DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

IAS तबादलाः CM योगी ने प्रभात कुमार को घोटाले खोलने को APC बनाया, अनीता और जितेंद्र सवा साल बाद मुख्य धारा में लौटे

CM YOGI

मुख्य सचिव पद पर डा. अनूप चंद्र पांडेय की ताजपोशी के दूसरे दिन ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने वरिष्ठ आईएएस अधिकारियों का पहला बड़ा फेरबदल किया। इस फेरबदल से ब्यूरोक्रेसी में हलचल मच गई है। हालांकि अभी कुछ और फेरबदल होंगे। डा. अनूप पांडेय से वरिष्ठ आईएएस अफसरों को सचिवालय से विदाई दे दी गई है। जिन लोगों को सचिवालय से विदाई दी गई है, उनमें राज प्रताप सिंह, चंद्र प्रकाश प्रथम, चंचल कुमार तिवारी और संजीव सरन शामिल हैं।

फेरबदल की खास बात यह है कि कई वरिष्ठ आईएएस मुख्यधारा में लौटे हैं, लेकिन वरिष्ठ आईएएस अफसर नवनीत सहगल को महत्वपूर्ण पद न मिलना ब्यूरोक्रेसी में चर्चा का सबब बना है। खास बात यह भी है कि मेरठ मंडल के कमिश्नर के रूप में कई घोटालेबाजों को जेल भेजने वाले डा. प्रभात कुमार को ब्यूरोक्रेसी की नंबर दो कृषि उत्पादन आयुक्त (एपीसी) की कुर्सी पर बिठाया गया है। उनसे उम्मीद की जा रही है कि कृषि और पशुधन सहित एपीसी ब्रांच में आने वाले कई विभागों के घोटालों का वे खुलासा कर सकेंगे। 

यही नहीं, इस फेरबदल की एक खास बात यह भी है कि सपा सरकार में मुख्यमंत्री की प्रमुख सचिव रहीं अनीता सिंह को राष्ट्रीय एकीकरण जैसे एकदम महत्वहीन पद पर तैनात कर साइड लाइन कर दिया गया था। अब वे करीब सवा साल बाद प्रमुख सचिव लघु सिंचाई बनकर मुख्यधारा में लौटी हैं। सपा सरकार में महत्वपूर्ण पदों पर तैनात रहे जितेंद्र कुमार भाजपा सरकार आते ही सामान्य प्रशासन व भाषा जैसे विभाग में भेजकर साइडलाइन कर दिए गए थे, लेकिन वे भी अब मुख्य धारा में लौट आए हैं। 

वर्षों से सचिवालय में जमीं अनीता मेश्राम को मेरठ के कमिश्नर पद पर भेजा गया है लेकिन चर्चा है कि वे वहां जाने की कम इच्छुक हैं। इसीलिए वे मुख्य सचिव से भी मिलने एनेक्सी पहुंचीं। इस फेरबदल में मनोज सिंह, आलोक सिन्हा, कल्पना अवस्थी और रेणुका कुमार को वर्तमान विभागों के साथ राजस्वअतिरिक्त विभाग आवंटित करके उनका कद बढ़ाया गया है। 

मुरादाबाद के कमिश्नर राजेश कुमार सिंह को प्रमुख सचिव औद्योगिक विकास के साथ-साथ एमडी यूपीएसआईडीसी बनाकर सरकार ने उनमें खास भरोसा जताया है। प्रमुख सचिव आवास से हटाकर प्रमुख सचिव रेशम जैसे महत्वहीन पद पर भेजे गए मुकुल सिंहल को एक बाद फिर अपर मुख्य सचिव नियुक्ति एवं कार्मिक बनाकर महत्वपूर्ण पद दिया है।
      
मुख्य सचिव से मिलने वालों का तांता
मुख्य सचिव अनूप पांडेय से उनके पहले कार्यदिवस को मिलने वालों का तांता लगा रहा। उनसे मिलने वालों में ज्यादातर अफसर, पूर्व मंत्री, विधायक व सांसद आदि बधाई देने वाले थे। लेकिन कुछ ऐसे भी अफसर दिखे जो अपना तबादला रुकवाने या बदलवाने के लिए मिलने के लिए आए थे। कुछ तबादले के डर से उन्हें अपना चेहरा दिखाने पहुंचे। उनके साथ रहे कुछ रिटायर अफसर भी उन्हें बधाई देने पहुंचे।  

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:IAS transfer CM Yogi created Prabhat Kumar to open scandal made Anita and Jitendra return to mainstream in uttar pradesh