DA Image
2 दिसंबर, 2020|6:33|IST

अगली स्टोरी

वाराणसी: पुलिस कस्टडी से लापता BHU छात्र के मामले में हाईकोर्ट सख्त, SSP को व्यक्तिगत हलफनामे के साथ तीन को पेश होने का निर्देश

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने वाराणसी के लंका थाने से लापता बीएचयू के छात्र शिवकुमार त्रिवेदी के बारे में कार्रवाई पर नाराजगी जताते हुए थाने की पुलिस को कड़ी फटकार लगाई है। वाराणसी के एसएसपी को तीन सितम्बर को व्यक्तिगत हलफनामे के साथ हाजिर होने का निर्देश दिया है। कोर्ट ने एसएसपी से पूछा है कि 12 फरवरी को थाने में बुलाए गए छात्र के दूसरे दिन भाग जाने पर पुलिस ने क्या कार्यवाही की। कोर्ट ने इस संबंध में पुलिस द्वारा उठाए गए कदमों का पूरा ब्योरा दाखिल करने को कहा है।

यह आदेश मुख्य न्यायमूर्ति गोविंद माथुर एवं न्यायमूर्ति एसडी सिंह की खंडपीठ ने अधिवक्ता सौरभ तिवारी की पत्र जनहित याचिका पर दिया है। कोर्ट ने बीते 19 अगस्त को वाराणसी के डीएम, एसएसपी व लंका थाना इंचार्ज को नोटिस जारी कर थाने से लापता छात्र की पूरी जानकारी मांगी थी। इस क्रम में क्षेत्राधिकारी भेलूपुर ने हलफनामा दाखिल किया। 

कहा गया कि पुलिस ने कदम उठाए हैं। कोर्ट ने कहा कि 12 फरवरी को लंका थाने में छात्र को बुलाने के बाद क्या हुआ, इसकी कोई जानकारी नहीं दी गई। अपर महाधिवक्ता ने कहा कि छात्र दूसरे दिन थाने से भाग गया। कहा गया इसकी जानकारी नहीं है। एक विक्षिप्त व्यक्ति मिला है। उसके लापता छात्र होने की आशंका है। जिसकी पहचान के लिए डीएनए, बायोमीट्रिक टेस्ट कराया जा रहा है। 

कोर्ट ने कहा कि यह समझ से परे है कि एक छात्र को थाने में बुलाया गया, जो दूसरे दिन भाग गया और इसका जीडी में कोई जिक्र नहीं है। तथ्यहीन हलफनामा दाखिल किया गया है। इसपर कोर्ट ने एसएसपी को लापता छात्र के बारे में पुलिस कार्रवाई की पूरी जानकारी के साथ तीन सितम्बर को तलब किया है।

बीएचयू परिसर से छात्र को ले गई थी पुलिस
काशी हिंदू विश्वविद्यालय में बीएससी द्वितीय वर्ष का छात्र छित्तूपुर के पंजाबी लॉज में रहता था। 13 फरवरी को बीएचयू के ही एक छात्र की सूचना पर डायल 112 उसे लंका थाने ले जाती है। इसके बाद छात्र थाने से लापता हो गया और तीन दिन तक जब घरवालों का फोन नहीं उठा तो भाई और पिता बीएचयू पहुंचते हैं जहां से प्रॉक्टर को सूचना के बाद उसके कमरे पर जाते हैं, जहां दरवाजा खुला व मोबाइल और पैसों के साथ ही उसके सामान भी सुरक्षित पड़े थे।

काफी खोजबीन के बाद 16 फरवरी को छात्र की गुमशुदगी दर्ज कराई गई जिसके बाद पुलिस ने अपनी खानापूर्ति की और पिता को लेकर कुछ जगहों पर तलाश किए तथा सोशल मीडिया से लेकर अखबारों में विज्ञापन भी कराया लेकिन पता नही चला। छात्र मूलरूप से बडग़री, थाना ब्रजपुर, जिला पन्ना मध्यप्रदेश का रहने वाला है और पिता प्रदीप त्रिवेदी किसान हैं। एक छोटा भाई उमाशंकर दिल्ली यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएशन के बाद तैयारी कर रहा है। मां गायत्री की सांप काटने से 20 वर्ष  पहले ही मौत हो गई थी।

काशी की गलियों में भटक रहा है पिता
बेटे के उज्ज्वल भविष्य के लिए गरीब पिता काशी हिन्दू विश्वविद्यालय में पढ़ाई के लिए भेजा था लेकिन पिता के अरमानों पर पहाड़ टूटा और बेटा काशी की गलियों में गुम हो गया। सूचना के बाद तो घर में मातम छा गया और पिता विक्षिप्त जैसा हो गया। इसके पहले उसने अपनी पत्नी को खोया था जिसके बाद दोनों बच्चों की परवरिश खुद कर रहा था। फरवरी में बेटा के गायब होने के बाद भाई और पिता ने मंदिर, मस्जिद और गुरुद्वारा पर हाजिरी लगाई। पंडित, ज्योतिषी और ओझा के पास गया। पिता ने बेटे को पाने को आस में सारे काम किए। पास के ही बजरंगबली को मनौती मानकर अखंड ज्योति जलाई और पिता ने बेटे के नहीं मिलने तक चप्पल भी नहीं पहनने का संकल्प लिया है।

बेटे शिवकुमार की याद में उसकी फोटो लेकर लाचार पिता प्रदीप त्रिवेदी काशी की गलियों और घाटों पर दर-दर भटकता रहा। पैसे के अभाव में घाट किनारे ही रात बिताई। लॉकडाउन में कहीं खाना मिल गया तो ठीक नहीं तो काशी में भूखे पेट भी बिताया। इसकी जानकारी होने पर बीएचयू के कुछ छात्रों ने अस्सी घाट के किनारे एक आश्रम में पनाह दिलाई और रहने खाने की व्यवस्था कराई।

मदद के लिए आगे आए बीएचयू छात्र, पूर्व में हाईकोर्ट में भी लगाई गुहार
बीएचयू छात्र के गायब होने बाद उसके पिता की स्थित देखकर कई छात्र मदद को आगे आए। छात्रों ने बीएचयू के फेसबुक पेज और व्हाट्सएप ग्रुप पर फोटो व मैसेज वायरल करने के अलावा शिवकुमार के पिता के साथ घूमकर अधिकारियों से भी मुलाकात की। बीएचयू के पूर्व छात्र और हाईकोर्ट के अधिवक्ता सौरभ तिवारी ने बताया कि लंका थाने से छात्र का गायब होना पुलिस की बड़ी लापरवाही है। सौरभ तिवारी में लेटर पेटिशन भेजकर जनहित याचिका के रूप में पूरे मामले को उच्च न्यायालय में सुनने का अनुरोध किया। जिस पर सक्रिय होकर पुलिस छात्र की तलाश में जुट जाय और पिता को न्याय मिले।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:High court strict in case of missing BHU student of Lanka police station SSP summoned