ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशक्‍लर्क का बेटा हूं, यहां कुछ मांगने नहीं आया; रामलला के दर्शन के बाद अनुपम खेर ने बताई अयोध्‍या आने की वजह

क्‍लर्क का बेटा हूं, यहां कुछ मांगने नहीं आया; रामलला के दर्शन के बाद अनुपम खेर ने बताई अयोध्‍या आने की वजह

रामलला के दर्शन के बाद मीडिया से बात करते हुए अनुपम खेर ने कहा कि मैं भगवान से केवल सुख-शांति मांगता हूं बाकि भगवान ने सब दे दिया है। वरना मैं फारेस्‍ट डिपार्टमेंट के एक क्‍लर्क का बेटा हूं।

क्‍लर्क का बेटा हूं, यहां कुछ मांगने नहीं आया; रामलला के दर्शन के बाद अनुपम खेर ने बताई अयोध्‍या आने की वजह
Ajay Singhलाइव हिन्‍दुस्‍तान ,अयोध्‍याSat, 30 Sep 2023 01:40 PM
ऐप पर पढ़ें

Anupam Kher in Ayodhya: फिल्‍म अभिनेता अनुपम खेर ने अयोध्‍या में लगातार दूसरे दिन मंदिरों में दर्शन-पूजन कर भगवान का आशीर्वाद लिया। रामलला के दर्शन के बाद मीडिया से बात करते हुए अनुपम खेर ने कहा कि मैं भगवान से केवल सुख-शांति मांगता हूं बाकि भगवान ने सब दे दिया है। वरना मैं फारेस्‍ट डिपार्टमेंट के एक क्‍लर्क का बेटा हूं। निम्‍न वर्गीय परिवार में पैदा हुआ हूं। आज मैं यहां 540 फिल्‍में करने के बाद, 40 साल फिल्‍मों में मुझे इतना सम्‍मान मिला है। आज मैं सिर्फ भगवान का धन्‍यवाद करने आया हूं। आज मांगने नहीं आया। देश की शांति और प्रगति के लिए मैं यह काम करने आया हूं। 

खेर ने श्रीरामजन्मभूमि पर बन रहे भव्य मंदिर को करीब से देखा। शैली और नक्काशी के साथ मंदिर निर्माण की भव्‍यता को देखकर वह खुश हो गए। उन्होंने कहा कि श्री राम का ये मंदिर अद्भुत बन रहा है। अभिनेता अनुपम खेर ने काफी देर तक रामलला की स्‍तुति की। इस दौरान उन्‍होंने अपने मोबाइल से रामलला की तस्‍वीरें भी खीचीं। अनुपम खेर शुक्रवार को अपनी टीम के साथ अयोध्या पहुंचे थे। उन्होंने सबसे पहले श्रीरामजन्म भूमि में विराजमान रामलला का दर्शन किया। फिर रामलला देव स्थानम् मंदिर में यहां। यहां उन्होंने मंदिर में विराजमान भगवान की आरती उतारी और पूजन किया। मंदिर के पीठाधीश्वर जगद्गुरु रामानुजाचार्य स्वामी राघवाचार्य ने अंगवस्त्रत्त्म भेंटकर उनका स्वागत किया और उनके उद्देश्य की पूर्ति के लिए आशीर्वाद भी दिया।

इसके उपरांत अयोध्या के हनुमानगढ़ी पर बनाए गये डाक्यूमेंट्री का अनावरण किया गया। इस अवसर पर उन्होंने बताया कि 21 हनुमान मंदिरों के बाद शिव मंदिर व भगवान श्रीकृष्ण के मंदिरों पर भी डाक्यूमेंट्री बनाई जाएगी। उन्होंने बताया कि इस डाक्यूमेंट्री सीरीज का उद्देश्य दुनिया को सनातन के इतिहास से परिचित कराना है। विदेशों और महानगरों में रह रहे लोगों को यह नहीं पता कि आखिर वह किस शहर में किस मंदिर में जाएं। इस सीरीज के माध्यम से बुजुर्ग के साथ युवा भी प्रेरित होंगे और सनातन धर्म को भी जानने में उन्हें सुविधा होगी।

भारत में जी-20 का सफल आयोजन बड़ी उपलब्धि एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि राम मंदिर वह स्थान है जिसके लिए पांच सौ सालों तक प्रतीक्षा करनी पड़ी। यही सनातन धर्म जो हमें धैर्य रखने की शिक्षा देता है। उन्होंने देश के विकास के संदर्भ को जोड़ते हुए जी-20 के सफल आयोजन को बड़ी उपलब्धि बताया और कहा कि भारत दुनिया की पांचवीं आर्थिक शक्ति बन गया है। उन्होंने कहा कि यह शक्ति इन्हीं मंदिरों से है। उन्होंने कहा कि कश्मीर फाइल्स मकसद में कामयाब रही, आज हर जगह कश्मीर और कश्मीरियों की चर्चा हो रही है। धारा 370 के हटने के बाद कश्मीर के लाल चौक सहित अन्य इलाकों में तिरंगा फहराया गया। यह घटना 30 साल बाद हो रही है। मुझे उम्मीद है कि मै अपनी मां को कश्मीर में अपने पैतृक घर ले जा सकूंगा।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें