DA Image
26 अक्तूबर, 2020|8:47|IST

अगली स्टोरी

हाथरस केस : खेत में जहां हुई थी वारदात, वहां की मिट्टी CBI ले गई अपने साथ 

hathras case cbi took soil where gang rape in the farm

हाथरस के बूलगढ़ी गांव मे कथित गैंगरेप की सीबीआई जांच सोमवार को भी जारी रही। टीम सबसे पहले घटना स्थल पहुंची और अधिकारियों ने घटनास्थल से थोड़ी सी मिट्टी को लिया। इसके बाद टीम थाना चंदपा आ गयी। यहां चंदपा के तीन युवकों को थाने बुलाकर पूछताछ की। 

सीबीआई की जांच तेजी से चल रही है। चौदह दिन से टीम हाथरस में ही रुककर जांच पड़ताल में जुटी है। सोमवार को सीबीआई की टीम करीब पौने ग्यारह बजे गांव बूलगढ़ी से पहले घटना स्थल पर पहुंच गयी। काफी देर तक टीम के दो सदस्य घटना स्थल पर आपस में मंत्रणा करते रहे। उसके बाद टीम ने खेत से मिट्टी ली और वापस चंदपा कोतवाली आ गयी। टीम ने चंदपा गांव के तीन लोगों को पूछताछ के लिए थाने में बुलाया। तीनों लोगों का इस पूरे प्रकरण से कहीं न कहीं ताल्लुक हो सकता है। काफी देर तक टीम चंदपा कोतवाली में रुकी रही। करीब एक घंटे तक चंदपा कोतवाली में रुकने के बाद टीम वापस कैम्प कार्यालय पर लौट आयी। कैम्प कार्यालय पर सन्नाटा रहा। कार्यालय पर टीम ने किसी को पूछताछ के लिए नहीं बुलाया। 

बुलगढ़ी गांव पहुंची बरेली की एसटीएफ

चंदपा कोतवाली में दर्ज दो मुकदमों की विवेचना नोएडा और बरेली एसटीएफ को दी गयी है। सोमवार को बरेली की एसटीएफ पहले चंदपा कोतवाली पहुंची और वहां से गांव गई और पीड़ित परिवार से मिली।  बूलगढ़ी की पीड़िता की मौत के बाद यूपी में जातीय दंगा कराने की साजिश में चंदपा पुलिस ने दो मुकदमे लिखे हैं। क्राइम नंबर 151 की विवेचना नोएडा एटीएफ कर रही है। इसमें देशद्रोह जैसी बीस संगीन धाराएं हैं। इसके अलावा क्राइम नंबर 154 की विवेचना बरेली की एसटीएफ को दी गयी है। इस मुकदमे में दंगा कराने की साजिश जैसी धाराओं में मुकदमा दर्ज है। नोएडा एसटीएफ कई दिन पहले ही हाथरस आकर मुकदमे से संबंधित कागजात ले जा चुकी है। सोमवार को बरेली की एसटीएफ के इंस्पेक्टर अजयपाल सिंह अपनी टीम के साथ दोपहर को कोतवाली चंदपा पहुंच गये। वहां इंस्पेक्टर से बातचीत की। मुकदमे से संबंधित कागजात लिये। उसके बाद टीम घटना स्थल पर पहुंच गयी। टीम ने उस जगह को बारीकी से देखा। उसके बाद टीम सीधे पीड़िता के घर पहुंच गयी। परिवार से लोगों से पूरे घटनाक्रम के बारे में जानकारी हासिल की। 

श्यौराज जीवन पर कस सकता है शिकंजा
कांग्रेस नेता श्यौराज जीवन पर शिकंजा कस सकता है। टीम ने पीड़िता के घर पहुंचने के बाद उसके पिता से पूछा कि श्यौराज जीवन कब उसके घर आये थे। कितने देर घर पर रुके थे। क्या क्या बातचीत हुर्ई थी। उसके बाद उन्होंने क्या भाषण दिये। इससे ऐसा प्रतीत होता है तो एसटीएफ उनसे भी पूछताछ करेगी। 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Hathras case CBI took soil where gang rape in the farm