ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशप्रचंड गर्मी के बीच CM योगी की हाईलेवल मीटिंग, मुआवजा-राहत के निर्देश; बोले-लापरवाही बर्दाश्‍त नहीं

प्रचंड गर्मी के बीच CM योगी की हाईलेवल मीटिंग, मुआवजा-राहत के निर्देश; बोले-लापरवाही बर्दाश्‍त नहीं

सीएम योगी ने भीषण गर्मी और लू को लेकर उच्च स्तरीय बैठक में निर्देश दिया है कि संवेदनशील जिलों पर विशेष नजर रखी जाए। गर्मी से प्रभावित होने वालों के परिजनों को 24 घंटे में मुआवजा देने का निर्देश दिया।

प्रचंड गर्मी के बीच CM योगी की हाईलेवल मीटिंग, मुआवजा-राहत के निर्देश; बोले-लापरवाही बर्दाश्‍त नहीं
Ajay Singhहिन्‍दुस्‍तान,लखनऊSun, 02 Jun 2024 07:12 AM
ऐप पर पढ़ें

High level meeting of CM Yogi Adityanath: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भीषण गर्मी और लू को लेकर उच्च स्तरीय बैठक में निर्देश दिया है कि संवेदनशील जिलों पर विशेष नजर रखी जाए। लू या गर्मी से प्रभावित होने वाले प्रभावितों के परिजनों को 24 घंटे में मुआवजा देने की व्यवस्था की जाए। लू या गर्मी से जनहानि और पशुहानि न होने पाए, इसकी विशेष समीक्षा की जाए। उन्होंने यह भी कहा है कि राहत कार्यों की रिपोर्ट मुख्यमंत्री कार्यालय को हर हफ्ते दी जाए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि भीषण गर्मी को लेकर लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। अगर किसी अधिकारी की लापरवाही सामने आती है तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। उल्लेखनीय है कि प्रदेश में इस समय भीषण गर्मी और लू का दौर चल रहा है। इसको देखते हुए स्वास्थ्य विभाग और राहत विभाग पहले ही सतर्कता बरत रहा है।

लू को लेकर किया जा रहा अलर्ट
राहत आयुक्त जीएस नवीन कुमार ने बताया कि भीषण गर्मी और लू को देखते हुए विभाग की ओर से अप्रैल माह में ही एक्शन प्लान तैयार कर लिया जाता है। इसके तहत प्रदेश के हर जिले में लगातार काम किया जा रहा है। प्रदेश में तहसील स्तर पर प्रदेशवासियों को लू से अलर्ट करने के लिए लगातार प्रचार किया जा रहा है। आम जनमानस को लू से बचाव व खुद को सुरक्षित रखने के लिए क्या करो और क्या न करो के बारे में अलर्ट किया जा रहा है। प्रदेशवासियों को समाचार पत्रों, रेडियो जिंगल्स, पोस्टर और लाउडस्पीकर से जागरूक किया जा रहा है। प्रदेश के अति संवदेनशील शहरों में विशेष निगरानी की जा रही है। इन शहरों में जिला प्रशासन द्वारा गठित टीम फील्ड में लगातार मुआयना कर रही है। उन्होंने बताया कि भौगोलिक परिस्थिति को देखते हुए 21 तरह की जनहानियों को प्राकृतिक आपदा में शामिल किया गया।

स्वास्थ्य गड़बड़ हो तो हेल्पलाइन में करें संपर्क
राहत आयुक्त ने बताया कि प्रदेश में पिछले तीन-चार दिन से गर्मी और हीटवेव का प्रकोप बढ़ा है। प्रदेशवासियों से विभिन्न माध्यम से लगातार दोपहर में घर से न निकलने की सलाह दी जा रही है। इसके अलावा लू से संबंधित कोई भी संकेत नजर आने पर विभाग की ओर से जारी हेल्पलाइन नंबर पर संपर्क करने की अपील की जा रही है, ताकि उनका समुचित इलाज कराया जा सके। साथ ही लू पर जनहानि पर चार लाख का मुआवजा देने का प्रावधान है। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री के निर्देश के बाद प्रदेश के सभी डीएम को अलर्ट कर दिया गया है।

Advertisement