, बरेली, पीलीभीत में मौसम बदला, झमाझम बारिश

भाजपा महिला मोर्चा का कहना है वह राहुल गांधी के उस बयान को लेकर विरोध-के लिए निकले थे, जिसमें राहुल गांधी ने कहा था कि लड़ाई शक्ति से है। मौके पर पहुंचे एमएलसी सलिल विश्नोई ने कहा कि श्वेता कुमारी अपने व्यवहार पर महिलाओं से माफी मांगें अन्यथा मुख्यमंत्री के सामने इस बात को रखा जाएगा। यह दीगर बात है उनके बदले एसीपी अनवरगंज आईपी सिंह ने जिलाध्यक्ष से माफी मांगी।

यह भी पढ़ें: शादी से पहले हादसा, DCM की टक्‍कर में कार सवार दूल्‍हे समेत चार की मौत

डीसीपी बोले 
डीसीपी सेंट्रल आरएस गौतम ने कहा कि यह ऐसी बड़ी घटना नहीं थी। एसीपी ने सिर्फ इस बात पर टोका था आचार संहिता लगी है, प्रदर्शन के लिए अनुमति लेना जरूरी है। भीड़ में एक महिला उंगली दिखा रही थी तो उसे एसीपी ने रोका था। सीसीटीवी फुटेज की रिकार्डिंग मौजूद है। रिपोर्ट के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी। 

यह भी पढ़ें: UP Weather: यूपी के कई जिलों में तेज आंधी के साथ बारिश, जारी रहेगा सिलसिला

क्‍या बोले एमएलसी 
एमएलसी सलिल विश्नोई ने कहा कि लोकतंत्र में अपनी बात कहने का सभी को अधिकार है। महिला मोर्चा की कार्यकर्ता शांतिपूर्ण तरीके से अपनी बात कहने जा रही थीं। पीरोड के पास एसीपी ने महिलाओं के साथ अभद्र व्यवहार किया है। उन्होंने एक महिला कार्यकर्ता की अंगुली भी मरोड़ी है। एसीपी श्वेता कुमारी ने अपने अधिकारों का दुरुपयोग किया है। उनके माफी मांगने पर ही बात खत्म होगी।