DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  हैलो... मैं योगी आदित्यनाथ बोल रहा हूं, कैसी तबीयत है आपकी

उत्तर प्रदेशहैलो... मैं योगी आदित्यनाथ बोल रहा हूं, कैसी तबीयत है आपकी

एजेंसी ,लखनऊPublished By: Amit Gupta
Wed, 05 May 2021 08:10 PM
हैलो... मैं योगी आदित्यनाथ बोल रहा हूं, कैसी तबीयत है आपकी

कोरोना महामारी से प्रदेश को उबारने के साथ-साथ प्रदेश के मुखिया मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ कोरोना संक्रमित मरीजों का खुद फोन करके हालचाल जान रहे हैं। बुधवार को मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने लखीमपुर में तैनात वन रक्षक अनिल कुमार को फोन करके उनका हालचाल पूछा। साथ ही कोई भी समस्‍या होने पर मोबाइल पर आए नम्‍बर पर कॉल करने का कहा। वहीं, मुख्‍यमंत्री के हालचाल पूछने पर वन रक्षक अनिल कुमार भावुक हो गए। उन्‍होंने कहा कि मुख्‍यमंत्री ने उनसे स्वास्थ्य से जुड़ी जानकारी के साथ दवाएं व जांच से जुड़े हुए सवाल किए। 

लखीमपुर में तैनात वन रक्षक अनिल कुमार 3 मई को कोरोना संक्रमित हुए थे। रिपोर्ट आने के बाद वह होम आइसोलेशन में है। अनिल कुमार ने बताया कि कोरोना संक्रामित होने के बाद जब सामान्‍य आदमी उनका हालचाल नहीं पूछ रहा है। ऐसे में मुख्‍यमंत्री के हाल पूछने से उनका हौसला बढ़ गया है। अनिल कुमार ने बताया कि करीब तीन मिनट की काल में सबसे पहले सीएम ने उनका हालचाल पूछा। उसके बाद सरकारी की ओर से होम आइसोलेशन मरीजों को दी जा रही दवाओं की जानकारी ही। इस पर अनिल कुमार ने बताया कि उनको सुबह से कई डॉक्‍टर फोन करके हालचाल पूछ चुके हैं। दवाएं व अन्‍य जरूरी वस्‍तुएं उनको पहुंचाई जा चुकी है। 

दो दर्जन से अधिक डॉक्‍टरों कर चुके हैं फोन

अनिल कुमार ने बताया कि सीएम के फोन आने से पहले ही करीब दो दर्जन से अधिक डॉक्‍टर उनको फोन कर स्‍वास्‍थ्‍य की जानकारी ले चुके हैं। कोरोना संक्रमण के दौरान ली जाने वाली सभी दवाएं निशुल्‍क उन तक पहुंचाने का काम भी स्‍वास्‍थ्‍य विभाग कर चुका है। इसके अलावा कौन सी दवा कब खाना है, भाप दिन में कितनी बार लेना है। इसकी जानकारी भी डॉक्‍टर फोन पर उनको दे रहे हैं। यही नहीं आयुष विभाग की ओर से दिया जाने वाला काढ़ा भी उनको पहुंचाया जा चुका है। 

बढ़ गया हौसला 

अनिल कुमार ने बताया कि कोरोना संक्रमित होने के बाद वह काफी डर गए थे लेकिन सुबह मुख्‍यमंत्री के हालचाल पूछने के बाद मानो उनका हौसला कई गुना बढ़ गया है। अनिल ने बताया कि कोरोना से लड़ाई के लिए असली हौसला यही है। सीएम के फोन के बाद मानो एक हिम्‍मत आ गई है इस बीमारी से लड़ने की।

संबंधित खबरें