ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशजनप्रतिनिधि का ऐसा कृत्य गंभीर, शस्‍त्र लाइसेंस फजीवाड़े में हाईकोर्ट ने मुख्तार अंसारी के बेटे अब्बास को नहीं दी बेल

जनप्रतिनिधि का ऐसा कृत्य गंभीर, शस्‍त्र लाइसेंस फजीवाड़े में हाईकोर्ट ने मुख्तार अंसारी के बेटे अब्बास को नहीं दी बेल

शस्त्र लाइसेंस फर्जीवाड़े में मुख्तार अंसारी के बेटे व विधायक अब्बास अंसारी की जमानत याचिका हो गई है। न्यायालय ने यह भी टिप्पणी की कि अभियुक्त ने एक जन प्रतिनिधि होने के बावजूद ऐसा कृत्य किया है।

जनप्रतिनिधि का ऐसा कृत्य गंभीर, शस्‍त्र लाइसेंस फजीवाड़े में हाईकोर्ट ने मुख्तार अंसारी के बेटे अब्बास को नहीं दी बेल
Deep Pandeyहिन्दुस्तान,लखनऊTue, 21 Nov 2023 10:50 AM
ऐप पर पढ़ें

शस्त्र लाइसेंस फर्जीवाड़े में मुख्तार अंसारी के बेटे व विधायक अब्बास अंसारी की जमानत याचिका हाईकोर्ट की लखनऊ बेंच ने खारिज कर दी। न्यायालय ने अपने आदेश में कहा है कि अभियुक्त के पास से हजारों की मात्रा में मेटल के कारतूस बरामद किए गए और ऐसे कारतूस स्पोर्ट्स शूटिंग में प्रतिबंधित हैं। न्यायालय ने यह भी टिप्पणी की कि अभियुक्त ने एक जन प्रतिनिधि होने के बावजूद ऐसा कृत्य किया है जो कि एक गम्भीर विषय है।

 यह निर्णय न्यायमूर्ति सुभाष विद्यार्थी की एकल पीठ ने अब्बास अंसारी की जमानत याचिका पर पारित किया। अभियुक्त की ओर से दलील दी गई कि उसके पास से बरामद हथियार को रखने का लाइसेंस था। चूंकि वह स्पोर्ट्स शूटर हैं, लिहाजा उसे एक लाइसेंस पर तीन असलहे रखने का अधिकार है। यह भी दलील दी गई कि शस्त्र लाइसेंस के दिल्ली में स्थानांतरित होने के सम्बंध में वहां के अधिकारियों द्वारा लखनऊ के जिलाधिकारी को पत्राचार किया गया था। लिहाजा यह नहीं कहा जा सकता कि अभियुक्त ने शस्त्र लाइसेंस के स्थानांतरण की बात छिपाई।

वहीं जमानत का विरोध करते हुए, राज्य सरकार की ओर से दलील दी गई कि अभियुक्त के पास कुल आठ असलहे बरामद किए गए थे, यही नहीं चार हजार से ज्यादा कारतूस भी बरामद किए गए थे। कहा गया कि जो असलहे व कारतूस बरामद की गए थे, वे मेटल के थे और जिन्हें स्पोर्ट शूटिंग में प्रयोग नहीं किया जा सकता है। अभियुक्त ने इन असलहों को खरीदने के लिए एक ही लाइसेंस के दो यूआईडी का इस्तेमाल किया। कहा गया था कि अभियुक्त का आपराधिक इतिहास भी है।