ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशHindustan Special: कभी हाथ गंवाने की आ गई थी नौबत, अब टीम इंडिया की आस में पसीना बहा रहा ये क्रिकेटर, IPL में भी दिखा चुका है कमाल

Hindustan Special: कभी हाथ गंवाने की आ गई थी नौबत, अब टीम इंडिया की आस में पसीना बहा रहा ये क्रिकेटर, IPL में भी दिखा चुका है कमाल

अच्छे-बुरे दिन हर किसी के जीवन में आते हैं पर उस वक्त से उबर कर आगे निकलने वाले ही इतिहास रचते हैं। मुरादाबाद के युवा क्रिकेटर मोहसिन खास की कहानी भी कुछ इसी तरह की है।

Hindustan Special: कभी हाथ गंवाने की आ गई थी नौबत, अब टीम इंडिया की आस में पसीना बहा रहा ये क्रिकेटर, IPL में भी दिखा चुका है कमाल
Pawan Kumar Sharmaविशाल शुक्ला,मुरादाबादWed, 09 Aug 2023 08:25 PM
ऐप पर पढ़ें

अच्छे-बुरे दिन हर किसी के जीवन में आते हैं पर उस वक्त से उबर कर आगे निकलने वाले ही इतिहास रचते हैं। मुरादाबाद के युवा क्रिकेटर मोहसिन खास की कहानी भी कुछ इसी तरह की है। एक इंजरी के कारण कभी इस खिलाड़ी के सामने अपना हाथ ही गंवाने की नौबत आ गई थी। शुक्र यह रहा कि डॉक्टरों ने वक्त रहते बीमारी पकड़ ली और सही वक्त पर इलाज हो गया। अब मोहसिन नेशनल क्रिकेट एकेडमी में टीम इंडिया के लिए कड़ी मेहनत से गुजर रहे हैं।

यूपी के इस खिलाड़ी का देवधर ट्राफी के लिए चयन होने के बाद भी नेशनल क्रिकेट एकेडमी (एनसीए) बेंगलुरु से कॉल आ गई। फिटनेस से ट्रेनिंग तक सब कुछ शेड्यूल में हैं। उम्मीद है कि मोहसिन जल्द टीम इंडिया में जगह बनाने में कामयाब होंगे।

नसों में जम गए थे खून के थक्के

बाएं हाथ के मीडियम पेसर मोहसिन खान की संघर्ष भरी कहानी में कई ऐसे पन्ने हैं जो किसी को भी प्रेरित करके आगे बढ़ने का रास्ता दिखा सकते हैं। खेल कैरियर के दौरान एक समय भी आया था कि मोहसिन का कैरियर दांव पर लग गया था। चोट के कारण बाएं हाथ की नसों में खून के ऐसे थक्के जमे कि हाथ सुन्न सा रहने लगा। तमाम डाक्टरों को दिखाया पर समझ में नहीं आ रहा था आखिर समस्या क्या है। मुंबई के डाक्टरों ने कई तरह की जांच के बाद इसकी असली वजह पकड़ी। एक जटिल ऑपरेशन के बाद मोहसिन ठीक हुए तो आईपीएल में लखनऊ से खेलते हुए सफलता के झंडे गाड़ दिए। किफायती और असरदार बॉलर के रूप में अपनी पहचान बनाई और केएल राहुल के व लखनऊ टीम के मेंटार के चहेते गेंदबाज भी बन गए।

मजबूत हुआ टीम इंडिया का दावा

मोहसिन का चयन कुछ समय पहले देवधर ट्राफी में चयन हो गया। मोहसिन वहां खेलने जाते इससे पहले बेंगलुरु स्थित एनसीए से बुलावा आ गया। बंगलुरु में मोहसिन इन दिनों अपनी फिटनेस से ट्रेनिंग तक पसीना बहा रहे हैं। तय माना जा रहा है कि उन्हें जल्द ही टीम इंडिया का टिकट मिलेगा और वह मुरादाबाद ही नहीं यूपी का भी नाम रोशन करेंगे। मुरादाबाद क्रिकेट एसोसिएशन के सचिव पूर्व रणजी खिलाड़ी विजय गुप्ता मानते हैं कि मोहसिन इंडिया टीम में अवश्य खेलेंगे और शहर का नाम रोशन करेंगे।

कठिन दौर से गुजर कर बाहर निकले

मोहसिन जब इस साल लखनऊ सुपर जायन्ट्स से खेल रहे थे तो उनके पिता बीमारी से लड़कर कुछ दिन पहले ही आईसीएयू से बाहर आए थे। उस कठिन दौर में भी उन्होंने पूरी तन्मयता से टीम के लिए जान झोंक दी और टीम को सफलता दिलाई। पिता को खबर मिली तो उन्हें अपने बेटे पर गर्व हुआ। बेटे ने कमाल का प्रदर्शन किया था। मोहसिन ने भी ऊपर वाले का शुक्रिया अदा किया कि पिता को अच्छा प्रदर्शन कर जीत का तोहफा दे सके।

कुछ समय इंतजार कीजिए...तुरुप का इक्का साबित होंगे मोहसिन

मुरादाबाद निवासी क्रिकेट कोच बदरुद्दीन कहते हैं कि कुछ वक्त दीजिए मोहसिन टीम इंडिया में जाएंगे और तुरुप का इक्का साबित होंगे। मोहम्मद शमी को क्रिकेट सिखाने वाले बदरुद्दीन कहते हैं कि पूत के पांव पालने में दिखाई दे जाते हैं। मोहसिन काफी प्रतिभाशाली खिलाड़ी हैं। उनके सहयोगी क्रिकेट प्रेमी नवेद सिद्दीकी कहते हैं कि मोहसिन की लगन बताती है कि वह देश के लिए खेल कर मुरादाबाद का नाम पीयूष चावला और मोहम्मद शमी की तरह रोशन करेंगे।

कई सफलताएं हैं मोहसिन के खाते में

मोहसिन खान 2022 में 20 लाख रुपये में लखनऊ सुपर जायन्ट्स टीम का हिस्सा बने।  इससे पहले वह मुंबई इंडियन्स में थे। इंजरी की वजह से दस महीने क्रिकेट से दूर रहे और 2023 में शुरूआती मैचों से दूर रहे। तीन मई 23 को चैन्नई सुपर किंग्स के विरुद्ध उन्होंने वापसी की। सबसे खास मैच उनका मुंबई इंडियन्स के विरुद्ध रहा जब उन्होंने 11 रन डिफेंड कर अपनी टीम को जीत दिला दी वह भी तब जब टिम डेविड और कैमरून ग्रीन जैसे खिलाड़ी पिच पर थे। पांच रन से यह मैच लखनऊ जीता था।

यूपी की ए लिस्ट में 2018 में शामिल हुए

मोहसिन खान 2018 में यूपी ए लिस्ट टीम में आए इसी साल मुश्ताक अली ट्राफी में बेहतर प्रदर्शन किया। उन्होंने लिस्ट ए में 17 मैच खेल कर 26 विकेट झटके। बीस ओवर के मैच में 38 मैच में उन्होंने 7 के इकनॉमी रेट से 49 विकेट लिए हैं। 2020 में मुंबई ने उन्हें बीस लाख के बेस प्राइज में लिया पर प्लेइंग इलेवन में जगह नहीं मिली। मुंबई ने हर सीजन बेंच पर ही रखा 2022 में लखनऊ ने बीस लाख बेस प्राइज में लेकर खेलने का अवसर दिया तो फिर यह गेंदबाज चमक गया।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें