DA Image
12 नवंबर, 2020|11:44|IST

अगली स्टोरी

यूपी में फिर हैवानियत: फतेहपुर में भी उन्नाव जैसी जघन्य वारदात, रेप पीड़िता को जिंदा जलाया

उन्नाव में दरिंदगी के बाद पीड़िता को जिंदा जलाने की घटना अभी लोग भूल भी नहीं पाए कि पड़ोसी जनपद फतेहपुर में एक और ऐसी ही वारदात ने लोगों के रोंगटे खड़े कर दिए। फतेहपुर के हुसेनगंज इलाके के एक गांव में शुक्रवार की रात पड़ोस में रहने वाले चाचा ने किशोरी के साथ दरिंदगी की। शनिवार सुबह परिजन उसे लेकर थाने जाने लगे तो आरोपित ने मिट्टी का तेल डालकर पीड़िता को जिंदा जलाने की कोशिश की। 90 फीसदी झुलसी किशोरी को आनन-फानन में जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। यहां से उसे गंभीर हालत में कानपुर के हैलट अस्पताल रेफर किया गया है। 

घर में अकेले थी युवती

युवती शनिवार सुबह घर पर अकेली थी। परिवार के लोग खेत में काम करने गए थे। तभी पड़ोसी युवक उसके घर पहुंचा और दरिंदगी की। पीड़िता के दिए बयान के अनुसार दुष्कर्म के बाद उसने परिजनों को बताने की बात कही। इस पर आरोपित उसे खींचता हुआ कमरे में ले गया और वहां रखे मिट्टी के तेल का गैलन उस उड़ेलकर आग लगा दी।

90 फीसदी झुलसी पीड़िता

आग का गोला बनने के बाद पीड़िता बचने के लिए चीखती-चिल्लाती रही। शोरगुल सुनकर पड़ोसियों ने उस पर जूट का बोरा डालकर किसी तरह आग बुझाई और परिजनों को सूचना दी। आनन-फानन में उसे जिला अस्पताल पहुंचाया गया। यहां नाजुक हालत देखते हुए कानपुर रेफर कर दिया गया। फतेहपुर जिला अस्पताल की इमरजेंसी में तैनात डॉ. नरेश विशाल ने बताया कि पीड़िता 90 फीसदी झुलस गई है। पैर के निचले हिस्से ही शेष बचे हैं। बाकि शरीर बुरी तरह झुलस गया है।

मजिस्ट्रेट के सामने चीखी पीड़िता, मुझे बचा लो

जिला अस्पताल पहुंची पीड़िता चीखती रही थी। महिला इंस्पेक्टर के साथ बयान लेने पहुंचे नायब तहसीलदार के सामने पीड़िता बचाने के लिए चिल्ला पड़ी। मजिस्ट्रेट द्वारा घटना के बारे में पूछने पर वह बार-बार चिल्लाती रही...साहब मुझे बचा लो, मै मरना नहीं चाहती। बेटी की हालत देखकर उसके परिजन भी दहाड़े मारकर बिलख रहे थे। वहीं, सीओ सिटी केडी मिश्रा ने बताया कि पीड़िता के भाई ने पुलिस को तहरीर दी है। आरोपित के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया जा रहा है।

डीएम-एसपी ने पीड़िता के गांव में डेरा डाला

उन्नाव जैसी घटना घटित होने पर अफसरों में हड़कंप मच गया। डीएम संजीव सिंह और एसपी प्रशांत वर्मा पीड़िता को रेफर किए जाने के बाद उसके गांव पहुंचे। उन्होंने गांव के लोगों से घटना के बावत जानकारी ली और परिजनों को भरोसा दिया कि आरोपित को सख्त सजा दिलाने का भरोसा दिया।

आरोपित परिवार समेत फरार

दरिंदगी को अंजाम देने वाला आरोपित फरार हो गया। दहशत में उसके परिजन भी ताला बंदकर गांव से निकलकर बाहर चले गए। अफसरों के पहुंचने पर आरोपित के परिजनों की तलाश कराई गई लेकिन किसी का पता नहीं चला।

पीड़िता की हालत बेहद नाजुक : हैलट अस्पताल

करीब 90 फीसदी जली युवती की हालत बेहद नाजुक है। उसे जीएसवीएम मेडिकल कॉलेज के हैलट अस्पताल में भर्ती कराया गया है। मेडिकल अफसर डॉ. अनुराग राजूरिया के मुताबिक पीड़िता को सेंट्रल ऑक्सीजन लाइन डाली गई। उसे माइनर ओटी ले जाया गया है। स्टेबल करने के बाद बर्न वार्ड में शिफ्ट किया जाएगा। दो बार प्रमुख सचिव ने हैलट के प्रमुख अधीक्षक आरके मौर्य से इस संदर्भ में बात की है। गायनी से मेडिकल की टीम को भी बुला लिया गया है। हालत ठीक नही है। हैलट अस्पताल के प्रमुख अधीक्षक प्रो. आरके मौर्या का कहना है की शासन को मौखिक जानकारी दी जा रही है। युवती का बेहतर उपचार शुरू कर दिया गया है।


दो साल से चल रहा था प्रेम-प्रसंग, सुबह हुई थी पंचायत : डीएम
पिछले दो साल से युवती व आरोपित पड़ोसी चाचा के बीच प्रेम-प्रसंग चल रहा था। शनिवार सुबह गांव में पंचायत हुई थी। जिसमें यह फैसला हुआ कि दोनों को अलग-अलग रहना पड़ेगा। इससे क्षुब्ध होकर आग लगने की घटना हुई है। पीड़िता के भाई की तहरीर पर रिपोर्ट दर्ज कर ली गई है। गांव में पुलिस फोर्स तैनात कर दिया गया है। 
संजीव सिंह, जिलाधिकारी, फतेहपुर 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Rape in Uttar Pradesh Heinous incidents like Unnao in Fatehpur Crime news