ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशमैं अमेठी का था, हूं और रहूंगा, रिश्ते बता राहुल ने छेड़ा भावनाओं का तार

मैं अमेठी का था, हूं और रहूंगा, रिश्ते बता राहुल ने छेड़ा भावनाओं का तार

अमेठी में जनसभा के दौरान इस बार अधिक मुखरता से राहुल गांधी ने खुद को अमेठी और अमेठी को खुद से जोड़ने की कोशिश की। उन्होंने कहा कि मैं अमेठी का था, हूं और रहूंगा।

मैं अमेठी का था, हूं और रहूंगा, रिश्ते बता राहुल ने छेड़ा भावनाओं का तार
Deep Pandeyचिंतामणि मिश्र,अमेठीSat, 18 May 2024 11:38 AM
ऐप पर पढ़ें

नंद महर का वही पुराना मैदान था जहां 2019 में राहुल गांधी रैली करने के लिए आए थे लेकिन इस बार काफी कुछ बदला हुआ था। तब राहुल गांधी इस मैदान से अपने लिए वोट मांग रहे थे जबकि शुक्रवार को किशोरी लाल शर्मा के लिए वोट मांग रहे थे। हालांकि इस बार अधिक मुखरता से राहुल गांधी ने खुद को अमेठी और अमेठी को खुद से जोड़ने की कोशिश की।राहुल गां धी ने अपने संबोधन की शुरुआत ही अमेठी से रिश्ते को बयां करते हुए की। कहा कि मैं 42 साल पहले यहां आया था। जब मैं 12 साल का बच्चा था तो पहली बार अपने पिता के साथ यहां आया। मैंने अपनी आंखों से अपने पिता और अमेठी के बीच मोहब्बत भरा रिश्ता देखा है। मेरी भी ऐसी ही राजनीति है। ऐसा मत समझिए कि मैं रायबरेली से चुनाव लड़ रहा हूं। मैं अमेठी का हूं, अमेठी का था और रहूंगा। राहुल ने यह कहते हुए अमेठी छोड़ कर चले जाने की बातों का जवाब देने की कोशिश की।

उन्होंने मंच से न सिर्फ संविधान की प्रति दिखाते हुए सुरक्षित रखने का वादा किया बल्कि भाजपा सरकार और प्रधानमंत्री मोदी पर भी हमलावर रहे। अपने घोषणा पत्र की एक-एक बात को बारीकी से समझाते नजर आए तो भाषण का अंत भी भावनात्मक रिश्ते को मजबूती देते हुए किया। राहुल ने कहा कि मैं रायबरेली का एमपी रहूंगा लेकिन मैं भी अमेठी का एमपी हूं। जो भी रायबरेली के लिए होगा वही अमेठी के लिए भी होगा। कहा कि मैं दिल से आपसे जुड़ा हूं। मैं आपका हूं और जो भी आप मुझसे चाहेंगे, हमारी सरकार बनेगी, आपको मिलेगा। राहुल ने कहा भाजपा ने आपकी इमेज को नुकसान पहुंचाया है। आपसे फूड पार्क छीन लिया और राइफल फैक्ट्री का कॉन्ट्रैक्ट छीन लिया। मैं फूड पार्क फिर से बनवाऊंगा। मैं चाहता हूं अमेठी चमकता सितारा हो। पूरे देश में आपका नाम हो।

किशोरी लाल को मंच पर लगाया गले
राहुल गांधी ने किशोरी लाल को मंच पर ही गले लगा लिया। उन्होंने कहा कि मेरे पिता ने पूरे देश में 150 कोऑर्डिनेटर बनाए थे। उनमें से कई एमएलए एमपी बन गए। कई पीसीसी में अध्यक्ष बन गए, लेकिन यह कार्यकर्ता बने रहे। किशोरी लाल में अहंकार नहीं है। यह खून पसीने से आपकी सेवा करेंगे। लोकसभा के भीतर आपकी आवाज उठाएंगे। 

मंच पर यह रहे मौजूद
राजस्थान के पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव केसी वेणुगोपाल, कांग्रेस जिलाध्यक्ष प्रदीप सिंघल, सपा जिलाध्यक्ष राम उदित यादव, पूर्व एमएलसी दीपक सिंह, धीरू तिवारी, योगेंद्र मिश्र समेत कई नेता मौजूद रहे।

नहीं पहुंचे सपा के दोनों विधायक
इंडिया गठबंधन की रैली में न तो सपा से गौरीगंज के विधायक राकेश प्रताप सिंहशामिल हुए और न ही अमेठी विधायक महाराजी प्रजापति। उनके समर्थक भी रैली से नदारद नजर आए।

युवाओं ने खूब की नारेबाजी
जनसभा में सपा और कांग्रेस के युवाओं ने खूब नारेबाजी की। एक ओर से राहुल गांधी के नारे लगाते थे तो दूसरी ओर अखिलेश यादव के। युवा अपने हाथों में कई प्रकार की तख्तियां भी लेकर आए थे। रैली में आए युवा राहुल द्वारा कही गई खटाखट-खटाखट की बात भी दोहरा रहे थे।