ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशहिस्ट्रीशीटर ने रची थी अपने कत्ल की साजिश, मुकदमों से बचने के लिए परिचित युवक का कत्ल करके बिगाड़ दिया था चेहरा

हिस्ट्रीशीटर ने रची थी अपने कत्ल की साजिश, मुकदमों से बचने के लिए परिचित युवक का कत्ल करके बिगाड़ दिया था चेहरा

मेरठ जिले के खरखौदा में युवक की हत्या कर चेहरा बुरी तरह से बिगाड़ने वाले हत्याकांड का पुलिस ने सनसनीखेज खुलासा करते हुए हापुड़ के हिस्ट्रीशीटर को साथी समेत गिरफ्तार किया है। खुलासा किया गया है....

हिस्ट्रीशीटर ने रची थी अपने कत्ल की साजिश, मुकदमों से बचने के लिए परिचित युवक का कत्ल करके बिगाड़ दिया था चेहरा
Dinesh Rathourमुख्य संवाददाता,मेरठSun, 11 Feb 2024 09:01 PM
ऐप पर पढ़ें

मेरठ जिले के खरखौदा में युवक की हत्या कर चेहरा बुरी तरह से बिगाड़ने वाले हत्याकांड का पुलिस ने सनसनीखेज खुलासा करते हुए हापुड़ के हिस्ट्रीशीटर को साथी समेत गिरफ्तार किया है। खुलासा किया गया है कि हिस्ट्रीशीटर ने कोर्ट में विचाराधीन 16 मुकदमों को खत्म कराने के लिए अपनी ही मौत की साजिश रची और एक युवक को कत्ल कर लाश को अपनी पहचान देने की कोशिश की। हालांकि पुलिस को पहले से ही इस मामले में किसी षडयंत्र की आशंका थी, जिसके चलते जांच की जा रही थी। पुलिस लाइन में प्रेसवार्ता करते हुए एसएसपी रोहित सिंह सजवाण ने बताया कि मेरठ के खरखौदा थानाक्षेत्र में उलधन गांव के बाहर 30 सितंबर 2023 को एक युवक की लाश मिली थी।

मृतक का चेहरा किसी धारदार हथियार से काटकर बुरी तरह से क्षतिग्रस्त कर दिया गया था। मृतक की जेब से एक डायरी मिली, जिसमें दिलशाद निवासी घुघराला हाफिजपुर जिला हापुड़ लिखा हुआ था। शव की बरामदगी के चार दिन बाद दिलशाद की पत्नी गुलिस्ता मेरठ पहुंची और मृतक की पहचान कर ली। पुलिस ने छानबीन की तो पता चला कि दिलशाद हापुड़ पुलिस का हिस्ट्रीशीटर अपराधी है और उसके खिलाफ लूट व अन्य गंभीर अपराध के 16 मुकदमे दर्ज हैं। 

पुलिस को थी षडयंत्र की आशंका 

एसएसपी ने बताया कि पुलिस को पहले से इस मामले में साजिश की आशंका थी। पुलिस ने दिलशाद के फोटो मंगवाए थे और मृतक के शरीर के डील-डौल से मिलान का प्रयास किया। फोरेंसिक के अलावा एक्सपर्ट से राय ली गई जिसके बाद खुलासा हुआ कि लाश दिलशाद की नहीं हो सकती। पुलिस ने अपनी जांच जारी रखी और दिलशाद के परिजनों समेत उसके दोस्तों पर निगरानी बढ़ा दी। हालांकि हत्या के बाद से दिलशाद न तो अपने घर गया और न ही पत्नी से फोन पर संपर्क किया।

ऐसे पकड़ में आया दिलशाद

पुलिस ने दिलशाद के दोस्तों के बारे में छानबीन की तो खुलासा हुआ कि मुसाहिद और रिहान की लोकेशन हत्या वाले दिन मेरठ में ही थी। सर्विलांस टीम ने घटनास्थल पर जो बीटीएस उठाया उसमें हरियाणा के आकाश (जिसका कत्ल कर चेहरा बिगाड़ा गया था) का भी था, जो घटनास्थल पर चला था। पुलिस ने मुसाहिद को हिरासत में लिया तो उसने खुलासा किया कि दिलशाद ने अपने सभी मुकदमों को एक साथ बंद कराने और पुलिस रिकार्ड खत्म कराने के लिए साजिश बनाई थी। दिलशाद ने योजना बनाई थी कि अपनी कद काठी के युवक की हत्या कर लाश को दिलशाद के रूप में पहचान करा देगा। इसके बाद पुलिस मुर्दा बताकर दिलशाद के सभी मुकदमों को लेकर कोर्ट में रिपोर्ट भेज देगी। पुलिस की घर पर जाने वाली दबिश भी बंद हो जाएगी।

हरियाणा के आकाश का था शव

पूछताछ में खुलासा हुआ कि दिलशाद ने कुछ समय से मेवात में मीट का काम शुरू किया था। पुलिस ने दबिश देकर दिलशाद को गिरफ्तार कर लिया। खुलासा हुआ कि दिलशाद ने मुसाहिद और रिहान निवासी खगरौन खंडवा मध्यप्रदेश के साथ मिलकर हरियाणा के नूह निवासी आकाश प्रजापति को बहला फुसलाकर लिया और उसे साथ लेकर आ गए थे। आकाश मानसिक रूप से कमजोर था और वहां शकुंतला नामक महिला के पास रहता था। आकाश को मुसाहिद पहले से जानता था और उसे इसलिए निशाना बनाया गया क्योंकि उसका परिवार नहीं था। इसके बाद आकाश को मेरठ लाकर कत्ल किया गया। वारदात में प्रयुक्त धारदार हथियार बरामद कर लिया गया है।

ये हुए गिरफ्तार

1. दिलशाद गांव घुधराला, हाफिजपुर हापुड़
2. मुसाहिद निवासी तौड़ी, गाजियाबाद

ये आरोपी फरार

एसएसपी ने बताया कि वारदात में शामिल तीसरा आरोपी रिाहन निवासी खगरोन जिला खंडवा मध्यप्रदेश फरार है और उसकी तलाश के लिए एमपी पुलिस से मदद मांगी है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें