ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशआगरा में सामूहिक आत्‍महत्‍या, भावुक सुसाइड नोट लिख पति-पत्‍नी और बेटी ने खुद को लगाई फांसी; लंबी बेरोजगारी को बताया वजह 

आगरा में सामूहिक आत्‍महत्‍या, भावुक सुसाइड नोट लिख पति-पत्‍नी और बेटी ने खुद को लगाई फांसी; लंबी बेरोजगारी को बताया वजह 

यूपी के आगरा में एक परिवार ने लंबी बेरोजगारी से तंग आकर सामूहिक आत्‍महत्‍या कर ली। पुलिस को कमरे से एक भावुक सुसाइड नोट मिला है। मरने वालों पति, पत्‍नी और बेटी शामिल है। एक छोटा बच्‍चा बच गया है।

आगरा में सामूहिक आत्‍महत्‍या, भावुक सुसाइड नोट लिख पति-पत्‍नी और बेटी ने खुद को लगाई फांसी; लंबी बेरोजगारी को बताया वजह 
Ajay Singhहिन्‍दुस्‍तान,आगराWed, 06 Jul 2022 10:44 AM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

यूपी के आगरा में सामूहिक आत्‍महत्‍या का मामला सामने आया है। सिकंदराबाद थाना क्षेत्र की आवास विकास कॉलोनी के सेक्‍टर-10 के एक घर में पति-पत्‍नी और बेटी के शव फंदे से लटकते मिले। पुलिस को मौके पर मिले एक सुसाइड नोट में बड़े भावुक ढंग से यह आत्‍मघाती कदम उठाने की वजह बताई गई है। बताया गया है कि परिवार का मुखिया लंबे समय से बेरोजगार था। सामूहिक रूप से जान देने के इस फैसले में पत्‍नी और बेटी ने अपनी सहमति सुसाइड नोट में जताई है। जबकि इस पूरे घटनाक्रम से डरे-सहमे छोटे बेटे घर के निचले तल पर जाकर परिवार के अन्‍य सदस्‍यों को बताया कि उसके माता-पिता और बहन ने शायद जान दे दी है। 

बच्‍चे की सूचना पर घरवालों ने जब पहली मंजिल पर जाकर देखा तो वहां कमरे में तीनों के शव फंदे से लटकते मिले। सूचना पर पहुंची पुलिस ने तीनों के शव नीचे उतारकर पोस्‍टमार्टम के लिए भिजवाया। सोनू शर्मा और उनका परिवार घर की पहली मंजिल पर रहता था जहां अपने कमरे में उन्‍होंने यह आत्‍मघाती कदम उठाया।

यह भी पढ़ें: Kanpur Double Murder: मां-बाप के बाद भाई के कत्‍ल को भी तैयार थी कोमल, इस वजह से बच गई जान

इंस्पेक्टर सिकंदरा आनंद कुमार शाही ने बताया कि घर के भूतल पर सोनू शर्मा के पिता और भाई का परिवार रहता है। प्रथम तल पर सोनू शर्मा उनकी पत्नी गीता और बेटी सृष्टि रहते थे। बुधवार सुबह सोनू और उनकी बेटी नीचे उतर के नहीं आए तब परिवार के लोगों में ऊपर जाकर देखा। 

खिड़की से देखा तो तीनों फंदे से लटके हुए थे। पुलिस मौके पर पहुंच गई और तीनों के शव नीचे उतार लिए गए हैं। सोनू के पिता का ट्रांसपोर्ट नगर में ट्रकों की बॉडी मेकिंग का काम है। सोनू शर्मा इस समय बेरोजगार थे। इंस्पेक्टर सिकंदरा ने बताया कि कमरे की तलाशी ली जा रही है। खुदकुशी का कारण पता करने का प्रयास किया जा रहा है।

 

बच्‍चा बोला-कमरे में नहीं जाऊंगा...
बताया जा रहा है कि पूरा परिवार एक ही कमरे में साथ सोया था। सुबह करीब सात बजे सोनू का बेटा श्याम नीचे आया और खेलने लग गया। जब उसके एक परिचित ने उससे कुछ सामान मंगाया तो उसने घर में जाने से इंकार कर दिया। उसने बताया कि मैं ऊपर नहीं जाऊंगा, मम्मी-पापा और बहन लटके पडे़ हैं। मुझे डर लग रहा है। इसके बाद लोगों को घटना की जानकारी हुई। 
सोनू के जीजा विजय कश्यप और अन्य लोग घर में पहुंचे। देखा तो तीनों के शव फंदे से लटके हुए थे। लोगों ने पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने शवों को फंदे से नीचे उतारा।