DA Image
1 नवंबर, 2020|8:43|IST

अगली स्टोरी

हाथरस केस : सीआरपीएफ के जवान करेंगे पीड़ित परिवार की हिफाजत

हाथरस के गांव बूलगढ़ी निवासी पीड़ित परिवार को अब केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) की सुरक्षा प्राप्त होगी। देश की सर्वोच्च अदालत ने इसके आदेश जारी किए थे। जवानों की तैनाती से पहले शनिवार को रामपुर की 239 वीं बटालियन के कमाण्डेंट यहां पहुंचे। रविवार से सीआरपीएफ सुरक्षा का जिम्मा संभाल लेगी।

सीआरपीएफ के कमांडेंट मनमोहन सिंह दोपहर में कोतवाली चंदपा पहुंचे और सीओ सादाबाद से काफी देर वार्ता की। इसके बाद जवानों के ठहरने के स्थल को देखने के लिए निकले। चंदपा के आसपास कई विद्यालयों व महाविद्यालयों का स्थलीय मुआयना किया। आखिरकार तय हुआ कि रोहई गांव के कॉलेज में जवानों का पड़ाव होगा। इसके बाद चंदपा कोतवाली के इंस्पेक्टर लक्ष्मण सिंह के साथ कमांडेंट पीड़िता के गांव बूलगढ़ी पहुंचे।

गांव के बारे में इंस्पेक्टर ने जानकारी दी। हर रास्ते के बारे में बताया। पीड़िता के घर व आसपास की भी जानकारी दी। पीड़िता के घर पहुंचकर उन्होंने यहां पुलिस व पीएसी की सुरक्षा को जाना। छत से किस प्रकार निगहबानी हो रही है, इस बारे में पता किया। पीड़ित परिवार के हर सदस्य से इंस्पेक्टर ने कमांडेंट से मुलाकात कराई। पीड़ित परिवार से उन्होंने बात की। जानकारी ली कि अभी तक की सुरक्षा से वे संतुष्ट हैं या नहीं। निजी सुरक्षागार्ड के रूप में तैनात पुलिसवालों के बारे में भी कमांडेंट ने जानकारी ली।

कमांडेंट के संग मौजूद चंदपा इंस्पेक्टर ने बताया एक कंपनी में 80 सुरक्षाकर्मी हैं। करीब दो दर्जन महिला सुरक्षाकर्मी भी यहां तैनात होंगी। रोहई के एक महाविद्यालय में सुरक्षाकर्मी ठहरेंगे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Hathras case: CRPF personnel will protect the victim family