अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हिन्दुस्तान असरः रिमूवल प्लांट से मार्क्स नगर को मिलेगा शुद्ध पानी

ग्रामीणों से जानकारी लेते अधिकारी

मकूर गांव के मार्क्स नगर के लोग अब शुद्ध पेयजल के लिए तिल-तिल नहीं मरेंगे। यहां फ्लोराइड युक्त पानी की समस्या को दूर करने के लिए रिमूवल प्लांट लगाकर गांव के लोगों को शुद्ध जल परोसा जाएगा। प्लांट लगाने के लिए विभाग ने स्टीमेट तैयार कर जिलाधिकारी को बुधवार को भेज दिया। आपके अपने अखबार हिन्दुस्तान ने इस खबर को प्रमुखता से प्रकाशित किया था। डीएम ने बताया कि गांव में जल्द ही प्लांट लगाने का काम शुरू कर दिया जाएगा। 
नवाबगंज ब्लॉक की ग्राम पंचायत मकूर के मजरे मार्क्सनगर में लोग फ्लोराइड  युक्त पानी पीने से दिव्यांगता के कगार पर पहुंच गए। गांव के तमाम लोगों की जिंदगी किसी तरह से घिसट रही थी। यहां के काफी संख्या में पुरुष महिलाएं फ्लोराइड युक्त पानी पीने से अपंगता के शिकार हो चुके हैं। फ्लोराइड की भीषण समस्या को हिन्दुस्तान ने प्रमुखता से उजागर किया था। इसी के बाद पीने के पानी की भीषण समस्या को डीएम रविकुमार एनजी ने गम्भीरता से लिया। उन्होंने जल निगम के अधिशासी अभियंता को गांव भेज रिपोर्ट प्रस्तुत करने का निर्देश दिया। डीएम के निर्देश पर एक्सईएन जल निगम देवेंद्र सिंह मंगलवार को गांव पहुंचे और लोगों से बातचीत की। उन्होंने अपनी टीम के साथ यहां शुद्ध पेयजल के लिए फ्लोराइड रिमूवल प्लांट लगाने के लिए स्टीमेट तैयार कर बुधवार को डीएम के यहां भेज दिया। एक्सईएन का कहना है कि स्टीमेट स्वीकृत होते ही प्लांट का कार्य शुरू कर दिया जाएगा।
10.26 लाख में बनेगा रिमूवल प्लांट
फ्लोराइड प्रभावित मार्क्स नगर में 10 लाख 26 हजार रुपये की लागत से फ्लोराइड रिमूवल प्लांट लगेगा। जल निगम के एक्सईएन का कहना है कि मार्क्सनगर व बाराखेड़ा का सर्वे किया, जिसमें बाराखेड़ा में फ्लोराइड टाइप 1 पाया गया। जो मानक के अनुसार ठीक है, जबकि मार्क्सनगर में फ्लोराइड की मात्रा टाइप 2 पाई गई जो मानक से दुगुना है। ऐसे में यहां का पानी पीने योग्य नहीं है।
बोरिंग होने के साथ दो पानी की टंकियां लगेंगी
मार्क्सनगर में डीप बोरिंग करायी जाएगी। इसके बाद दो-दो हजार लीटर की क्षमता की टंकियां लगायी जाएंगी। पहली टंकी में रा पानी एकत्रित किया जाएगा। यहां से पानी को रिमूवल करके दूसरी टंकी में पानी ले जाया जाएगा। इसे पोटेबुल (पीने योग्य)कहा जाएगा। इसी पानी को ग्रामीणों में आपूर्ति की जाएगी।

क्या बोले जिलाधिकारी 

फ्लोराइड प्रभावित गांव मार्क्सनगर का सर्वे कराया गया है। जल निगम के  एक्सईएन ने स्टीमेट बनाकर भेजा है। जल्द ही गांव में फ्लोराइड रिमूवल प्लांट लगाया जाएगा। इसी प्लांट से ग्रामीणों को शुद्व पेयजल उपलब्ध कराया जाएगा।
रविकुमार एनजी, जिलाधिकारी

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Hindustan Impact Marx Nagar to get clean water from Removal Plant