DA Image
4 जून, 2020|10:04|IST

अगली स्टोरी

क्या ताज का दीदार कर पाएंगे डोनाल्ड ट्रंप? गाड़ी ले जाने को लेकर फंसा पेच

donald trump convoy

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप अमर विलास से ताजमहल तक कैसे जाएंगे। इस पर अभी तक कोई फैसला नहीं हुआ है। अमेरिकी एडवांस की 35 सदस्यीय टीम आगरा पहुंच चुकी है और वह एयरपोर्ट से लेकर ताजमहल तक का चप्पा-चप्पा खंगाल रही है। यह तय है कि खेरिया हवाई अड्डे से ट्रंप अपनी कार बीस्ट से अमर विलास तक आएंगे। काफिले में 25 से अधिक गाड़ियां अमेरिका से आएंगी। हालांकि होटल अमर विलास से ताजमहल के रॉयल गेट तक ट्रंप कैसे जाएंगे यह अभी तय नहीं हुआ है।

साल 2015 में तत्कालीन राष्ट्रपति ओबामा को आना था। पंद्रह दिन तक ताजनगरी में तैयारियां चली, यहां तक कि अमेरिका से फ्लीट की गाड़ियां तक आ गई थीं। लेकिन आखिरी समय पर प्रोग्राम रद्द हो गया था। अमेरिकी सुरक्षा एजेंसियों ने अपने राष्ट्रपति को बैटरी बस से ताजमहल ले जाने से साफ इनकार कर दिया था। उन्होंने तर्क दिया था कि बैटरी बस बुलटप्रूफ नहीं है। जिस गाड़ी में उनके राष्ट्रपति चलते हैं, उसी से रॉयल गेट तक जाएंगे।

सुप्रीम कोर्ट के गाइड लाइन के चलते कोई अधिकारी इस पर सहमति नहीं जता पाया था। यह स्थिति इस बार भी बनेगी। उस समय क्या किया जाएगा। अधिकारी आपस में तो इस पर चर्चा कर रहे हैं मगर कोई हल अभी तक नहीं खोज पाए हैं। स्थिति यह है कि अमेरिकी एडवांस टीम से भी इस पर अभी तक कोई चर्चा नहीं हुई है।

अमेरिकी एडवांस टीम के एक-एक अधिकारी की राय बहुत महत्वपूर्ण होती है। उन्हें भेजा ही इसलिए जाता है कि माहौल और सुरक्षा का जायजा लें। कहीं कोई चूक नजर आए तो साफ बता दें। एडवांस टीम दौरा रद्द करने से पहले किसी से अनुमति भी नहीं लेती है। उनके अधिकारी ही अपने स्तर से फैसला सुना देते हैं। पिछली बार ऐसा हो चुका है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:How US President Donald Trump will enter into Taj Mahal Premises in car No decision has been made on this yet