DA Image
19 अक्तूबर, 2020|11:24|IST

अगली स्टोरी

हाथरस केस: सबूत देने के चक्कर में सूख रही आठ बीघा फसल, अब सरकार से मांगा मुआवजा

hathras gangrape case eight bigha crop dried up due to giving evidence to cbi now demands compensati

यूपी के हाथरस जिले में चंदपा कोतवाली क्षेत्र के गांव बूलगढ़ी में 14 सितंबर को जिस खेत में वारदात हुई वहां लगी बाजरा की फसल सूख गई है। सबूत नष्ट न हो, लिहाजा खेत में किसान पानी नहीं लगा सका। करीब आठ बीघा बाजरा खराब हो गया। किसान ने सरकार से मुआवजे की मांग की है।

बूलगढ़ी गांव से करीब आधा किलोमीटर पहले एक खेत में ही युवती के संग वारदात हुई थी। इस खेत का मालिक छोटू व उसका बड़ा भाई सोम सिंह है। उनके पिताजी का वर्ष 2018 में देहांत हो चुका है। दोनों भाइयों के पास करीब 12 बीघा पुश्तैनी खेत है। इसी से परिवार का पालन पोषण करते हैं। सोम सिंह ने बताया कि जब यहां वारदात हुई तो पुलिस प्रशासन ने कुछ दिन के लिए फसल में पानी लगाने से मना कर दिया। उसके बाद फसल काटने से रोक दिया गया। जिस खेत में घटना हुई, उसके आसपास भी सोम सिंह फसल नहीं काट सके। आठ बीघा में उनका बाजरा अब सूख गया। उनका कहना है कि जब से घटना हुई है वह दो बार तो खेत में पानी लगा ही देते। बाजरा सूखता नहीं, लेकिन पुलिस ने मना कर दिया था। जब सीबीआई आई तो उसने फसल के बारे में भी पूछा। जहां घटना बताई जा रही है उस स्थल को छोड़कर बाकी खेत में फसल काटने की अनुमति दे दी गई। सोम सिंह ने बताया कि अब वह बाकी खेत की फसल काट रहे हैं, लेकिन कोई फायदा नहीं। बाजरा सूख चुका है।

सोम सिंह, खेत मालिक का कहना है कि हमारे पास 12 बीघा खेत है। चार बीघा में पशुओं के लिए चारा उगाया है। वह थोड़ा दूर है। आठ बीघा बाजरा की फसल इस घटना के कारण बर्बाद हो गईर्। सिंचाई न होने से फसल सूख गई। पिछले साल आठ बीघा बाजरा करीब 70 हजार रुपये का बिक गया था। गरीब मार हो गई। अब हमारी भी सुनवाई होनी चाहिए। सरकार मुआवजा दे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Hathras gangrape case eight bigha crop dried up due to giving evidence to CBI now demands compensation from yogi government