DA Image
29 अक्तूबर, 2020|10:27|IST

अगली स्टोरी

हाथरस केस : सीबीआई को जेल से मिले कई महत्वपूर्ण सुराग, मेडिकल कॉलेज से मांगी सीसीटीवी फुटेज

hathras case cbi gets many important clues from jail asks cctv footage from medical college longest

हाथरस प्रकरण में सीबीआई की टीम जांच में जुटी है। चौथी बार सीबीआई जेल पहुंची और आरोपियों से पूछताछ की। सबसे ज्यादा पूछताछ मुख्य आरोपी संदीप से की गई है।अलीगढ़ जेल में बंद हाथरस प्रकरण के चारों आरोपियों से पूछताछ करने के लिए सीबीआई की टीम सोमवार को जेल पहुंची थी। टीम के सदस्यों ने जेल व एएमयू के जेएन मेडिकल कॉलेज पहुंचकर विभिन्न बिंदुओं पर जांच की थी। मेडिकल कॉलेज में पीड़िता का इलाज करने वाले चिकित्सकों से विभिन्न सवालों का जवाब मांगते हुए कुछ दस्तावेज भी मांगे थे। वहीं जेल में चारों आरोपियों से बारी-बारी से पूछताछ की गई। 

बुधवार को सीबीआई की दो टीमें अलीगढ़ जेल पहुंची थीं। गुरुवार दोपहर सीबीआई एक बार फिर से अलीगढ़ जेल व मेडिकल कॉलेज पहुंची। जेल में मुख्य आरोपियों से करीब चार घंटे तक पूछताछ की। वहीं मेडिकल कॉलेज में पीड़िता के इलाज टीम में शामिल चिकित्सकों के अलावा स्टाफ से भी बातचीत की गई। सूत्रों की मानें तो टीम को मेडिकल कॉलेज व जेल से कई महत्वपूर्ण सुराग हाथ लगे हैं।

मेडिकल कॉलेज से मांगे सीसीटीवी फुटेज :
सीबीआई की टीम ने जेएन मेडिकल कॉलेज से सीसीटीवी फुटेज मांगे हैं। पीड़िता कॉलेज में रेफर होकर कब आई और कब दिल्ली रेफर हुई, इस बीच के पूर्ण सीसीटीवी फुटेज सीबीआई की टीम ने कॉलेज प्रशासन से मांगे हैं। ऐसे में अब कॉलेज के अधिकारी फुटेज निकलने में लगे हैं। आलोक सिंह, जेल अधीक्षक ने बताया कि सीबीआई की टीम दोपहर बाद जिला कारागार पहुंची। घंटों तक गैंगरेप आरोपियों से पूछताछ करने के बाद वापस लौट गई। 

मेडिकल कॉलेज से हटाये दोनों मेडिकल ऑफिसर्स बहाल

एएमयू के जवाहर लाल नेहरू मेडिकल कॉलेज में हटाये गये दो चिकित्साधिकारियों को दो दिन बाद गुरुवार को बहाल कर दिया गया। विवि के उच्चाधिकारियों ने सीएमओ इंचार्ज की ओर से प्रस्ताव मिलने के बाद उसको पास कर दिया। अब दोनों अधिकारी शुक्रवार से पुन: ड्यूटी करेंगे। सोमवार सुबह सीबीआई की टीम मेडिकल कॉलेज पहुंची थी। टीम ने हाथरस की पीड़िता का इलाज करने वाले चिकित्सकों व स्टाफ की सूची मांगकर उनसे घंटों तक पूछताछ की थी। पूछताछ को 24 घंटे भी नहीं बीते थे कि मंगलवार दोपहर ट्रामा सेंटर और इमरजेंसी के कैजुअल्टी मेडिकल ऑफिसर इंचार्ज डॉ. एसएएच जैदी की तरफ से एक नोटिस जारी करके दो मेडिकल ऑफिसर डॉ. उबैद इम्तियाज उल हक और डॉ. मो. अजीमुद्दीन मलिक को पद से हटा दिया। नोटिस में कहा गया कि संबंधित दोनों डॉक्टर किसी भी तरह की अपनी ड्यूटी को आगे परफॉर्म न करें। दोनों चिकित्सकों ने हटाने पर आपत्ति जताते हुए वीसी को पत्र लिखा था। इंतजामिया ने पत्र का संज्ञान लेते हुए कहा था कि उनका टर्म खत्म हो चुका है। सीएमओ इंचार्ज की ओर से रिनुअल के लिए पत्र लिखा जाएगा तो विचार किया जाएगा। ऐसे में बुधवार सीएमओ इंचार्ज की ओर से दोनों को पुन: रखने का प्रस्ताव बनाकर भेजा गया था। गुरुवार को उच्चाधिकारियों ने इस पर निर्णय लेते हुए दोनों अधिकारियों को बहाल कर दिया।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Hathras case CBI gets many important clues from jail asks CCTV footage from medical college Longest interrogation of main accused Sandeep and lovekush