ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेश50 हजार रुपये घूस लेते रंगे हाथों पकड़ा गया दरोगा, मुकदमे से नाम हटाने के लिए मांगे थे 5 लाख

50 हजार रुपये घूस लेते रंगे हाथों पकड़ा गया दरोगा, मुकदमे से नाम हटाने के लिए मांगे थे 5 लाख

एंटी करप्शन टीम ने बरेली में दरोगा को 50 हजार रुपये रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया है। वहीं महोबा में भी एक लेखपाल घूस लेते पकड़ा गया है। फिलहाल दोनों को कार्रवाई की गई है।

50 हजार रुपये घूस लेते रंगे हाथों पकड़ा गया दरोगा, मुकदमे से नाम हटाने के लिए मांगे थे 5 लाख
up police si vacancy 2023
Pawan Kumar Sharmaवार्ता,बरेलीWed, 12 Jun 2024 04:59 PM
ऐप पर पढ़ें

यूपी के बरेली के प्रेमनगर थाने में तैनात दरोगा को 50 हजार रुपये घूस लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया गया। भ्रष्टाचार निवारण संगठन उपाधीक्षक यशपाल सिंह ने बुधवार को बताया कि बरेली शहर प्रेमनगर थाने में तैनात दरोगा राम अवतार के खिलाफ थाना कैंट में भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम की धाराओं में एफआईआर दर्ज की गई है।

यशपाल सिंह ने बताया कि किला थाने में दो महीने पहले धोखाधड़ी और जालसाजी का मुकदमा दर्ज किया गया था। इस मुकदमे में नाम निकालने को लेकर पुलिस सांठगांठ कर रही थी। मामले की शिकायत एसएसपी से की गई। इसके बाद एसएसपी ने मुकदमे की विवेचना दूसरे थाने में ट्रांसफर कर दी। विवेचना प्रेमनगर थाने दरोगा राम अवतार कर रहे थे। उन्होंने ने मुकदमे से दो नाम निकालने के लिए पीड़ित पक्ष को अपने घर नरियावल बुलाया। यहां पांच लाख रुपये रिश्वत मांगी। इसके बाद 50-50 हजार की किस्तों के रूप में रुपए दिए जाने की बात तय हुई। 

पीड़ित ने इसकी शिकायत विजिलेंस एसपी से की थी। जिस पर एसपी विजिलेंस ने ट्रैप करने के लिए टीम तैयार की। मंगलवार शाम 50 हजार की किश्त लेकर जैसे ही पीड़ित पहुंचे। विजिलेंस ने दरोगा को गिरफ्तार कर लिया। उसे आज जेल भेज दिया गया है।

रिश्वत लेते पकड़ा गया लेखपाल

महोबा जिले में एंटी करप्सन टीम ने बुधवार को राजस्व विभाग के एक लेखपाल को दस हजार रुपये की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार किया। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि कुलपहाड तहसील के सतारी क्षेत्र मे तैनात लेखपाल देवेंद्र राजपूत द्वारा किसान सुरेंद्र कुमार से जमीन की पैमाइस के बदले दस हज़ार रुपये की घूस मांगी जा रही थी। किसान काफी समय से उसके चक्कर लगा रहा था लेकिन समस्या का समाधान न होने पर उसने भ्रष्टाचार निरोधक टीम के लखनऊ मुख्यालय से संपर्क कर अपनी परेशानी से अवगत कराया। इस पर मुख्यालय से प्राप्त निर्देशों पर एंटी करप्सन बांदा की टीम ने कार्यवाही करते हुए लेखपाल को रिश्वत लेते रंगेहाथ गिरफ्तार किया।

पुलिस अधिकारी के मुताबिक एंटी करप्सन टीम ने लेखपाल देवेंद्र राजपूत को कुलपहाड़ कस्बे मे स्थित अन्नपूर्णा रेस्टोरेंट से योजनाबद्ध तरीके से उस समय दबोच जब वह किसान से रुपया लेकर गिन रहा था। टीम ने कार्यवाही आनन-फानन मे की जिससे किसी को भी हवा नहीं लगी। बाद मे सीसीटीवी फुटेज निरीक्षण मे मामला साफ होने पर लेखपाल की गिरफ्तारी का लोगो को पता चल सका।