ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेशयूपी के 71 जिलों में जीएसटी की ताबड़तोड़ छापेमारी, 100 करोड़ की जीएसटी चोरी पकड़ी

यूपी के 71 जिलों में जीएसटी की ताबड़तोड़ छापेमारी, 100 करोड़ की जीएसटी चोरी पकड़ी

उत्तर प्रदेश के 71 जिलों में जीएसटी की ताबड़तोड़ छापेमारी हुई। माना जा रहा है कि इस अभियान में 100 करोड़ रुपये की टैक्स चोरी पकड़ी गई। राज्यकर विभाग की 248 टीमों ने 290 व्यापारिक स्थानों पर छापेमारी।

यूपी के 71 जिलों में जीएसटी की ताबड़तोड़ छापेमारी, 100 करोड़ की जीएसटी चोरी पकड़ी
Atul Guptaसंवाददाता,लखनऊMon, 05 Dec 2022 10:42 PM
ऐप पर पढ़ें

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर प्रदेश के 71 जिलों में राज्य कर विभाग के छापेमारी अभियान में 100 करोड़ रुपये की कर चोरी पकड़े जाने की संभावना है। राज्यकर विभाग की 248 टीमों ने 290 व्यापारिक स्थानों पर छापेमारी की गई। छापे के दौरान 50 करोड़ रुपये के माल समेत भारी मात्रा में कर चोरी संबंधी दास्तावेज जब्त किए गए हैं और व्यापारियों से 2.38 करोड़ रुपये अर्थदंड जमा कराया गया है।

राज्य कर आयुक्त मिनिस्ती एस के निर्देश पर इटावा, मैनपुरी, मुजफ्फरनगर और रामपुर को छोड़कर प्रदेश के 71 जिलों में कुछ दिनों तक यह अभियान चलाया जाना है। अभियान के पहले दिन सोमवार को एक साथ सभी जिलों में छापेमारी शुरू की गई। राज्य कर मुख्यालय को काफी समय से लगातार जानकारी मिल रही थी कि प्रदेश के विभिन्न जिलों में लकड़ी, फर्नीचर, स्क्रैप, परचून, घी, तेल, हार्डवेयर, बिल्डिंग मैटेरियल, आयरन, स्टील, मेंथा, होटल आदि का व्यवसाय करने वाले व्यापारियों द्वारा बड़े पैमाने पर फर्जी इन्वाइस जारी करके कर चोरी की जा रही है।

इसके आधार पर ऐसे व्यापारियों के रिटर्न आदि से संबंधित डेटा का विश्लेषण कराया गया तो पाया गया कि तमाम व्यापारियों द्वारा बड़े पैमाने पर कर की चोरी की जा रही है। इसी कड़ी में राज्य कर आयुक्त ने 248 टीमें बनाते हुए एक साथ छापेमारी करने की रणनीति तैयार की। इन टीमों ने विभिन्न तरह से वस्तुओं के व्यापारियों के प्रतिष्ठानों में सुबह से ही छापा मारने की कार्यवाही शुरू की। इस दौरान भारी संख्या में पुलिस बल की तैनाती की गई थी। सूत्रों का कहना है कि कर चोरी के खिलाफ यह अगले छह-सात दिनों तक चलेगा। 75 में 71 जिलों में एक साथ छापेमारी की कार्रवाई से व्यापारियों में हड़कंप मचा हुआ है।

जीएसटी की टीमों ने मारे एक साथ 14 फर्मों पर छापे

मथुरा में जीएसटी टीम ने एक साथ 14 फर्मों पर छापेमार की। इसके लिए तीन टीमें गठित कर उन्हें अलग-अलग क्षेत्र की जिम्मेदारियां सौंपी गई थी। यह छापामार कार्रवाई लगातार चलती रहेगी। इसके अलावा भी तीन दर्जनों फर्में विभाग के निशाने पर हैं।

तीन दर्जन फर्मों को किया टारगेट

वाणिज्य कर विभाग द्वारा पूर्व में कराई गई रेकी में जिले की करीब तीन दर्जन से ज्यादा फर्म और उनके संचालक टारगेट पर हैं। इन सभी फर्मों पर अभी भी लगातार छापेमार कार्रवाई चलती रहेगी। छापेमारी का यह अभियान लगातार एक सप्ताह तक चलता रहेगा। अभियान के साथ ही सभी का जीएसटी पंजीकरण भी सुनिश्चित किया जाएगा।

