DA Image
हिंदी न्यूज़ › उत्तर प्रदेश › अवैध मदरसे में जंजीर में जकड़ा दिखा मासूम, वीडियो वायरल होने पर मौलवी को हिरासत में लिया गया
उत्तर प्रदेश

अवैध मदरसे में जंजीर में जकड़ा दिखा मासूम, वीडियो वायरल होने पर मौलवी को हिरासत में लिया गया

अलीगढ़। संवाददाताPublished By: Yogesh Yadav
Mon, 27 Sep 2021 11:03 PM
अवैध मदरसे में जंजीर में जकड़ा दिखा मासूम, वीडियो वायरल होने पर मौलवी को हिरासत में लिया गया

अलीगढ़ में सासनी गेट थाना क्षेत्र के लड़िया इलाके में मस्जिद में संचालित अवैध मदरसे में 13 साल के मासूम को जंजीरों से बांधकर पीटने का मामला सामने आया है। सोमवार को वीडियो वायरल होने पर पुलिस और अल्पसंख्यक विभाग हरकत में आया। पुलिस ने मासूम को छुड़वाया और मौलवी को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू कर दी है।

वायरल वीडियो सोमवार सुबह दस बजे के आसपास पुलिस के पास पहुंचा। मीडिया सेल ने वीडियो को देखा तो उसमें तीन बच्चों को जंजीरों में बंधा पाया। वीडियो में बच्चे पानी पीते नजर आ रहे हैं। जांच में सामने आया कि उक्त वीडियो सासनी गेट थाना क्षेत्र के मोहल्ला लड़िया स्थित तालीम उल कुरान नाम से मस्जिद में संचालित मदरसे का है। मीडिया सेल के इनपुट पर सीओ प्रथम राघवेंद्र सिंह हरकत में आए। उन्होंने मौके पर पुलिस भेजी।

मदरसे में एक बच्चा जंजीरों में बंधक पाया गया। पुलिस ने बच्चे को छुड़ाने सहित वहां मौजूद मौलवी फहीमुद्दीन को हिरासत में ले लिया। बच्चे ने पूछताछ में अपनी उम्र 13 साल और खुद को जमालपुर का रहने वाला बताया। इसके आधार पर उसके परिवार वालों को सूचना दी गई। मौलवी ने पूछताछ में बताया कि मदरसे में 40 बच्चे रहते हैं, जिन्हें तालीम दी जाती है। वहीं आसपास के 20 बच्चे ऐसे भी हैं, जो दिन में आते हैं। तीन बच्चों को बांधने का वीडियो लॉकडाउन से पहले का यानी पुराना है। माता-पिता की सहमति से बच्चों को बांधा गया था। वर्तमान में जो बच्चा बांधक मिला, उसे भाग जाने के डर से परिजनों की सहमति पर जंजीरों से बांधा था।

मदरसे का रिकॉर्ड पोर्टल पर नहीं :

सीओ प्रथम राघवेंद्र सिंह ने बताया कि मामले की जांच की जा रही है। परिजनों की तहरीर मिलने पर कार्रवाई की जाएगी। जिला अल्पसंख्यक अधिकारी स्मिता सिंह ने बताया कि मदरसे का कोई भी रिकॉर्ड विभाग के पोर्टल पर नहीं है। यह अवैध है। ऐसे अवैध मदरसों के खिलाफ शासन को पत्र लिखा जा रहा है। वहां से दिशा-निर्देश मिलते ही आगे कार्रवाई की जाएगी। फिलहाल मामला पुलिस स्तर पर है।
 

संबंधित खबरें