ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशरिश्वत न देने पर दरोगा ने युवक का कर दिया चालान, ऑडियो वायरल होने के बाद पुलिस प्रशासन में मचा हड़कंप

रिश्वत न देने पर दरोगा ने युवक का कर दिया चालान, ऑडियो वायरल होने के बाद पुलिस प्रशासन में मचा हड़कंप

हरदोई में एक दरोगा ने रिश्वत न मिलने पर युवक का चालान कर दिया। आरोप है कि दरोगा ने युवक को हिरासत में लेने के मामले में चालान चिट पर दीवान का नाम लिखकर उसके फर्ज़ी दस्तखत भी कर दिए।

रिश्वत न देने पर दरोगा ने युवक का कर दिया चालान, ऑडियो वायरल होने के बाद पुलिस प्रशासन में मचा हड़कंप
Pawan Kumar Sharmaहिन्दुस्तान,हरदोईWed, 24 Jan 2024 10:55 PM
ऐप पर पढ़ें

UP Police: यूपी पुलिस की कार्रवाई एक बार फिर सवाल के घेरे में है। नया मामला हरदोई जिले के पचदेवरा थाना क्षेत्र का है। जहां रिश्वत न मिलने पर चालान कर दिया। आरोप है की दरोगा ने युवक को हिरासत में लेने के मामले में चालान चिट पर दीवान का नाम लिखकर उसके फर्ज़ी दस्तखत भी कर दिए। इस मामले में एक आडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। हालांकि हिंदुस्तान इसकी पुष्टि नहीं करता है।

पचदेवरा थाने के बिल्सन हिलन गांव के भूरे उर्फ जयनेंद्र सिंह ने कोतवाल को शिकायती पत्र दिया। इसमें कहा है कि 11 जनवरी को मारपीट का केस दर्ज हुआ था। उसी मामले में दरोगा ने उससे 10 हज़ार रुपये की रिश्वत मांगी। कहा कि अगर पैसे नहीं देते हो तो उन्हें क्या करना है,वे अच्छी तरह से जानते हैं। भूरे उर्फ जयनेंद्र सिंह का कहना है कि 21 जनवरी को थाने ज़मानत कराने पहुंचा। वहां दरोगा ने उसके भाई रिंकू सिंह उर्फ पुष्पेंद्र सिंह का शांति भंग में चालान कर दिया। उसके चालान चिट पर एक दीवान का नाम और उसके दस्तखत कर दिए। जबकि दीवान ने बताया कि उसे पता ही नहीं कि कब और किसका चालान किया गया।

Video: रोता रहा बच्चा लेकिन नहीं पसीजा दिल, धरने पर बैठी महिला को दरोगा ने सड़क पर घसीटा 

गांव के प्रधान से फोन पर हो रही बातचीत में दीवान अपने दोनों बच्चों की कसम खा कर कह रहा है कि उसे कुछ भी नहीं पता। आरोप है कि दरोगा ने अपनी खुन्नस निकालने के लिए चालान पर उसका नाम लिखकर उसके फर्ज़ी दस्तखत भी कर दिए। इस मामले में बुधवार को 8 मिनट 21 सेकेंड का आडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। इससे पुलिस प्रशासन में हड़कंप मच गया। अब कोतवाल बालकृष्ण मिश्र ने मामले की जांच पड़ताल शुरू कर दी गई है। उन्होंने कहा है कि तथ्यों की जांच के बाद नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें