DA Image
Wednesday, December 8, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेशत्‍योहारों में नेपाल में बढ़ी भारतीय फूलों की डिमांड, वाराणसी से आ रहे गेंदा और गुलाब

त्‍योहारों में नेपाल में बढ़ी भारतीय फूलों की डिमांड, वाराणसी से आ रहे गेंदा और गुलाब

हिन्‍दुस्‍तान टीम,महराजगंज Ajay Singh
Thu, 28 Oct 2021 05:25 PM
त्‍योहारों में नेपाल में बढ़ी भारतीय फूलों की डिमांड, वाराणसी से आ रहे गेंदा और गुलाब

नेपाल में त्योहारों के इस मौसम में भारतीय फूल पसंद किए जा रहे हैं। नेपाल में भारतीय फूलों की डिमांड बढ़ गई है। नेपाल की डिमांड पूरी करने के लिए गेंदा व गुलाब के फूलों की आपूर्ति वाराणसी से की जा रही है, तो सेंटीपीड की मालाएं कोलकाता से मंगाई जा रही हैं।

इस बार बेमौसम की बारिश से नेपाल में फूलों का उत्पादन बहुत कम हुआ है। वहीं, कोरोना से राहत मिलने पर इस साल त्योहारों को लेकर उत्साह व उमंग बना हुआ है। त्योहारों में फूलों की खपत बढ़ गई है और इसकी पूर्ति के लिए नेपाली व्यापारी भारत से फूलों की डिमांड कर रहे हैं।

सेंटीपीड, मखमल व गोदावरी के फूलों की मांग बढ़ी

 

त्योहार के दौरान सेंटीपीड, मखमल और गोदावरी के फूलों की मांग पहले की तुलना में बढ़ रही है। नेपाल फ्लोरीकल्चर एसोसिएशन (एफएएन) के मुताबिक इस साल भी मांग को पूरी करने लायक फूलों का उत्पादन नेपाल में नहीं हो सका है। इस साल बेमौसम बारिश भी इसके पीछे बड़ी वजह है। एसोसिएशन के अध्यक्ष मिन बहादुर तमांग ने कहा लगभग 232,000 सेंटीपीड फूलों की मालाओं का आयात किया जाना है। इसे भारत के कोलकाता से आयात किया जाएगा। उन्होंने बताया कि उत्सव के दौरान लगभग 1.55 मिलियन सेंटीपीड, 300,000 मखमली और 15,000 गोदावरी फूलों की माला की मांग है।

सोनौली के व्यापारी वाराणसी से मंगाते हैं फूल

सोनौली के फूल कारोबारी राम किशुन ने बताया दीपावली, कुकुर पूजा, भाई दूज के कारण नेपाल में फूल और माला की डिमांड बहुत होती है। वाराणसी से गुलाब और गेंदा के फूलों को मंगवाकर भेजा जा रहा है।

त्योहार के इस महीने भारत से फूल अपेक्षाकृत अधिक मात्रा में आ रहे हैं। नेपाल में त्योहारों में फूलों की डिमांड बढ़ जाती हैं।

तीर्थराज पासवान, सूचना प्रवक्ता-बेलहिया कस्टम

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें