DA Image
20 सितम्बर, 2020|3:13|IST

अगली स्टोरी

केजीएमयू में प्लाज्मा दिए जाने वाले पहले रोगी की हालत में सुधार

 किंग जार्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी (केजीएमयू) में कोरोना वायरस से संक्रमित जिस मरीज का पहली बार प्लाज्मा थेरेपी से इलाज किया गया है, उनकी स्थिति में अब धीरे-धीरे सुधार हो रहा है। अभी वह हालांकि वेंटिलेटर पर ही है।    उधर दूसरी ओर बॉलीवुड गायिका कनिका कपूर का प्लाज्मा केजीएमयू द्वारा अगले सप्ताह लिया जायेगा।

  उत्तर प्रदेश में गत रविवार को राजधानी की किंग जार्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी में किसी कोरोना रोगी को पहली बार प्लाज्मा थेरेपी दी गयी थी। यह रोगी उरई के 58 वर्षीय एक चिकित्सक है जिन्हें प्लाज्मा दान करने वाली भी कनाडा की एक महिला चिकित्सक है जो यहां केजीएमयू में भर्ती हुई थी।

  केजीएमयू की 'ब्लड ट्रांसफ्यूजन मेडिसिन विभाग की अध्यक्ष डॉ. तूलिका चंद्रा ने शुक्रवार को 'भाषा' को बताया, ''58 वर्षीय कोरोना संक्रमित चिकित्सक जिन्हें प्लाज्मा थेरेपी दी गयी थी, उनकी स्थिति में अब धीरे-धीरे सुधार हो रहा है, लेकिन अभी उन्हें एहतियातन वेंटिलेटर पर रखा गया है। चिकित्सकों की टीम पर लगातार उनकी स्थिति पर नजर रख रही है।

  केजीएमयू के प्रवक्ता डा संदीप तिवारी ने बताया, '' उरई के जिस चिकित्सक को प्लाज्मा दिया गया था, उनकी हालत स्थिर है और कुछ सुधार हुआ है, लेकिन जब तक पूरी तरह से ठीक न हो जायें कुछ कहना ठीक नहीं होगा।

  उनसे पूछा गया कि क्या किसी अन्य कोरोना संक्रमित रोगी को प्लाज्मा देने पर विचार हो रहा है, इस पर डा. चंद्रा ने बताया कि अभी केजीएमयू में भर्ती 10 मरीजों में कोई भी ऐसा गंभीर मरीज नही है जिसे प्लाज्मा थेरेपी दी जायें।

   उन्होंने बताया कि गायिका कनिका कपूर को अगले सप्ताह प्लाज्मा देने के लिए बुलाया जायेगा।   अभी तक केजीएमयू में कोरोना वायरस से ठीक हुये तीन मरीज अपना प्लाज्मा दान कर चुके है। इनमें एक रेजिडेंट डाक्टर तौसीफ खान, कनाडा की एक महिला चिकित्सक तथा एक अन्य रोगी शामिल हैं।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Improvement in the condition of the first patient given plasma in KGMU