DA Image
3 दिसंबर, 2020|11:00|IST

अगली स्टोरी

हिन्दुस्तान मिशन शक्तिः महिलाओं को पढ़ा-लिखा रोजगार बांट रहीं फतेहपुर की नीलम

सरकार की हर योजना समाज की सहभागिता से ही फलीभूत है, वह चाहे निरक्षरता दूर करने की ही क्यों न हो। महिलाओं को साक्षर बनाने की हर कोशिश के बीच फतेहपुर के प्राइमरी स्कूल की शिक्षिका नीलम भदौरिया ने अपने बलबूते महिलाओं को पढ़ा-लिखाकर साक्षर बनाने का बीड़ा उठाया। शिक्षित तो किया ही, उन साक्षर महिलाओँ को रोजगार भी उपलब्ध करा रही हैं।
मलवां विकास खंड के पहरवापुर स्थित प्राथमिक स्कूल की प्रधानाध्यापिका नीलम भदौरिया स्कूल बच्चों को शिक्षा देने की जिम्मेदारी बखूबी निभा रहीं थीं मगर उनके मन में गांव की निरक्षर महिलाओं और उनकी गरीबी को लेकर कुछ करने की इच्छा होती थी। यह टीस बढ़ी तो सन् 2013 में महिलाओं को साक्षर करने का बीड़ा उठाया। इसके अलावा सिलाई, कढ़ाई, ब्यूटीशियन, आचार, चटनी आदि प्रशिक्षण भी दिलाया। अब तक करीब 200 महिलाओं को आत्मनिर्भर बना चुकी हैं। इसके अलावा बालिका शिक्षा पर बराबर जोर दे रही हैं। विद्यालयों के बच्चों को अच्छी शिक्षा देते हुए उन्हें प्रदेश स्तर तक की प्रतियोगिताओं में प्रथम स्थान प्राप्त कराने में भी सफलता अर्जित की है। जिले में उत्कृष्ट विद्यालय के रूप में 2016 और 2019 में उत्कृष्ट विद्यालय पुरस्कार भी मिल चुका है। 2017 में राज्य शिक्षक पुरस्कार से भी नीलम को नवाजा गया। इसके अलावा अन्य राज्य स्तरीय पुरस्कार इनकी झोली में हैं।

 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Hindustan Mission Shakti: Neelam distributing educated jobs to women