DA Image
हिंदी न्यूज़ › उत्तर प्रदेश › इम्प्रूवमेंट परीक्षा ने बढ़ाया औसत प्रतिशत, 73 से बढ़कर 94 अंक हुए
उत्तर प्रदेश

इम्प्रूवमेंट परीक्षा ने बढ़ाया औसत प्रतिशत, 73 से बढ़कर 94 अंक हुए

जावेद मुस्तफा,लखनऊPublished By: Deep Pandey
Mon, 27 Sep 2021 12:21 PM
इम्प्रूवमेंट परीक्षा ने बढ़ाया औसत प्रतिशत, 73 से बढ़कर 94 अंक हुए

कोरोना काल में यूपी, सीबीएसई और सीआईएससीई बोर्ड ने बिना परीक्षा के मूल्यांकन नीति बनाकर छात्र-छात्राओं को उत्तीर्ण किया। असंतुष्ट छात्र-छात्राओं के लिए सभी बोर्ड ने इम्प्रूवमेंट और कम्पार्टमेंट परीक्षा करायी। जिसमें लखनऊ रीजन में  सीआईएससीई के अन्तर्गत तकरीबन 350 छात्र-छात्राओं ने आवेदन किया। दसवीं और बारवीं की 16 अगस्त से सात सितम्बर तक हुई इम्प्रूवमेंट परीक्षा का परिणाम जारी कर दिया गया है। जिसमें शामिल होने वाले सभी छात्रों को मूल्यांकन नीति से काफी ज्यादा नम्बर मिले हैं। नम्बर अधिक मिलने की वजह से  कम प्रतिशत पाकर उत्तीर्ण हुए मेधावी बेहद खुश हैं। क्योंकि काफी संख्या में मेधावियों की शिकायत थी कि विषयों में जितने नम्बर उन्हे मिलने चाहिए थे उतने नहीं मिले हैं। कम्पयूटर साइंस, बायो, कैमेस्ट्री गणित विषय में इंटर के छात्रों को पिछले अंकों की तुलना में 10 से 23 अंक ज्यादा मिले हैं। इम्प्रूवमेंट परीक्षा में ज्यादातर इंटर के छात्रों ने किस्मत आजमायी थी। क्योंकि बोर्ड ने पहले ही कह दिया था कि परीक्षा में अगर अंक दिए गए अंकों से कम आए तो कम अंक ही मान्य होंगे।

21 अंक परीक्षा से ज्यादा मिले

एसकेडी अकादमी इंटर की छात्रा वैष्णवी को मूल्यांकन नीति के अन्तर्गत बोर्ड ने केमेस्ट्री में 73 और बायोलॉजी में 85 अंक दिए थे। वैष्णवी ने इम्प्रूवमेंट परीक्षा दी। परीक्षा का परिणाम आया तो वैष्णवी को केमेस्ट्री में 73 अंकों की तुलना में 21 अंक बढ़कर कुल 94 अंक मिले। वहीं बायोलॉजी में 85 अंकों की तुलना में अब वैष्णवी के 93 अंक हो गए हैं। दो विषयों में अंक पढ़ने से ओवरऑल छह प्रतिशत की वृद्धि अंक प्रमाण पत्र में हो गई। इसी तरह छात्रा इकरा खान ने केमेस्ट्री विषय में इम्पूवमेंट परीक्षा दी। पूर्व में इकरा को केमेस्ट्री में 88 अंक मिले थे वहीं इम्प्रूवमेंट परीक्षा का परिणाम आने के बाद से 97 अंक मिले हैं। सेंट जोसफ विद्यालय 12 वीं के सौरव मिश्रा को बोर्ड ने गणित में 79 नम्बर दिए थे। इम्प्रूवमेंट परीक्षा में सौरव को 93 अंक मिले हैं। आरव जयसवाल को कम्पयूटर साइंस में 88 अंक मिले थे जो इम्प्रूवमेंट परीक्षा में बढ़कर 97 अंक हो गए।

हिन्दी के अंक 82 से बढ़कर 94 हुए

इंटर के साथ ही हाईस्कूल के छात्र-छात्राओं ने कम अंक वाले विषयों में इम्प्रूवमेंट परीक्षा दी थी। सभी छात्रों के अच्छे नम्बर इम्प्रूवमेंट परीक्षा के माध्यम से बढे़ हैं। लखनऊ पब्लिक कॉलेज ए ब्लॉक के छात्र रोहित श्रीवास्तव को मूल्यांकन के माध्यम से 88 अंक हिन्दी विषय में दिए गए थे। रोहित ने इम्प्रूवमेंट परीक्षा दी और अंक बढ़कर 94 हो गए। सेंट जोसफ विद्यालय में 10 वीं के छात्र विवेक सिंह को गणित में सिर्फ 61 अंक मिले थे। इम्प्रूवमेंट परीक्षा के बाद रोहित के 23 अंक बढ़ गए और अब उसके अंक पत्र पर 84 अंक हैं।

संबंधित खबरें