ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशपरिवार के मुखिया को आंखों की शर्म नहीं खोनी चाहिए, मुजरा वाले बयान पर प्रियंका का मोदी पर पलटवार

परिवार के मुखिया को आंखों की शर्म नहीं खोनी चाहिए, मुजरा वाले बयान पर प्रियंका का मोदी पर पलटवार

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाद्रा ने शनिवार को प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी के बिहार में दिये गये भाषण पर तीखा पलटवार करते हुए कहा कि परिवार के मुखिया को कभी आंखों की शर्म नहीं खोनी चाहिए।

परिवार के मुखिया को आंखों की शर्म नहीं खोनी चाहिए, मुजरा वाले बयान पर प्रियंका का मोदी पर पलटवार
Dinesh Rathourभाषा,गोरखपुरSat, 25 May 2024 06:39 PM
ऐप पर पढ़ें

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाद्रा ने शनिवार को प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी के बिहार में दिये गये मुजरा वाले बयान पर तीखा पलटवार करते हुए कहा कि परिवार के मुखिया को कभी आंखों की शर्म नहीं खोनी चाहिए। गोरखपुर में सपा प्रमुख अखिलेश यादव की मौजूदगी में 'इंडिया' गठबंधन की गोरखपुर की उम्मीदवार काजल निषाद और बांसगांव संसदीय क्षेत्र के उम्मीदवार सदल प्रसाद के समर्थन में आयोजित चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए प्रियंका गांधी ने भोजपुरी में 'रऊवा सभे के राम-राम' बोलकर भीड़ का अभिवादन किया। उन्होंने बिहार की एक चुनावी सभा में प्रधानमंत्री मोदी के दिए गए मुजरा वाले भाषण का जिक्र करते हुए कहा, 'मोदी जी ने बिहार में भाषण दिया और विपक्ष के नेताओं के लिए ऐसे-ऐसे शब्द बोले जो देश के इतिहास में किसी प्रधानमंत्री ने नहीं बोले होंगे।'

कांग्रेस महासचिव ने प्रसिद्ध संत बाबा गोरखनाथ की एक रचना 'मन में रहिबा, भेद न करिबा बोलबा अमृतवाणी...' सुनाते हुए कहा, 'प्रधानमंत्री पद का पूरा देश आदर करता है, हम भी आदर करते हैं।' उन्होंने जनता से सवाल करते हुए कहा, 'आपकी आस्था, आपकी आशाएं, मोदी जी से एक समय में जुड़ी थीं, लेकिन क्‍या प्रधानमंत्री की जिम्मेदारी नहीं बनती कि वह पद की गरिमा रखें, पद की मर्यादा रखें।' कांग्रेस नेता ने तंज किया, 'आज जिस-जिस तरह से वह (मोदी) बोल रहे हैं, अफसोस की बात ये है कि उनकी असलियत दिखाई देने लगी है।' प्रधानमंत्री को सीधे लक्ष्य करते हुए कांग्रेस महासचिव ने कहा, 'मोदी जी आप देश के प्रधानमंत्री हैं, इतनी भी अपनी असलियत मत दिखाइए।

आपने देश को अपना परिवार कहा है, देश आपके परिवार समान है।' नसीहत भरे अंदाज में प्रियंका ने कहा, 'परिवार का जो मुखिया होता है, हमेशा परिवार के सदस्यों की एक दूसरे के प्रति आंखों की एक शर्म होती है, वह नहीं खोनी चाहिए, वह हमेशा रखनी चाहिए।' उन्होंने आरोप लगाया, 'प्रधानमंत्री जी बौखलाहट में आ गए हैं। वह भूल गये हैं कि देश के प्रतिनिधि हैं, आपके प्रतिनिधि हैं और इस तरह के शब्द उनके मुंह से नहीं निकलने चाहिए।' इससे पहले दिन में, पटना की एक चुनावी रैली में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने विपक्षी गठबंधन 'इंडिया' पर तीखा हमला किया और उस पर मुस्लिम वोट बैंक के लिए 'गुलामी' और 'मुजरा' करने का आरोप लगाया। प्रधानमंत्री ने पाटलिपुत्र लोकसभा क्षेत्र में एक रैली में विपक्ष पर तीखा हमला करते हुए कहा, 'बिहार वह भूमि है जिसने सामाजिक न्याय की लड़ाई को एक नई दिशा दी है।

मैं इसकी धरती पर यह घोषणा करना चाहता हूं कि मैं एससी, एसटी और ओबीसी के अधिकारों को लूटने और उन्हें मुसलमानों को देने की 'इंडिया' गठबंधन की योजनाओं को विफल कर दूंगा। वे गुलाम बने रह सकते हैं और अपने वोट बैंक को खुश करने के लिए 'मुजरा' कर सकते हैं।' प्रियंका गांधी ने कहा, 'यह महात्मा बुद्ध, संत कबीर, गुरु मत्स्येंद्र नाथ, गुरु गोरखनाथ की धरती है और यहां आकर मुझे बहुत गर्व महसूस हो रहा है। यह धरती एक पवित्र धरती है, हमेशा यहां से प्रेम, न्‍याय, सद्भाव का संदेश पूरे देश में गया है। यही संदेश संविधान की नींव है, यही हमारे समाज, हमारी संस्कृति का आधार है और यही हमारे देश के लोकतंत्र की नींव है।' कांग्रेस महासचिव ने दावा किया कि देश में आज 70 करोड़ लोग बेरोजगार हैं और 45 साल में सबसे ज्यादा आज देश में बेरोजगारी है, यह सबसे बड़ी समस्या है। कांग्रेस महासचिव ने पूछा, 'क्‍या मोदी जी इसके बारे में बात करते हैं, मोदी जी के मुंह से आपने बेरोजगार शब्द सुना है। क्या अब वह समय आ गया है कि प्रधानमंत्री मोदी जी को बताया जाए कि बेरोजगारी क्या होती है।' गोरखपुर और बांसगांव में सातवें चरण में एक जून को मतदान होगा।

बिहार में क्या बोले थे प्रधानमंत्री मोदी

दो दिन पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बिहार के दौरे पर थे। पीएम मोदी ने बिहार में रैलियों को संबोधित कर रहे थे। इस दौरान पीएम ने कांग्रेस और राजद पर तीख प्रहार किया था। एक रैली को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा, वह एससी, एसटी और ओबीसी को उनके आरक्षण से वंचित करने और इसे मुसलमानों की ओर मोड़ने की विपक्षी भारतीय गुट की योजनाओं को विफल कर देंगे। पीएम ने कहा था, विपक्षी गुट गुलाम बने रह सकते हैं और अपने वोट बैंक को खुश करने के लिए 'मुजरा' कर सकते हैं।