ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशबाराबंकी के ऑक्सीजन प्लांट में जोरदार धमाका, एक के बाद एक फटे तीन सिलेंडर, कर्मचारी के चीथड़े उड़े

बाराबंकी के ऑक्सीजन प्लांट में जोरदार धमाका, एक के बाद एक फटे तीन सिलेंडर, कर्मचारी के चीथड़े उड़े

बाराबंकी से एक दर्दनाक हादसा सामने आया है। जहां सोमवार को ऑक्सीजन प्लांट में जोरदार धमाका हुआ। जिससे मौके पर अफरा तफरी मच गई। इस घटना में एक मजदूर की मौत हो गई।

बाराबंकी के ऑक्सीजन प्लांट में जोरदार धमाका, एक के बाद एक फटे तीन सिलेंडर, कर्मचारी के चीथड़े उड़े
Pawan Kumar Sharmaलाइव हिन्दुस्तान,बारांबकीMon, 13 May 2024 08:17 PM
ऐप पर पढ़ें

यूपी के बाराबंकी से एक दर्दनाक हादसा सामने आया है। जहां एक ऑक्सीजन प्लांट में जोरदार धमाका हुआ। इससे मौके पर अफरा तफरी मच गई। वहीं एक कर्मचारी की मौके पर ही मौत हो गई। जबकि कई घायल हो गए। सूचना मिलने पर मौके पर पहुंची पुलिस ने घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया। वहीं, अब तक धमाके की वजह का पता नहीं चल सका है। 

लखनऊ-अयोध्या नेशनल हाईवे से बाराबंकी आने वाले मार्ग पर धरसनिया गांव में मुख्य मार्ग पर सारंग आक्सीजन प्लांट है। सोमवार को सुबह सभी गाड़ियों को लोड करके निकल गया था। प्लांट में लालाजी यादव और राजेंद्र ही मौजूद थे। प्लांट के बाहर टीन शेड के नीचे सिलेंडर भरे रखे थे। दोपहर करीब साढ़े 12 बजे अचानक एक सिलेंडर तेज धमाके के साथ फटा, इसके बाद एक के बाद एक करके तीन सिलेंडर तेज आवाज के साथ फटे। जिसकी चपेट में आए प्लांट के कर्मचारी लालजी यादव के शरीर के चीथड़े उड़ गए। शरीर के अंग काफी दूर तक फैल गए। 

आक्सीजन प्लांट में एक के बाद एक करके तीन धमाके इतने जोरदार थे कि पड़ोस में स्थित नर्सिंग कालेज, कृषि यंत्री की फैक्ट्री के कर्मचारी दौड़कर सड़क पर आ गए। इसके बाद सभी को पता चला कि विस्फोट आक्सीजन प्लांट में हुआ है। प्लांट के गेट पर भारी संख्या में लोग जमा हो गए। लोग जैसे ही गेट के अंदर पहुंचे तो वहां का नजारा देख दंग रह गए। इस घटना में दूर खड़े एक अन्य कर्मचारी राजेन्द्र के सिर पर भी किसी सिलेंडर का कोई टुकड़ा आकर गिरा तो वह लहुलुहान हो गया था। सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने पूरे प्लांट को सील कर दिया। घायल राजेंद्र को स्थानीय एक प्राइवेट अस्पताल में इलाज के लिए भेजा गया। घटनास्थल पर डीएम सत्येंद्र कुमार व एसपी दिनेश कुमार सिंह भी पहुंच गए। मौके पर फायर ब्रिगेड की गाड़ियों के साथ एंबुलेंस भी बुलाया गया।
 
अधिकारियों को सूचना मिली थी कि कई लोगों की मौत हो गई है। लेकिन घटनास्थल पर पहुंचने के बाद एक कर्मचारी की ही मौत की पुष्टि होने पर अधिकारियों ने राहत की सांस ली। मौके पर मिले मांस के टुकड़ों को बटोरकर पुलिस ने उसे पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। पुलिस ने परिजनों को भी सूचना देकर बुला लिया। मौके पर बुलाए गए लालजी यादव के भाई राम कुमार यादव ने बोरे में भरे मांस के लोथड़े के साथ मौजूद कपड़ों के टुकड़े देख उसकी शिनाख्त लालजी के रूप में की। इस घटना को लेकर डीएम सत्येन्द्र कुमार ने कहा कि सिलेंडर भरने के दौरान हादसा हुआ कि कुछ और वजह थी। इसके लिए जांच कमेटी बनाकर जांच कराई जाएगी।