कन्नौज में इत्र कारोबारी के यहां जीएसटी छापे, खंगाले दस्तावेज

टैक्स चोरी की शिकायत पर जीएसटी की लोकल टीम ने कन्नौज शहर की दो इत्र फार्म में छापामारी की और घंटों दस्तावेज खंगाले। टीम कई जरूरी दस्तावेज अपने साथ ले गई। हालांकि अभी कोई कार्रवाई नहीं हुई है। टीम के अफसरों ने बताया कि दस्तावेजों की पड़ताल के बाद ही आगे की कार्रवाई होगी। 

सहारनपुर में 27 ठिकानों पर जीएसटी विभाग की छापेमारी

जीएसटी विभाग के एडिशनल कमिश्नर ग्रेड-1 के निर्देशन में सहारनपुर मंडल के 27 स्थानों पर छापेमारी की गई। अभी तक कार्रवाई से करोड़ों रुपये के टैक्स चोरी के संकेत मिल रहे हैं। इनमें रेस्टोरेंट, रेडीमेंट गारमेंट्स और हार्डवेयर आदि कारोबारी बड़ी संख्या में शामिल हैं। टैक्स चोरी का आंकड़ा कितना बड़ा हो सकता है, यह जांच के बाद ही पता चल सकेगा। वहीं मेरठ, बागपत और बड़ौत में वाणिज्य कर विभाग की नौ टीमों ने 40 से अधिक अपंजीकृत फर्मों के साथ टैक्स चोरी की आशंका वाली फर्मों पर छापेमारी की। देर शाम तक टीमें रिकॉर्ड की जांच-पड़ताल में जुटी थी। 

सोमवार को मंडलभर के 27 कारोबारियों के यहां जीएसटी एडिशनल कमिश्नर ग्रेड-1 एसपी सिंह के निर्देशन में जीएसटी टीम ने सहारनपुर सिटी के साथ गंगोह, देवबंद, सरसावा और कैराना तथा शामली में एक साथ छापेमारी की। सुबह 10 बजे की गई कार्रवाई से बाजारों में हड़कंप मच गया। दुकानदार अपनी फर्म के शटर डॉउन कर फरार हो गए। जीएसटी टीम का फोकस अधिकांश रेस्टोरेंट, रेडीमेंट गारमेंट्स, हार्डवेयर, चौखट-जंगले आदि के कारोबारियों पर रहा। अधिकारियों ने बताया अभी तक की छापेमारी से बड़ी टैक्स चोरी के संकेत मिले हैं। कितने टैक्स की चोरी की गई है जांच के बाद ही पता लग सकेगा। देर रात तक जीएसटी विभाग की कार्रवाई जारी थी।

कैराना ओर शामली में भी छापेमारी

जीएसटी विभाग ने मंडल के कैराना और शामली के 11 स्थानों पर छापेमारी की। कैराना व शामली में भी जीएसटी टीम ने रेस्टोरेंट, रेडीमेड गारमेंट्स, हेडवेयर आदि पर ही जांच का विशेष फोकस रखा।

मेरठ-बागपत में 40 फर्मों पर छापेमारी

सोमवार सुबह राज्य मुख्यालय से मिले निर्देशों के बाद एडिशनल कमिश्नर ग्रेड-1 महेंद्र प्रताप सिंह ने वाणिज्य कर एसआईबी टीमों के अधिकारियों, कर्मचारियों को बुलवाकर नौ टीमें बनाई। इन टीमों को मेरठ के अलावा बागपत और बड़ौत भेजा गया। मेरठ, बागपत और बड़ौत में 40 से अधिक फर्मों की जांच की गई। जांच टीम में शामिल अधिकारियों का कहना है कि यदि किसी फर्म में टैक्स चोरी का मामला पकड़ा जाएगा तो कार्रवाई की जाएगी। किसी फर्म में जांच में प्रथम दृष्टया टैक्स चोरी का मामला पकड़ में नहीं आया।