DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  कासगंज में अपहृत मासूम की बेरहमी से हत्या, 40 लाख मांगी गई थी फिरौती

उत्तर प्रदेशकासगंज में अपहृत मासूम की बेरहमी से हत्या, 40 लाख मांगी गई थी फिरौती

सिढ़पुरा (कासगंज) हिन्दुस्तान संवादPublished By: Yogesh Yadav
Wed, 20 Jan 2021 11:13 PM
कासगंज में अपहृत मासूम की बेरहमी से हत्या, 40 लाख मांगी गई थी फिरौती

कासगंज में सिढ़पुरा थाना क्षेत्र के पिथनपुर गांव में अपहरण किये गये दस वर्षीय बालक लोकेश की अपहरणकर्ताओं ने फिरौती मांगने के बाद गला दबा कर हत्या कर दी। दो दिनों से बालक की तलाश में जुटी एसटीएफ और थाना पुलिस को गांव के बाहर खेतों में तलाश के दौरान बाजरे के पूल के ढेर में बालक का शव दबा मिला है। बालक के हाथ पैर बंधे और मुंह में कपड़ा ठूंसा हुआ मिला। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा है। पुलिस जांच में कई लोगों के नाम सामने आए हैं। उनकी तलाश में एसटीएफ के साथ पुलिस टीमें गंगा की कटरी इलाके को छान रही हैं।

बालक के अपहरण की घटना की जानकारी मिलने के बाद वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देश पर एसटीएफ आगरा के एएसपी राकेश कुमार के नेतृत्व में एसटीएफ की टीम यहां सिढ़पुरा पहुंची। बीती मंगलवार की रात को आईजी अलीगढ़ पीयूष मोर्डिया भी गांव में पहुंचे और पीड़ित परिजनों से मुलाकात कर बालक के अपहरण के बारे में जानकारी ली। एसपी मनोज सोनकर सिढ़पुरा में ही कैंप किये हुए थे।

तलाश के दौरान इलाके में बुधवार को पुलिस टीमें गांव के बाहर खेतों में बालक की तलाश को खोजबीन कर रहीं थीं। तभी पुलिस की नजर बाजरा के पूल के ढेर पर पड़ी।  पुलिस ने पूलों के ढेर को तितर-बितर किया। पूलों के ढेर में बालक का शव पड़ा मिला। उसके हाथ-पैर बंधे हुए थे। मुंह में कपड़ा ठूंसा हुआ था। इसके बाद पुलिस अधिकारियों ने परिजनों को मौके पर बुलाया। परिजनों ने बालक की शिनाख्त दस वर्षीय लोकेश के रूप में की। पुलिस बालक को लेकर सीएचसी पहुंची, जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। इसके बाद पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम को भेज दिया है।

रातभर सिढ़पुरा क्षेत्र में रहे एसपी, एएसपी एसटीएफ भी पहुंची
सिढ़पुरा।
मंगलवार को पिथनपुर गांव के बालक के अपहरण की जानकारी मिलने पर जहां एएसपी ने पुलिस टीमों के साथ कॉबिंग की थी। वहीं एसपी मनोज कुमार सोनकर भी सिढ़पुरा क्षेत्र में ही रहे। फिरौती के बाद इस मामले में पुलिस अधिकारियों ने एसटीएफ की मदद ली। बुधवार को सुबह से ही क्षेत्र में एसटीएफ रही। डीआईजी पियूष मोर्डिया ने भी अधिकारियों से बातचीत कर मामले की जानकारी ली। परिजनों से बातचीत करने के बाद टीमों ने क्षेत्र में बालक की तलाश शुरु की। 

बालक का शव मिलने के बाद परिजनों में मचा कोहराम
सिढ़पुरा।
बुधवार की शाम के समय गांव से करीब एक किलोमीटर मेमडा की ओर जाने वाले मार्ग के निकट बालक लोकेश मिला। सीएचसी पर मृत घोषित किए जाने के बाद परिजनों में कोहराम मच गया। परिजनों की मानें तो मंगलवार को भी यहां खोजबीन की गई थी, जबकि बुधवार को पुन: इसी स्थान पर तलाश करने पर लोकेश मिला है। संभवतया रात में उसकी हत्या की गई है। 

संबंधित खबरें